• Last Updates : 09:33 PM
 बंगाल में दबाव, धमकी नहीं, सिर्फ प्यार है : ममता

बंगाल में दबाव, धमकी नहीं, सिर्फ प्यार है : ममता

कोलकाता, 16 जनवरी (आईएएनएस)। पश्चिम बंगाल को लेकर निवेशकों के मन में छवि सुधारने तथा पूंजी निवेश को लुभाने के लिए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को कहा कि राज्य के लोग अपने दिल को भारतीय और विदेशी उद्योगपतियों को समर्पित करेंगे, अगर वे राज्य में पूंजी निवेश करते हैं।

उन्होंने उद्योगपतियों को यह भी आश्वासन दिया कि राज्य में कोई दवाब, भेदभाव, और धमकी का माहौल नहीं है और बंगाल में उनके लिए केवल प्रेम और स्नेह है।

उन्होंने कहा, अगर आप बंगाल में निवेश करेंगे, तो राज्य आपको सबकुछ देगा। हम निवेश नहीं कर सकते, लेकिन अपना दिल और अपने आप को आपको समर्पित कर सकते हैं।

बनर्जी ने कहा, हम भारत और भारत की एकता से प्यार करते हैं। हम सहिष्णु हैं। आपको बंगाल में निवेश करना चाहिए। यह राज्य पूरी दुनिया से निवेश आकर्षित कर रहा है, जैसा पहले कभी नहीं था। यहां कोई दवाब, भेदभाव या धमकी नहीं है.. यहां केवल स्नेह, प्रेम और आकर्षण है।

बंगाल व्यापार सम्मेलन में कई जानेमाने उद्योगपतियों ने भाग लिया, जिसमें आर्सेलर मित्तल के एल. एन. मित्तल, जेएसडब्ल्यू स्टील के सज्जन जिंदल, फ्यूचर समूह के किशोर बियानी, कोटक समूह के प्रमुख उदय कोटक और आरपी-संजीव गोयनका समूह के अध्यक्ष संजीव गोयनका प्रमुख थे।

इसके अलावा सम्मेलन में क्रेज रिपब्लिक, फ्रांस, जर्मनी, पोलैंड, इटली, जापान, चीन, दक्षिण कोरिया, ब्रिटेन और संयुक्त अरब अमीरात के प्रतिनिधि भी शामिल हुए।

--आईएएनएस

09:33 PM
 अमेरिका पाकिस्तान को यकीन दिला रहा कि भारत खतरा नहीं : मंत्री

अमेरिका पाकिस्तान को यकीन दिला रहा कि भारत खतरा नहीं : मंत्री

इस्लामाबाद, 16 जनवरी (आईएएनएस)। पाकिस्तानी रक्षामंत्री खुर्रम दस्तगीर खान ने कहा है कि अमेरिका पाकिस्तान को यह यकीन दिलाने की कोशिश कर रहा है कि भारत खतरा नहीं है और पाकिस्तान को अपने पड़ोसी के साथ अपने रणनीतिक रुख में बदलाव करना चाहिए।

डॉन ने मंगलवार को दस्तगीर खान के हवाले से कहा, लेकिन सच्चाई तो सच्चाई है। भारत की क्षमता व मंशा दोनों आज पाकिस्तान के प्रति शत्रुतापूर्ण है।

मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान को बलि का बकरा बनाया जा रहा है, क्योंकि अमेरिका अफगानिस्तान में जीत नहीं रहा है।

उन्होंने कहा कि नियंत्रण रेखा (एलओसी) व सीमा पर भारत के आक्रामक रुख को अमेरिका वास्तविकता से कम आंक रहा है।

उन्होंने सभी तरह की गलतफहमी को दूर करने के लिए अमेरिका से स्पष्ट रूप से वार्ता की मांग की।

दस्तगीर खान ने कहा, यह समय अमेरिका व पाकिस्तान के साथ शिष्ट व स्पष्ट रूप से सभी चीजों पर वार्ता का है।

उन्होंने आरोप लगाया कि भारत ने पाकिस्तान से लगी सीमा पर सामग्री व सेना जमा कर रखा है।

उन्होंने कहा कि भारत आज तेजी से युद्ध करने वाला पड़ोसी है।

उन्होंने 2017 को एलओसी उल्लंघन में व नागरिकों की हत्याओं को लेकर सबसे घातक साल बताया।

मंत्री ने कहा, मौजूदा भारत सरकार द्वारा लगातार शत्रुतापूर्ण व पाकिस्तान विरोधी रुख से शांति के समर्थन के लिए जगह काफी कम हो गई है।

दस्तगीर खान ने कहा कि भारत सरकार ने पाकिस्तान की निंदा तेज कर दी है।

नेशन डॉट कॉम पीके ने मंत्री के हवाले से कहा, कुलभूषण जाधव का मामला दूसरे देशों में अशांति पैदा करने के प्रयास का प्रमाण है।

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान एक जिम्मेदार परमाणु देश है और यह अपनी व्यापक बचाव की नीति जारी रखेगा।

--आईएएनएस

08:25 PM
 बार्सिलोना के चोटिल डेम्ब्ले 4 सप्ताह के लिए बाहर हुए

बार्सिलोना के चोटिल डेम्ब्ले 4 सप्ताह के लिए बाहर हुए

बार्सिलोना, 16 जनवरी (आईएएनएस)। बार्सिलोना क्लब के फ्रांसीसी फारवर्ड ऑसमाने डेम्ब्ले चोटिल होने के कारण तीन से चार सप्ताह के लिए फुटबाल जगत से बाहर हो गए हैं।

बार्सिलोना ने कहा कि मांस-पेशियों में खिंचाव की समस्या के कारण डेम्ब्ले बाहर हुए हैं।

समाचार एजेंसी एफे की रिपोर्ट के अनुसार, समर ट्रांसफर विंडो के जरिए बार्सिलोना में शामिल होने के बाद से डेम्ब्ले दूसरी बार चोटिल हुए हैं।

क्लब ने एक बयान में कहा, डेम्ब्ले को उनकी बांयी जांघ में दर्द की समस्या हो रही थी और जांच से इस बात की पुष्टि हुई है कि उन्हें मांस-पेशियों में खिंचाव की समस्या है।

--आईएएनएस

09:32 PM
 अमेरिका पाकिस्तान को यकीन दिला रहा कि भारत खतरा नहीं : मंत्री

अमेरिका पाकिस्तान को यकीन दिला रहा कि भारत खतरा नहीं : मंत्री

इस्लामाबाद, 16 जनवरी (आईएएनएस)। पाकिस्तानी रक्षामंत्री खुर्रम दस्तगीर खान ने कहा है कि अमेरिका पाकिस्तान को यह यकीन दिलाने की कोशिश कर रहा है कि भारत खतरा नहीं है और पाकिस्तान को अपने पड़ोसी के साथ अपने रणनीतिक रुख में बदलाव करना चाहिए।

डॉन ने मंगलवार को दस्तगीर खान के हवाले से कहा, लेकिन सच्चाई तो सच्चाई है। भारत की क्षमता व मंशा दोनों आज पाकिस्तान के प्रति शत्रुतापूर्ण है।

मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान को बलि का बकरा बनाया जा रहा है, क्योंकि अमेरिका अफगानिस्तान में जीत नहीं रहा है।

उन्होंने कहा कि नियंत्रण रेखा (एलओसी) व सीमा पर भारत के आक्रामक रुख को अमेरिका वास्तविकता से कम आंक रहा है।

उन्होंने सभी तरह की गलतफहमी को दूर करने के लिए अमेरिका से स्पष्ट रूप से वार्ता की मांग की।

दस्तगीर खान ने कहा, यह समय अमेरिका व पाकिस्तान के साथ शिष्ट व स्पष्ट रूप से सभी चीजों पर वार्ता का है।

उन्होंने आरोप लगाया कि भारत ने पाकिस्तान से लगी सीमा पर सामग्री व सेना जमा कर रखा है।

उन्होंने कहा कि भारत आज तेजी से युद्ध करने वाला पड़ोसी है।

उन्होंने 2017 को एलओसी उल्लंघन में व नागरिकों की हत्याओं को लेकर सबसे घातक साल बताया।

मंत्री ने कहा, मौजूदा भारत सरकार द्वारा लगातार शत्रुतापूर्ण व पाकिस्तान विरोधी रुख से शांति के समर्थन के लिए जगह काफी कम हो गई है।

दस्तगीर खान ने कहा कि भारत सरकार ने पाकिस्तान की निंदा तेज कर दी है।

नेशन डॉट कॉम पीके ने मंत्री के हवाले से कहा, कुलभूषण जाधव का मामला दूसरे देशों में अशांति पैदा करने के प्रयास का प्रमाण है।

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान एक जिम्मेदार परमाणु देश है और यह अपनी व्यापक बचाव की नीति जारी रखेगा।

--आईएएनएस

08:25 PM
 रिलायंस निप्पन लाइफ एस्सेट देगी 5 फीसदी अंतरिम लाभांश

रिलायंस निप्पन लाइफ एस्सेट देगी 5 फीसदी अंतरिम लाभांश

मुंबई, 16 जनवरी (आईएएनएस)। रिलायंस निप्पन लाइफ एस्सेट मैनेजमेंट लि. ने मंगलवार को बताया कि चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में कंपनी को 130 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है और कंपनी ने शेयरधारकों को पांच रुपये प्रति शेयर लाभांश जारी करने घोषणा की है।

यहां जारी बयान में रिलांयस म्यूचुअल फंड की संपत्ति का प्रबंधन करने वाली कंपनी ने कहा है कि 31 दिसंबर, 2017 को समाप्त तिमाही में कंपनी ने 130 करोड़ रुपये का मुनाफा दर्ज किया है, जो सालाना आधार पर 25 फीसदी की बढ़ोतरी है।

समीक्षाधीन अवधि में कंपनी का राजस्व 470 करोड़ रुपये रहा, जोकि साल-दर-साल आधार पर 31 फीसदी की बढ़ोतरी है।

कंपनी के निदेशक मंडल ने पांच रुपये प्रति शेयर लाभांश जारी करने की घोषणा की है।

कंपनी के कार्यकारी निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी संदीप सिक्का के हवाले से बयान में कहा गया है, हम लाभप्रद विकास की तरफ ध्यान जारी रखेंगे और भारत आ रहे खुदरा निवेशकों और विदेशी निवेशकों से पूंजी बाजार में सबसे अधिक हिस्सा प्राप्त करेंगे।

2017 के 31 दिसंबर तक कंपनी के प्रबंधन में 3,87,871 करोड़ रुपये की परिसंपत्तियां थीं।

--आईएएनएस

09:33 PM
Stock Exchange
Live Cricket Score

Create Account



Log In Your Account