• Last Updates : 01:07 PM
 सरकार के 4 साल पूरा होने पर मोदी ने कहा, भारत सबसे पहले

सरकार के 4 साल पूरा होने पर मोदी ने कहा, भारत सबसे पहले

नई दिल्ली, 26 मई (आईएएनएस)। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली सरकार ने चार साल पूरे कर लिए हैं। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि विकास एक जीवंत जनआंदोलन बन गया है और वह लोगों की सेवा करना जारी रखेंगे क्योंकि उनके लिए हमेशा से भारत सबसे पहले है।

मोदी ने कहा, 2014 में आज के दिन, हमने भारत के परिवर्तन की दिशा में काम करने का अपना सफर शुरू किया था।

मोदी ने 26 मई 2014 को प्रधानमंत्री पद की शपथ ली थी।

मोदी ने ट्वीट कर कहा, पिछले चार वर्षों में भारत के विकास की ओर उन्मुखता में हर नागरिक ेके खुद को इसमें शामिल होने से विकास एक जीवंत जनआंदोलन बन गया है, 125 करोड़ भारतीय भारत को नई ऊंचाईयों पर ले जा रहे हैं।

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लोगों का आभार जताते हुए कहा, हमारी सरकार में दृढ़ विश्वास रखने के लिए मैं अपने साथी नागरिकों को नमन करता हूं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि यह समर्थन और सहयोग उनकी सरकार के लिए प्रेरणा और ताकत का सबसे बड़ा स्रोत है और वह इसी उत्साह और समर्पण के साथ भारत की जनता की सेवा करना जारी रखेंगे।

मोदी ने जनता के हित में फैसले लेने के लिए अपनी सरकार की भी प्रशंसा की और कहा, हमारे लिए भारत सबसे पहले है।

उन्होंने कहा, हमने अच्छे इरादे व पूर्ण अखंडता के साथ भविष्य के लिए लाभदायक व जनता के हित में फैसले लिए हैं, जो नए भारत की नींव रख रहे हैं। साफ नीयत, साफ विकास।

--आईएएनएस

11:35 AM
 कैटालोनिया की आजादी अभियान को रूस का समर्थन नहीं : पुतिन

कैटालोनिया की आजादी अभियान को रूस का समर्थन नहीं : पुतिन

मॉस्को, 26 मई (आईएएनएस)। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने शुक्रवार को इस बात से इनकार किया कि उनका देश स्पेन के कैटालोनिया की आजादी को लेकर शुरू किए गए अभियान को समर्थन दे रहा है।

पुतिन ने कहा कि वह चाहते हैं कि स्पेन अपनी क्षेत्रीय अखंडता को बनाए रखे।

समाचार एजेंसी एफे ने पुतिन के हवाले से बताया, स्पेन के साथ हमारे अच्छे संबंध हैं, जिसे हम कायम रखना चाहते हैं और हम यह भी चाहते हैं कि स्पेन में हालात सामान्य हो और वह अपनी क्षेत्रीय अखंडता बनाए रखे।

उन्होंने कहा, सबको आत्मनिर्णय का अधिकार है, लेकिन साथ ही हम देशों और स्थापित सीमाओं की संप्रभुता के सम्मान और संरक्षण में विश्वास करते हैं।

पुतिन ने कहा, यह हमारा रुख है, और यह वह है जिसे हमने स्पेन सरकार को बताया है।

स्पेन द्वारा साइबर हमले में रूस का हाथ होने का आरोप लगाने के संदर्भ में पुतिन ने कहा कि यह बकवास बात है कि रूस का इसके पीछे कोई हाथ है।

उन्होंने कहा कि ब्रेक्सिट के बारे में भी यही कहा गया। हर बुरी चीज के लिए हमें जिम्मेदार बताया जाता है, लेकिन ये हर देश की अपनी आंतरिक मामला हैऔर हमारा इससे कोई लेना-देना नहीं है।

--आईएएनएस

12:57 PM
 फीफा विश्व कप के लिए रूस जाएंगे पेले

फीफा विश्व कप के लिए रूस जाएंगे पेले

रियो डि जेनेरो, 26 मई (आईएएनएस)। पिछले कुछ समय से स्वास्थ्य समस्याओं से जूझ रहे ब्राजील के महान फुटबाल खिलाड़ी पेले को चिकित्सकों ने फीफा विश्व कप के लिए रूस की यात्रा करने की अनुमति दे दी है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने ब्राजील के स्थानीय अखबार फोल्हा डी एस.पाउलो के हवाले से बताया कि 77 वर्षीय पेले की फिजीयोथेरेपी की गई। वह पीठ की समस्या से परेशान थे।

अखबार के अनुसार, वह अभी भी दर्द से जूझ रहे हैं लेकिन पिछले कुछ समय में उनमें काफी सुधार हुआ है।

फीफा विश्व कप के दौरान आयोजक चाहते हैं कि पेले विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित हों। वह विश्व कप के एजेंडे पर चर्चा करने के लिए अगले महीने अपने सलाहकारों से मिलेंगे।

पेले तीन बार विश्व कप का खिताब जीत चुके हैं और उन्होंने अपने करियर में 1,363 मैचों में कुल 1,281 गोल दागे हैं।

--आईएएनएस

12:13 PM
 रूस, चीन भागीदारी सर्वश्रेष्ठ स्तर पर : पुतिन

रूस, चीन भागीदारी सर्वश्रेष्ठ स्तर पर : पुतिन

मॉस्को, 26 मई (आईएएनएस)। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का कहना है कि रूस, चीन समग्र रणनीतिक साझेदारी इतिहास के सर्वश्रेष्ठ स्तर पर विकसित हो रही है और इसकी संभावना भी बहुत अच्छी है।

पुतिन ने शुक्रवार को सेंट पीर्ट्सबर्ग में एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन के दौरान सिन्हुआ के एक सवाल के जवाब में कहा, रूस, चीन संबंधों को दोबारा परिभाषित करने की जरूरत नहीं है। वास्तव में रूस और चीन ने अच्छे रणनीतिक संबंध स्थापित किए हैं।

पुतिन ने कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना (सीपीसी) के 19वें नेशनल कांग्रेस के बारे में बात करते हुए कहा कि उन्होंने दीर्घावधि में द्विपक्षीय संबंधों को बेहतर बनाने के लिए अनुकूल स्थितियां पैदा की हैं।

उन्होंने कहा, कांग्रेस के ताजा फैसलों ने हमारे संबंधों को और स्थाई बना दिया है, सिर्फ मध्यावधि के लिए ही नहीं बल्कि दीर्घावधि के लिए भी।

पुतिन ने कहा कि कोरियाई प्रायद्वीप के परमाणु निरस्त्रीकरण को आगे बढ़ाने के चीन के सक्रिय प्रयास और इससे संबंधित मुद्दों को सुलझाने में चीन की व्यापक भूमिका से प्रायद्वीप में स्थिति सुधरी है।

--आईएएनएस

11:42 AM
 भारत संभावित व्यापार तनाव से निपटने की बेहतर स्थिति में : संयुक्त राष्ट्र अर्थशास्त्री

भारत संभावित व्यापार तनाव से निपटने की बेहतर स्थिति में : संयुक्त राष्ट्र अर्थशास्त्री

संयुक्त राष्ट्र, 26 मई (आईएएनएस)। संयुक्त राष्ट्र के अर्थशास्त्री सेबेस्टियन वरगारा का कहना है कि भारत वैश्विक व्यापार से जुड़े तनाव से निपटने की अच्छी स्थिति में है और सही नीतियों के साथ आठ फीसदी से अधिक विकास दर हासिल कर सकता है और उस पर बना रह सकता है।

संयुक्त राष्ट्र के आर्थिक मामलों के अधिकारी सेबेस्टियन वरगारा ने आईएएनएस से साक्षात्कार के दौरान कहा, यदि निकट भविष्य में व्यापार तनाव की वजह से वैश्विक व्यापार नकारात्मक ढंग से प्रभावित होता है तो भारत इससे निपटने की अच्छी स्थिति में है।

यह पूछने पर कि यदि व्यापार युद्ध नियंत्रण से बाहर हो जाता है और वैश्विक विकास दर 1.8 फीसदी तक लुढ़क जाती है तो सबसे बुरी स्थिति क्या होगी, उन्होंने कहा, भारत यकीनन इससे प्रभावित होगा लेकिन भारतीय अर्थव्यवस्था के उत्पादनकारी ढांचे की वजह से यह प्रभाव इतना अधिक नहीं होगा।

संयुक्त राष्ट्र वैश्विक अर्थव्यवस्था जांच शाखा के प्रमुख डॉन होलैंड ने पिछले सप्ताह चेतावनी दी थी कि यदि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा व्यापार युद्ध शुरू किया जाएगा तो इसका असर बाकी देशों और सेक्टर पर पड़ेगा, जिससे अगले साल वैश्विक आर्थिक विकास दर 1.8 फीसदी तक लुढ़क सकती है।

उन्होंने आईएएनएस को बताया, भारत इन झटकों से आंशिक रूप से बचा हुआ है क्योंकि यह कारोबार के लिए उतना खुला हुआ नहीं है, जितना कि अन्य पूर्वी एशियाई देश।

संयुक्त राष्ट्र ने मौजूदा स्थितियों को ध्यान में रखते हुए अगले साल के लिए विकास दर का अनुमान 3.2 फीसदी रखा है।

वरगारा ने कहा कि भारत का सेवा क्षेत्र मध्यावधि में संरक्षणवादी रुख के प्रति संवेदनशील नहीं है।

उन्होंने कहा कि भारत का सेवा क्षेत्र निर्यात वैश्विक रूप से प्रतिस्पर्धी बना हुआ है और इसमें अपार संभावनाएं हैं।

उन्होंने कहा, भारत के लिए छोटी अवधि के तनावों के बावजूद सेवाओं के निर्यात के लिए मध्यावधि में संभावनाएं बेहतरीन हैं इसलिए भारत को इस प्रतिस्पर्धा से लाभ लेने की जरूरत है।

वरगारा ने कहा कि भारत में आर्थिक हालात सुधर रहे हैं। भारत में अगले साल विकास दर इस साल 7.5 फीसदी की तुलना में बढ़कर 7.6 फीसदी रहने का अनुमान है लेकिन यह इसकी क्षमता से कम ही ैहै।

उन्होंने कहा, भारतीय अर्थव्यवस्था कम से कम आठ फीसदी की तक बढ़ सकती है, सिर्फ एक या दो साल के लिए नहीं बल्कि 15 वर्षो के लिए।

उन्होंने कहा, भारत को यह विकास दर अपने लक्ष्य के तौर पर रखनी चाहिए तभी वह विकास के मामले में बड़ी छलांग लगा सकती है और मध्यावधि में वैश्विक आर्थिक विकास का वाहक बन सकती है।

उन्होंने कहा कि भारत की विकास दर बढ़ाने का मुख्य कदम नवाचार के जरिए उत्पादनकारी क्षमताओं में सुधार करना है।

उन्होंन कहा कि वित्तीय क्षेत्र में अगले सुधार विदेशी निवेश को बढ़ावा देना और विकास के लिए नए नीतियां और कार्यक्रमों को तैयार करना है।

उन्होंने कहा कि निवेश काफी लंबे समय से कमजोर रहा है और नए सुधारों और कदमों की वजह से इसमें जान फूंकने की जरूरत है।

वरगारा ने कहा, सरकार पिछले साल पहले ही कुछ नीतियों को पेश कर चुकी हैं, उदाहरण के तौर पर सार्वजनिक बैंकों का पुनर्मुद्रीकरण और ये नीतियां यकीनन सही दिशा में आगे बढ़ रही हैं।

--आईएएनएस

10:17 AM
Stock Exchange
Live Cricket Score

Create Account



Log In Your Account