• Last Updates : 10:13 PM
 सभी आईसीपी पर आवासीय परिसर बनाए जाएंगे : राजनाथ

सभी आईसीपी पर आवासीय परिसर बनाए जाएंगे : राजनाथ

अटारी (पंजाब), 22 जनवरी (आईएएनएस)। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने यहां मंगलवार को कहा कि देश की अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं पर स्थित सभी एकीकृत जांच चौकियों (आईसीपी) पर सुरक्षा बलों के लिए आवासीय परिसर बनाए जाएंगे।

राजनाथ ने यह बात पंजाब के अमृतसर जिले में भारत-पाकिस्तान अंतर्राष्ट्रीय सीमा के पास अटारी में स्थित आईसीपी पर सुरक्षा बलों के लिए एक आवासीय परिसर की आधारशिला रखने के बाद कही।

उन्होंने संयुक्त जांच चौकी (जेसीपी) पर नवनिर्मित सुविधाओं का उद्घाटन भी किया।

राजनाथ ने कहा कि आईसीपी पर आधुनिक सुविधाओं के होने से न सिर्फ पड़ोसी देश के साथ व्यापार बढ़ेगा, बल्कि अन्य देशों के साथ भी इस मार्ग से व्यापार बढ़ जाएगा।

उन्होंने कहा, ये सुविधाएं स्थानीय लोगों को रोजगार भी मुहैया कराएंगी।

उन्होंने सुरक्षा बलों की भूमिका की प्रशंसा करते हुए कहा कि आईसीपी पर यह पहला आवासीय परिसर होगा और केंद्र सरकार ने इस तरह के आवासीय परिसर देश की सभी आईसीपी पर निर्मित करने का निर्णय लिया है।

गृहमंत्री ने आशा जाहिर की कि इस सुविधा से सुरक्षा कर्मियों का मनोबल बढ़ेगा।

उन्होंने जेसीपी अटारी पर दर्शक दीर्घा का भी उद्घाटन किया। वह रिट्रीट समारोह के साक्षी भी बने।

प्रारंभ में बीएसएफ के महानिदेशक रजनीकांत मिश्रा, बीएसएफ के महानिरीक्षक (पंजाब फ्रंटियर) महिपाल सिंह यादव और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने उनका स्वागत किया।

बाद मीडिया से बातचीत में राजनाथ ने कहा कि सरकार ने करतारपुर गलियारे के लिए गुरदासपुर जिले में भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

--आईएएनएस

10:05 PM
 ब्रेन ट्रेनिंग एप डिकोडर लांच, एकाग्रता में सहायक

ब्रेन ट्रेनिंग एप डिकोडर लांच, एकाग्रता में सहायक

लंदन, 22 जनवरी (आईएएनएस)। कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने एक खास ब्रेन ट्रेनिंग एप तैयार किया हैं, जो कनेक्टेड दुनिया में लोगों का दैनिक ध्यानभंग होने और एकाग्रता नहीं होने में सुधार करता है।

शोधकर्ताओं के दल ने इस ब्रेन ट्रेनिंग एप का नाम डिकोडर रखा हैं, जिसकी आइपैड पर एक महीने तक रोजाना आठ घंटों तक परीक्षण किया गया और इससे ध्यान और एकाग्रता में सुधार दर्ज किया गया।

कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय के बिहेविरल और क्लिनिकल न्यूरोसाइंस के शोधकर्ताओं का कहना है कि इस एप को इस्तेमाल करने से लोगों की एकाग्रता बढ़ जाएगी।

साइकियाट्री विभाग की प्रोफेसर बारबरा ने कहा, जब हम कार्यालय से घर लौटते है, तो हमें महसूस होता है कि हम दिन भर काफी व्यस्त रहे हैं, लेकिन हमें यह ध्यान नहीं रहता है कि हमने पूरे दिन क्या काम किया।

बिहेविरल न्यूरोसाइंस जर्नल में प्रकाशित इस शोध पत्र में उन्होंने कहा कि जटिल कार्यो के लिए हमें फ्लो और एकाग्रता की जरूरत होती है।

शोध के दौरान शोधकर्ताओं ने 75 स्वस्थ वयस्कों को तीन समूहों में बांटा, जिसमें से एक समूह को डिकोडर एप दिया गया, दूसरे समूह को बिंगो गेम खेलने के लिए दिया और तीसरे समूह को कोई भी गेम नहीं दिया गया।

सभी प्रतिभागियों को चार हफ्तों तक एक निश्चित समय तक गेम और एप का इस्तेमाल करने को कहा गया।

शोध के निष्कर्षो से पता चलता है कि जिन्होंने डिकोडर एप का इस्तेमाल उन्होंने बिंगो खेलनेवालों या फिर गेम नहीं खेलनेवालों की तुलना में बेहतर प्रदर्शन किया।

शोधकर्ताओं के दल ने कहा, प्रदर्शन में महत्वपूर्ण और सार्थक अंतर था, और इसका प्रभाव मेथाफेनिडेटी या निकोटीन जैसे स्टिमुलस का प्रयोग करने जितना ही प्रभावी था।

--आईएएनएस

10:13 PM
 समिति ने सिर मुंडवाने के मुद्दे पर कोच, मैनेजर से की बात

समिति ने सिर मुंडवाने के मुद्दे पर कोच, मैनेजर से की बात

कोलकाता, 22 जनवरी (आईएएनएस)। बंगाल हॉकी संघ (बीएचए) द्वार जूनियर टीम की हार के बाद टीम के खिलाड़ियों के सिर मुंडवाने के मुद्दे की जांच को लेकर गठित की गई तीन सदस्यीय समिति ने मंगलवार को टीम के कोच और मैनेजर से बात की और इस मामले पर उनका पक्ष जाना।

इस तीन सदस्यीय समिति में पूर्व ओलम्पिक खिलाड़ी गुरुबख्श सिंह, बीएचए परिषद के सदस्य जहांगीर खान और पूर्व हॉकी खिलाड़ी गोपीनाथ घोष शामिल हैं।

बीएचए सचिव स्वप्न बनर्जी ने बताया कि यह समिति अब खिलाड़ियों से मिलेगी और इस मामले पर 29 जनवरी को फैसला आने की उम्मीद है।

बनर्जी ने आईएएनएस से कहा, हमने टीम के कोच और मैनेजर से बात की। हमने उनका पक्ष सुना और अब हम खिलाड़ियों से बात करेंगे क्योंकि मसले का एक ही पक्ष नहीं हो सकता।

बंगाल की अंडर-19 टीम इंडिया जूनियर नेशनल चैम्पियनशिप (बी डिविजन) के क्वार्टर फाइनल में नामधारी से 1-5 से हार गई थी। आरोप है कि हार के बाद टीम के कोच आनंद कुमार ने खिलाड़ियों से सिर मुंडवाने को कहा था।

कुछ खिलाड़ियों ने कहा कि उन्होंने ऐसा सम्मान और निराशा में किया। जबकि कोच ने कहा कि उन्होंने खिलाड़ियों से कभी भी सिर मुंडाने को नहीं कहा था और जब इस बारे में उन्हें जानकारी हुई तो उन्होंने खिलाड़ियों को इससे रोकने की कोशिश भी की थी।

अंडर-19 टीम में कुल 18 खिलाड़ी हैं और ऐसी खबरें हैं कि दो खिलाड़ियों को छोड़कर सभी ने अपने सिर मुंडवा दिए हैं। इसमें से तकरीबन एक दर्जन खिलाड़ी साई के पूर्वी क्षेत्रीय केंद्र से हैं।

--आईएएनएस

10:04 PM
 पोम्पियो ने उत्तर कोरिया को लेकर दक्षिण कोरियाई, जापानी समकक्षों से चर्चा की

पोम्पियो ने उत्तर कोरिया को लेकर दक्षिण कोरियाई, जापानी समकक्षों से चर्चा की

वाशिंगटन, 22 जनवरी (आईएएनएस)। अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने अपने दक्षिण कोरियाई और जापानी समकक्षों के साथ टेलीफोन पर बातचीत की और वे सभी कोरियाई प्रायद्वीप का परमाणु निरस्त्रीकरण करने के उद्देश्य पर सहमत हुए।

पोम्पियो ने रविवार को अपने दक्षिण कोरियाई समकक्ष के साथ रविवार को फोन पर बात की और उत्तर कोरिया के संबंध में चर्चा की।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, विदेश विभाग के उप प्रवक्ता रॉबर्ट पालाडिनो ने सोमवार को एक बयान में कहा कि पोम्पियो और दक्षिण कोरिया की विदेश मंत्री कंग क्यूंग-व्हा ने उत्तर कोरिया के साथ संबंध में एक-दूसरे को अपडेट किया।

बयान के अनुसार, सियोल और वाशिंगटन के शीर्ष राजनयिकों ने अमेरिका और दक्षिण कोरिया के बीच मजबूत संबंधों के लिए अपनी प्रतिबद्धता भी दोहराई।

उत्तर कोरिया की सत्तारूढ़ कोरियन वर्कर्स पार्टी सेंट्रल कमिटी के उपाध्यक्ष किम योंग चोल की पिछले शुक्रवार को वाशिंगटन में पोम्पियो और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात के बाद दोनों राजनयिकों के बीच यह टेलीफोन वार्ता हुई है।

दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे-इन ने ट्रंप और उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग-उन के बीच होने वाली दूसरी बैठक से सोमवार को सकारात्मक परिणाम आने की उम्मीद जताई। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि दक्षिण कोरिया को कोरियाई प्रायद्वीप में परमाणु निरस्त्रीकरण को शांति से हल करने के लिए इस सुनहरे अवसर को हाथ से नहीं जाने देना चाहिए।

व्हाइट हाउस ने पिछले शुक्रवार को घोषणा की थी कि ट्रंप और किम के बीच दूसरी बैठक फरवरी के अंत में होगी।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने बताया कि सोमवार को विदेश विभाग द्वारा जारी एक बयान में कहा गया कि पोम्पियो ने रविवार को जापानी विदेश मंत्री तारो कोनो से भी बात की थी और उत्तर कोरिया के परमाणु निरस्त्रीकरण के प्रति प्रतिबद्धता दोहराई थी।

जापान की सरकार ने पिछले शनिवार को कहा कि वह अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच होने वाली दूसरी बैठक का स्वागत करती है।

--आईएएनएस

03:49 PM
 ब्रेन ट्रेनिंग एप डिकोडर लांच, एकाग्रता में सहायक

ब्रेन ट्रेनिंग एप डिकोडर लांच, एकाग्रता में सहायक

लंदन, 22 जनवरी (आईएएनएस)। कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने एक खास ब्रेन ट्रेनिंग एप तैयार किया हैं, जो कनेक्टेड दुनिया में लोगों का दैनिक ध्यानभंग होने और एकाग्रता नहीं होने में सुधार करता है।

शोधकर्ताओं के दल ने इस ब्रेन ट्रेनिंग एप का नाम डिकोडर रखा हैं, जिसकी आइपैड पर एक महीने तक रोजाना आठ घंटों तक परीक्षण किया गया और इससे ध्यान और एकाग्रता में सुधार दर्ज किया गया।

कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय के बिहेविरल और क्लिनिकल न्यूरोसाइंस के शोधकर्ताओं का कहना है कि इस एप को इस्तेमाल करने से लोगों की एकाग्रता बढ़ जाएगी।

साइकियाट्री विभाग की प्रोफेसर बारबरा ने कहा, जब हम कार्यालय से घर लौटते है, तो हमें महसूस होता है कि हम दिन भर काफी व्यस्त रहे हैं, लेकिन हमें यह ध्यान नहीं रहता है कि हमने पूरे दिन क्या काम किया।

बिहेविरल न्यूरोसाइंस जर्नल में प्रकाशित इस शोध पत्र में उन्होंने कहा कि जटिल कार्यो के लिए हमें फ्लो और एकाग्रता की जरूरत होती है।

शोध के दौरान शोधकर्ताओं ने 75 स्वस्थ वयस्कों को तीन समूहों में बांटा, जिसमें से एक समूह को डिकोडर एप दिया गया, दूसरे समूह को बिंगो गेम खेलने के लिए दिया और तीसरे समूह को कोई भी गेम नहीं दिया गया।

सभी प्रतिभागियों को चार हफ्तों तक एक निश्चित समय तक गेम और एप का इस्तेमाल करने को कहा गया।

शोध के निष्कर्षो से पता चलता है कि जिन्होंने डिकोडर एप का इस्तेमाल उन्होंने बिंगो खेलनेवालों या फिर गेम नहीं खेलनेवालों की तुलना में बेहतर प्रदर्शन किया।

शोधकर्ताओं के दल ने कहा, प्रदर्शन में महत्वपूर्ण और सार्थक अंतर था, और इसका प्रभाव मेथाफेनिडेटी या निकोटीन जैसे स्टिमुलस का प्रयोग करने जितना ही प्रभावी था।

--आईएएनएस

10:13 PM
Stock Exchange
Live Cricket Score

Create Account



Log In Your Account