• Last Updates : 01:27 PM

पाकिस्तान में मानसिक रूप से बीमार दोषी को 18 जून को दी जाएगी फांसी

इस्लामाबाद, 16 जून (आईएएनएस)। पाकिस्तान की एक अदालत ने मानसिक रूप से बीमार एक दोषी को 18 जून को फांसी देने का आदेश दिया है।

एक मानवाधिकार कानून कंपनी ने यह जानकारी दी है।

डॉन न्यूज के अनुसार, शनिवार को जारी एक बयान में जस्टिस प्रोजेक्ट पाकिस्तान (जेपीपी) ने सरकार से 36 वर्षीय गुलाम अब्बास की फांसी पर रोक लगाने और मामले पर पुनर्विचार करने का आग्रह किया है।

2004 में एक पड़ोसी को चाकू मारने के आरोप में अब्बास को 31 मई 2006 को जिला एवं सत्र अदालत ने मौत की सजा सुनाई थी।

मौत की सजा पाने वाला अब्बास 13 साल से अधिक समय जेल में बिता चुका है।

अब्बास के लिए एक नई दया याचिका दायर की गई थी जिसमें राष्ट्रपति आरिफ अल्वी से उसकी फांसी की सजा पर रोक लगाने का अनुरोध किया गया था।

जेपीपी ने शनिवार को एक बयान में कहा, अब्बास की फांसी पर जरूर रोक लगाई जानी चाहिए और व्यापक जांच के लिए उसे मानसिक स्वास्थ्य केंद्र में भेजा जाना चाहिए।

इस बीच, मनोचिकित्सक मलिक हुसैन मुब्बशर, जिन्हें सुप्रीम कोर्ट ने मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ के रूप में इस मामले में सहायता करने के लिए नियुक्त किया है, उन्होंने कहा, मेडिकल परीक्षण के रिकॉर्ड से पता चला है कि जेल प्रशासन ने इलाज के लिए उसे तेज एंटी-साइकोटिक दवाईयां दी हैं।

मुब्बशर ने कहा कि अब्बास की मानसिक बीमारी अनुवांशिक है क्योंकि उसका पारिवारिक इतिहास मानसिक बीमारी का रहा है।

--आईएएनएस

11:02 AM

मोगादिशु में विस्फोटों में 10 मरे, कई घायल

मोगादिशु, 16 जून (आईएएनएस)। सोमालिया की राजधानी मोगादिशु में दो कार बम विस्फोटों में कम से कम 10 लोग मारे गए जबकि 26 अन्य घायल हो गए।

सिन्हुआ के मुताबिक, पुलिस आयुक्त बशीर आब्दी मोहम्मद ने शनिवार को पत्रकारों को बताया, सैईदका जंक्शन के पास बम विस्फोट के बाद नौ लोग मारे गए और 25 अन्य घायल हो गए।

पुलिस प्रमुख ने कहा कि केएम4 जंक्शन के पास दूसरा कार बम विस्फोट हुआ और हमलावर की मौत हो गई। उन्होंने कहा कि सुरक्षा बलों ने उसके एक घायल साथी को गिरफ्तार किया है।

यह विस्फोट तब हुआ जब पुलिस ने आतंकवादियों द्वारा संभावित हमलों को रोकने के लिए शहर की मुख्य सड़कों को अवरुद्ध कर राजधानी की सुरक्षा कड़ी कर दी।

अल-कायदा संबद्ध समूह अल-शबाब ने हमले को अंजाम देने का दावा किया है।

--आईएएनएस

09:02 AM

गुरुग्राम में स्पेन की युवती से दुष्कर्म, आरोपी गिरफ्तार

गुरुग्राम, 15 जून (आईएएनएस)। गुरुग्राम के डीएलएफ फेस-1 मुहल्ले में स्पेन की 23 वर्षीय एक युवती के साथ उसके फेसबुक मित्र ने कथित तौर पर दुष्कर्म किया।

पुलिस ने शनिवार को कहा कि पीड़िता कुछ सप्ताह पूर्व स्पेन से एक बहुराष्ट्रीय कंपनी में इंटर्नशिप के लिए गुरुग्राम आई थी। वह किराये पर एक घर ढूंढ़ रही थी और उसने इसके बारे में फेसबुक पर एक पोस्ट साझा किया था।

गुरुग्राम पुलिस के पीआरओ, सुभाष बोकन ने कहा कि दिल्ली निवासी अजन्य नाथ ने उससे संपर्क किया और किराये का फ्लैट दिलाने में मदद करने की पेशकश की। आरोपी ने उससे दोस्ती कर ली और उसे 14 जून को डीएलएफ फेस-1 के एक फ्लैट में एक डिनर पार्टी पर आमंत्रित किया।

नाथ ने फ्लैट में युवती के साथ दुर्व्यवहार किया और उसके बाद उससे दुष्कर्म किया। पीड़िता बाद में किसी तरह सेक्टर 10 स्थित गुरुग्राम के सिविल अस्पताल पहुंची। चिकित्साकर्मियों ने घटना के बारे में डीएलएफ फेस-1 पुलिस थाने को सूचित किया।

पुलिस के एक दल ने पीड़िता के फेसबुक और मोबाइल फोन की छानबीन की और आरोपी के नाम और पते सहित कुछ महत्वपूर्ण सुराग हाथ लगे। उसके बाद आरोपी के घर पर छापा मारा गया और उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

बोकन ने कहा, आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 376 और आपराधिक साजिश के तहत मामला दर्ज किया गया है। उसे रविवार को अदालत में पेश किया जाएगा।

--आईएएनएस

10:36 PM

छात्रवृत्ति घोटाला : कैसे अधिकारियों, बैंकरों ने गरीब छात्रों को धोखा दिया

नई दिल्ली, 15 जून (आईएएनएस)। करोड़ों रुपये के छात्रवृत्ति घोटाले के संबंध में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की शुरुआती जांच से सरकारी अधिकारियों, निजी संस्थानों और सार्वजनिक सेक्टर के बैंकों के बीच गरीब छात्रों के लिए जारी फंड खा जाने के मामले में गहरे गठजोड़ का पता चला है। इस वजह से अनुसूचित जाति और अल्पसंख्यक वर्ग के छात्र भी बेसिक शिक्षा के लिए मिलने वाली छात्रवृत्ति से महरूम रहे हैं।

सीबीआई के सूत्रों ने आईएएनएस से खुलासा किया कि गरीबी रेखा से नीचे (बीपीएल) परिवारों के लिए छात्रवृत्ति फंड में घोटाले के तार हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और पंजाब तक फैले हुए हैं।

हालांकि सीबीआई की शिमला शाखा द्वारा क्षेत्र में जांच की संभावना सीमित है। सूत्रों ने कहा कि घोटाला बड़े पैमाने पर हुआ है और इसी तरह की शिकायत उत्तराखंड, उत्तरप्रदेश और देश के अन्य भागों से मिली है।

सीबीआई के उच्च पदस्थ सूत्र ने कहा, गरीब और एससी/एसटी छात्रों के हित में, अगर अन्य राज्य इसकी हमसे जांच कराने की अनुशंसा करेंगे तो एजेंसी ऐसे कई मामलों की जांच कर सकता है।

एजेंसी ने खुलासा किया कि लवली प्रोफेशनल विश्वविद्यालय और कर्नाटक विश्वविद्यालय ने हिमाचल प्रदेश जैसे अन्य राज्यों में अपने केंद्र स्थापित किए हैं, जहां एससी/एसटी और बीपीएल छात्रों के दस्तावेज ले लिए जाते हैं लेकिन दाखिला नहीं दिया जाता है। बाद में शिक्षा विभाग और बैंक के अधिकारियों की मिलीभगत से, सरकार द्वारा प्रमाणित वास्तविक दस्तवाजों और पतों के आधार पर फर्जी बैंक खाते खुलवाए जाते हैं।

उदाहरण के लिए, हिमाचल के कांगड़ा के देहड़ी गांव के करीब 250 छात्रों ने इन केंद्रों पर दाखिले के लिए आवेदन किया। इन संस्थानों ने छात्रों से दस्तावेज ले लिए लेकिन उन्हें दाखिला नहीं दिया।

उसी प्रकार, छात्रों द्वारा दाखिल किए गए दस्तावेजों के आधार पर स्टेट बैंक ऑफ इंडिया और इलाहबाद बैंक में बड़ी संख्या में फर्जी खाते खोले गए हैं और बैंक अधिकारी खाताधारकों के खाते का सत्यापन न कर इन घोटालेबाजों को छात्रवृत्ति का पैसा गटक जाने का मौका देते हैं।

गत माह, सीबीआई ने प्री व पोस्ट-मैट्रिक छात्रवृत्ति से संबंधित 250 करोड़ रुपये के घोटाले के संबंध में उत्तरी भारत में कई ठिकानों पर छापे मारे थे। सीबीआई अधिकारियों ने पंजाब, हिमाचल प्रदेश, चंडीगढ़ और हरियाणा के 22 शैक्षणिक संस्थानों पर छापे मारे थे।

सीबीआई के अलावा, उत्तराखंड और उत्तरप्रदेश पुलिस भी छात्रवृत्ति घोटाले की जांच कर रही है, जहां शिक्षा विभाग और निजी संस्थान के अधिकारी के हाथ भी इन घोटाले से रंगे नजर आए। उत्तर प्रदेश में अल्पसंख्यक विभाग से संबंधित घोटाले में गरीब मुस्लिम छात्रों की छात्रवृत्ति भ्रष्ट अधिकारी धोखाधड़ी कर डकार गए।

--आईएएनएस

08:53 PM

लखनऊ में यातायात नियम तोड़ने पर 1 दिन में 305 पुलिसकर्मी नपे

लखनऊ, 15 जून (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ की पुलिस के लिए शुक्रवार का दिन शर्मसार करने वाला रहा। दिनभर चलाए गए अभियान में यातायात नियमों का उल्लंघन करने पर 305 पुलिसकर्मियों के खिलाफ मामले दर्ज किए गए। खास बात यह कि इनमें 155 यातायात पुलिस से थे।

इनमें से अधिकांश पुरुष एवं महिला पुलिसकर्मी कांस्टेबल और उपनिरीक्षक रैंक के थे, और सभी के खिलाफ कार्रवाई बगैर हेलमेट के दोपहिया वाहन चलाने के लिए की गई। दिनभर चले इस अभियान में अतिरिक्त 3,117 मोटरवाहन चालकों और बाइक सवारों को दंडित किया गया।

लखनऊ के एसएसपी कलानिधि नैथानी ने कहा, पुलिसकर्मियों को उदाहरण पेश करना चाहिए। इसलिए हमने पुलिस लाइन में भी इस अभियान को चलाने का निर्णय लिया, जहां कई बगैर हेलमेट के पकड़े गए। हम यह सुनिश्चित करने जा रहे हैं कि पुलिसकर्मियों को इसलिए नहीं छोड़ा जाएगा कि वे पुलिस हैं।

नैथानी ने कहा कि यह अभियान सिर्फ एक दिन का नहीं है, बल्कि अभी जारी रहेगा।

इस अभियान के जरिए पहले ही दिन बतौर जुर्माना 1.38 लाख रुपये वसूले गए।

एएसपी (यातायात) पूर्णेदु सिंह ने कहा, पहले कुछ दिनों के दौरान हम बगैर हेलमेट के दोपहिया चलाने वालों पर ध्यान केंद्रित करेंगे। उसके बाद बगैर सीट बेल्ट के मोटरवाहन चलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

उन्होंने कहा कि 574 उन वाहनों की पहचान की गई है, जिनके चालकों ने यातायात नियमों का चार बार या इससे अधिक बार उल्लंघन किया है।

एएसपी ने कहा, हमने ऐसे वाहनों के पंजीकरण निलंबित करने की प्रक्रिया शुरू की है।

सिंह ने कहा कि उन्होंने शहर के खास इलाकों की पहचान की है, जहां लोगों को बगैर हेलमेट के प्रवेश की इजाजत नहीं होगी। बहुस्तरीय पार्किं ग लाट में भी बगैर हेलमेट वाले बाइकर्स को प्रवेश की अनुमति नहीं होगी।

--आईएएनएस

06:11 PM

श्रीनगर के उपमहापौर, बैंक और सरकारी अधिकारियों के खिलाफ प्राथमिकी

श्रीनगर, 15 जून (आईएएनएस)। जम्मू एवं कश्मीर के भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने उपमहापौर शेख इमरान की कंपनी केहवा समूह को अवैध रूप से लाभ पहुंचाने के लिए करोड़ों रुपये की सब्सिडी का गबन करने के मामले में शनिवार को उपमहापौर, जम्मू एवं कश्मीर बैंक के अधिकारियों और सरकारी अधिकारियों के खिलाफ एक एफआईआर दर्ज की।

शेख इमरान श्रीनगर नगर निगम के उपमहापौर हैं।

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने एक बयान में कहा, भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत एफआईआर संख्या 3/2019 एसीबी पुलिस थाना अनंतनाग में दर्ज किया गया है।

मेसर्स केहवा स्क्वेयर प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक शेख इमरान, जेएंडके बैंक के अधिकारी और अन्य सरकारी अधिकारियों के खिलाफ पुलवामा के लस्सीपोरा में कोल्ड स्टोरेज की स्थापना के लिए बदली गई परियोजना लागत के साथ सब्सिडी के अवैध विनियोग को लेकर मामला दर्ज किया गया है।

बयान में कहा गया है कि मेसर्स केहवा स्क्वेयर प्राइवेट लिमिटेड ने जम्मू एवं कश्मीर बैंक के अधिकारियों और कुछ राज्य सरकार के अधिकारियों के साथ मिलकर 16.50 करोड़ रुपये की सरकारी सब्सिडी का गबन करने और विभिन्न लेन-देन के लिए कोल्ड स्टोरेज स्थापित करने की परियोजना लागत को बढ़ाई।

एसीबी के अधिकारी ने कहा, समूह को जम्मू एवं कश्मीर बैंक के साथ 138 करोड़ रुपये का ऋण मिला और 78 करोड़ रुपये का पुनर्गठन किया गया। बैंक अधिकारियों द्वारा एकमुश्त निपटान (ओटीएस) के बाद सरसरी तौर पर सहमति के बाद, समूह की 55 करोड़ रुपये की दूसरी किश्त को घटाकर 27 करोड़ रुपये कर दी गई। इसके बाद उसने बैंक से और रियायतें मांगी।

उन्होंने कहा, संलिप्त बैंक अधिकारियों और सरकारी अधिकारियों के एक संयुक्त निरीक्षण दल ने केहवा समूह को अनुचित मौद्रिक लाभ प्रदान करने के लिए अपने पद का दुरुपयोग किया और सरकारी खजाने से समूह की अवैध रूप से उचित करोड़ों रुपये की मदद की।

--आईएएनएस

05:22 PM

एएन-32 हादसा : शवों को ढूंढने में खराब मौसम बाधक

इटानगर, 15 जून (आईएएनएस)। क्षेत्र में खराब मौसम की वजह से 3 जून को विमान एएन-32 के दुर्घटनाग्रस्त होने में मारे गए 13 लोगों में से आखिरी छह के शव निकालने के अभियान में बाधा उत्पन्न हो रही है। भारतीय वायुसेना (आईएएफ) ने शनिवार को यह जानकारी दी।

विमान के मलबे से गुरुवार को सात शवों को ढूंढ निकाला गया था।

आईएएफ ने बताया कि चीता और एएलएच हेलीकॉप्टर को स्टैंड-बाई मोड में रखा गया है, ताकि जैसे ही मौसम में सुधार आए, ऑपरेशन को दोबारा शुरू किया जा सके।

विंग कमांडर पुनीत चड्ढा ने बयान दिया, वर्तमान में क्षेत्र में बारिश के साथ हल्के बादल छाए हैं। आईएएफ अपना हरसंभव प्रयास कर रहा है कि वायु-योद्धाओं के शव को ढूंढा जा सके। आईएएफ कार्मिक लगातार उन योद्धाओं के परिजनों से जुड़े हुए हैं और उन्हें परिस्थिति से भी अवगत कराया जा रहा है। उन्हें मौसम की वजह से हो रही परेशानियों के बारे में भी बताया जा रहा है।

शुक्रवार को खोजी दल ने अरुणाचल प्रदेश में क्षतिग्रस्त हुए एयरक्राफ्ट का कॉकपिट वॉयस रिकॉर्डर (सीवीआर) और फ्लाइट डाटा रिकॉर्डर (एफडीआर) बरामद किया था।

वायुसेना और थलसेना के 16 पर्वतारोहियों का एक दल व पांच आम पर्वतारोही लगभग 12,000 फीट की ऊंचाई पर स्थित पश्चिम सियांग जिले के तातो के उत्तर में लिपो से करीब 16 किलोमीटर दूर दुर्घटनास्थल की तलाशी ले रहे हैं।

3 जून को एएन-32 ने जोरहाट एयरबेस से चीन की सीमा से सटे अरुणाचल के शि-योमी जिले में मेचुका एडवांस्ड लैंडिंग ग्राउंड के लिए उड़ान भरी थी, लेकिन 35 मिनट के भीतर ही उनका ग्राउंड एजेंसियों से संपर्क टूट गया।

एयरक्राफ्ट के गायब होने के बाद आईएएफ शिलांग के ईस्टर्न एयर कमांड मुख्यालय के मार्गदर्शन में व्यापक तलाशी अभियान चला रहा है।

--आईएएनएस

05:06 PM

रेल टिकट घोटाला : दलालों को दबोचने के बाद अब विभागीय कर्मियों की भूमिका की जांच

नई दिल्ली, 15 जून (आईएएनएस)। रेलवे टिकट एजेंटों और दलालों पर अपनी सबसे बड़ी कार्रवाई करने के बाद रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) की विशेष जांच शाखा (एसआईबी) अब इस गिरोह में शामिल विभागीय कर्मियों की भूमिका की जांच कर रही है। यह गोरखधंधा करोड़ो रुपयों का है।

आरपीएफ ने रेलवे के वित्तीय विभाग से ई-टिकटों के रियल-टाइम की जानकारी मांगी है। हालांकि खुफिया एजेंसी को यह महत्वपूर्ण जानकारी अभी मिली नहीं है।

सूत्रों ने कहा कि जब देशभर में विभिन्न टिकेट एजेंटों के ई-टिकट की बुकिंग और भुगतान के माध्यमों से संबंधित जानकारी मिल जाएगी तो देशभर में फैले तत्काल टिकट रैकेट की साफ तस्वीर उभरकर आएगी।

विभाग के लोगों के या चतुर्थ-श्रेणी कर्मियों के इसमें शामिल होने के सवाल पर आरपीएफ के निदेश अरुण कुमार ने कहा, यह जांच का विषय है। मैं फिलहाल कोई जानकारी साझा नहीं कर सकता।

सूत्रों ने कहा कि रेल मंत्री पीयूष गोयल ने टिकेट घोटाले में आरपीएफ की जांच ऑपरेशन थंडर की प्रशंसा की है और गिरोह में किसी भी विभागीय कर्मी की संलिप्तता की स्थिति में कार्रवाई शुरू करने की मंजूरी दे दी है।

तत्काल सेवा और ई-टिकटिंग की बुकिंग के संबंध में आरपीएफ ने 205 शहरों और कस्बों में छापामारी कर लगभग 405 दलालों पर शिकंजा कसा। जांच में पाया गया कि तत्काल सेवा के अंतर्गत ई-टिकटिंग को धोखाधड़ी से बुक करने के लिए ज्यादातर टिकट एजेंट और दलाल विशेष सॉफ्टवेयर का उपयोग करते हैं।

ये टिकट बाद में यात्रियों को ऊंची कीमतों पर बेची जाती हैं। आरपीएफ और इसकी खुफिया इकाई टिकट घोटाले के संबंध में पिछले कुछ महीनों से सबूत इकट्ठे कर रहे थे।

आरपीएफ के एक सूत्र ने कहा कि राजस्थान के कोटा से एक सॉफ्टवेयर एएनएमएस/रेड मिर्ची बरामद किया गया, जिसका उपयोग आईआरसीटीसी की तत्काल सेवा को हैक करने के लिए किया जा रहा था। अब इसे सुधार दिया गया है।

आरपीएफ के एक अधिकारी के अनुसार, जिन 387 यूजर आईडीज से लगातार ये टिकट बुक किए गए थे, उन्हें काली सूची में डाल दिया गया है और टिकटों को रद्द कर दिया गया है। आरपीएफ ने दलालों पर दवाब बढ़ाने के लिए सभी जोनल रेलवेज को उनके क्षेत्रों में ऐसी छापामारी जारी रखने के भी निर्देश दिए हैं।

--आईएएनएस

12:21 PM

बंगाल : मुर्शीदाबाद में तृणमूल के 3 कार्यकर्ताओं की हत्या

कोलकाता, 15 जून (आईएएनएस)। पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले में शनिवार को तृणमूल कांग्रेस के तीन कार्यकर्ताओं की कथित रूप से गोली मारकर हत्या कर दी गई। पुलिस ने यह जानकारी दी।

डोमकल पुलिस स्टेशन के एक अधिकारी ने कहा, डोमकल के कुचियामोरा गांव में कुछ अराजक तत्वों ने कथित रूप से तीनों पर गोलीबारी की और उन पर बम फेंके जिसमें वे मारे गए। शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है।

उन्होंने कहा, हमने सुना है कि वे तृणमूल कांग्रेस के सक्रिय कार्यकर्ता थे। हमारे अधिकारी जांच कर रहे हैं कि हमले के पीछे क्या कोई राजनीतिक रंजिश थी।

दो मृतकों के परिजनों ने हत्या के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के समर्थकों पर आरोप लगाया है।

एक मृतक के रिश्तेदार ने कहा, ये लोग हत्या के एक अन्य मामले में भी दोषी हैं। वे मेरे पीछे पड़े थे क्योंकि मैं उस मामले में गवाह हूं। कल, वे यहां आए और मुझे घर पर नहीं पाकर मेरे चाचा तथा तथा भतीजे की हत्या कर दी।

पुलिस ने कहा कि क्षेत्र में छापेमारी की जा रही है लेकिन अब तक कोई गिरफ्तार नहीं हुआ है।

--आईएएनएस

11:59 AM

दुर्घटनाग्रस्त एएन-32 का वायस, डेटा रिकॉर्डर बरामद

ईटानगर, 14 जून (आईएएनएस)। भारतीय वायुसेना (आईएएफ) ने शुक्रवार को कहा कि दुर्घटनाग्रस्त एएन-32 विमान का कॉकपिट वॉयस रिकॉर्डर (सीवीआर) और फ्लाइट डेटा रिकॉर्डर (एफडीआर) बरामद कर लिया गया है।

गौरतलब है कि एएन-32 विमान तीन जून को अरुणाचल प्रदेश में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था।

ईस्टर्न एयर कमांड में आईएएफ के प्रवक्ता विंग कमांडर रत्नाकर सिंह ने आईएएनएस से कहा, बचाव और खोजी दल ने कॉकपिट वॉयस रिकॉर्डर (सीवीआर) और फ्लाइट डेटा रिकॉर्डर (एफडीआर) को बरामद कर लिया है और सभी वायु योद्धाओं के पार्थिक अवशेषों को बरामद करने की प्रक्रिया अभी भी जारी है।

हालांकि, मौसम ने रिकवरी की गति को प्रभावित करना जारी रखा है। सिंह ने कहा कि कार्य को जल्दी पूरा करने के सभी प्रयास किए जा रहे हैं। इसमें सभी संसाधनों नागरिक, सेना व आईएएफ का इस्तेमाल किया जा रहा है।

आईएएफ ने गुरुवार को दुर्घटना के कारणों की जांच के आदेश दिए थे।

वायुसेना और भारतीय सेना के 16 पर्वतारोहियों के एक दल के साथ पांच नागरिक पवर्तारोहियों का दल दुर्घटनास्थल की तलाशी कर रहा है। यह दुर्घटना स्थल पश्चिम सियांग जिले के तहत लिपो से 16 किमी, टाटो से उत्तरपूर्व में है। इसकी 12,000 फीट की ऊंचाई पर स्थित है।

राज्य के एक सरकारी अधिकारी जिगुम ताली ने आईएएनएस से कहा कि दुर्घटना में मारे गए लोगों के शव क्षत-विक्षत हैं।

अधिकारी ने कहा कि सात शव गुरुवार तक बरामद किए गए हैं।

एएन-32 ने तीन जून को जोरहाट एयरबेस से अरुणाचल के मेचुका एडवांस्ड लैंडिंग ग्राउंड के लिए उड़ान भरी थी, लेकिन उसका जमीनी एजेंसियों से 35 मिनट के भीतर ही संपर्क टूट गया।

--आईएएनएस

09:09 PM
 मोदी ने कृषि में संरचनात्मक सुधारों के लिए उच्चस्तरीय समिति घोषित की

मोदी ने कृषि में संरचनात्मक सुधारों के लिए उच्चस्तरीय समिति घोषित की

नई दिल्ली, 15 जून (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कृषि में संरचनात्मक सुधारों की सिफारिश के लिए एक उच्चस्तरीय समिति की घोषणा की, जिसमें मुख्यमंत्रियों को शामिल किया जाएगा। साथ ही उन्होंने राज्यों से 2024 तक भारत को 50 खरब डॉलर (5,000 अरब डॉलर) की अर्थव्यवस्था बनाने में योगदान देने का आग्रह किया।

नीति आयोग की शासी परिषद की 5वीं बैठक में अपनी समापन टिप्पणी में उन्होंने एक भारत, श्रेष्ठ भारत अंब्रेला के तहत विभिन्न राज्यों के निवासियों के बीच आपसी संपर्क बढ़ाने का आह्वान किया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि वैश्विक परिस्थितियां वर्तमान में भारत को एक अनूठा अवसर प्रदान करती हैं, क्योंकि देश खुद को ईज ऑफ डुइंग बिजनेस जैसे वैश्विक बेंचमार्क पर स्थापित कर रहा है।

उन्होंने कहा, हमें 2024 तक भारत को 50 खरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का प्रयास जल्द से जल्द शुरू करना चाहिए। इस उद्देश्य के लिए, राज्यों को अपनी अर्थव्यवस्था को 2 से 2.5 गुना बढ़ाने का लक्ष्य रखना चाहिए। इसके परिणामस्वरूप आम आदमी की क्रय शक्ति बढ़ जाएगी।

मोदी ने मुख्यमंत्रियों से अपने राज्य की निर्यात क्षमता का अध्ययन करने और निर्यात संवर्धन पर काम करने का आह्वान किया।

कृषि में संरचनात्मक सुधारों पर समिति के बारे में प्रधानमंत्री ने कहा कि इसमें कुछ मुख्यमंत्रियों को भी शामिल किया जाएगा और इस विषय पर समग्र दृष्टिकोण लिया जाएगा।

केंद्र में बनाए गए दो नए मंत्रालयों और एक नए विभाग के निर्माण का उल्लेख करते हुए, उन्होंने कहा कि गृह मंत्रालय में द्वीप विकास विभाग, लगभग 1,300 द्वीपों के विकास पर काम करेगा जो भारत का हिस्सा हैं।

उन्होंने तटवर्ती राज्यों से आग्रह किया कि वे समुद्र तट से सटे द्वीपों के संबंध में एक पहल करें।

प्रधानमंत्री ने कहा कि खनन क्षेत्र रोजगार के महत्वपूर्ण अवसर प्रदान कर सकता है, लेकिन उन्होंने याद दिलाया कि कई राज्यों में खदानों के परिचालन में अड़चनें अभी भी बनी हुई हैं।

उन्होंने कहा, नीति आयोग इन मुद्दों पर काम कर रहा है।

उन्होंने राज्यों को समय-समय पर आकांक्षी जिलों की प्रगति की समीक्षा करने का भी आह्वान किया और कहा कि आकांक्षी जिलों में शासन के एक नए मॉडल को स्थापित करने की आवश्यकता है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार राज्यों के साथ साझेदारी करने और भारत के विकास के लिए मिलकर काम करने की इच्छुक है।

उन्होंने कहा कि भारत को अपनी पानी की समस्याओं को हल करने के लिए प्राथमिकता देने और सही कदम उठाने की आवश्यकता है।

प्रधानमंत्री ने गंगा नदी बेसिन प्राधिकरण के लिए एक परिणाम आधारित दृष्टिकोण का आह्वान किया।

--आईएएनएस

10:35 PM
Stock Exchange
Live Cricket Score

Create Account



Log In Your Account