• Last Updates : 09:56 AM

अमेरिका-चीन व्यापार वार्ता सप्ताह के आखिर तक

वाशिंगटन, 23 फरवरी (आईएएनएस)। अमेरिका और चीन के बीच व्यापारिक मसलों को लेकर चल रही वार्ता में शामिल दोनों देशों के प्रतिनिधि शुक्रवार को वार्ता को सप्ताह के आखिर तक बढ़ाने पर सहमत हुए।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, व्हाइट हाउस में वार्ता को बढ़ाने की घोषणा की गई जहां अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीन के प्रतिनिधिमंडल के नेता उप प्रधानमंत्री लियू ही का स्वागत किया।

समाचार एजेंसी एके की रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिका के शीर्ष वार्ताकारों, व्यापार प्रतिनिधि रॉबर्ट लाइटजर, वित्त मंत्री स्टीवन मनुचिन और वाणिज्य मंत्री विलबर रॉस ओवल ऑफिस में हुई बैठक में मौजूद थे।

ट्रंप ने कहा कि मुद्रा के तिकड़म के मसले पर दोनों पक्षों में अंतिम सहमति बन गई है, हालांकि उन्होंने इस संबंध में कोई विशेष जानकारी नहीं दी।

चीनी वस्तुओं पर अमेरिका में आयात शुल्क 10 फीसदी से बढ़ाकर 25 फीसदी करने के लिए ट्रंप द्वारा तय समयसीमा एक मार्च से पहले वार्ताकार सहमति बनाने में जुटे हैं।

दोनों देशों के बीच व्यापारिक मसलों पर सहमति नहीं बनने पर अमेरिका ने एक मार्च से चीन से आयातित 200 अरब डॉलर मूल्य की वस्तुओं पर आयात शुल्क बढ़ाकर 25 फीसदी कर सकता है।

--आईएएनएस

10:59 PM

अमेरिका स्थित पाकिस्तानी, चीनी वाणिज्यिक दूतावासों के बाहर प्रदर्शन

न्यूयार्क, 23 फरवरी (आईएएनएस)। कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के विरोध में भारतवंशी अमेरिकी समुदाय के लोगों ने न्यूयार्क और शिकागो स्थित पाकिस्तानी और चीनी वाणिज्यिक दूतावासों के बाहर प्रदर्शन किया।

पुलवामा में 14 फरवरी को आतंकी हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 40 जवान शहीद हो गए थे।

न्यूयार्क में शुक्रवार को पुलिस ने वाणिज्यिक दूतावास की ओर बढ़ रहे 400 प्रदर्शनकारियों को रोक लिया।

प्रदर्शनकारी दो घंटे तक वंदे मातरम और गॉड ब्लेस अमेरिका का नारा लगाते रहे। वे आतंकवाद को समर्थन देने के लिए पाकिस्तान की आलोचना करते हुए भी नारे लगा रहे थे।

एक प्रतिनिधिमंडल पुलवामा आतंकी हमले के मुजरिमों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए एक ज्ञापन के साथ वाणिज्यिक दूतावास पहुंचा।

अमेरिका में भारतीय जनता पार्टी की हितैषी शाखा ओवरसीज फ्रेंड्स ऑफ बीजेपी-यूएसए (ओएफबीजेपी) के अध्यक्ष कृष्ण रेड्डी अनुगुला ने बताया कि दूतावास के राजनयिकों ने ज्ञापन लेने से मना कर दिया। ज्ञापन में पाकिस्तानी सेना अदालत द्वारा जासूसी के अभियुक्त करार दिए गए कुलभूषण यादव की रिहाई की भी मांग की गई थी।

उधर, गुरुवार को समुदाय के सदस्यों ने शिकागो में चीन के वाणिज्यिक दूतावास के बाहर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने आतंकी गुट जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर पर संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंध का बचाव करने के लिए चीन का विरोध किया।

--आईएएनएस

10:14 PM

जेईएम मुख्यालय का नियंत्रण लेने वाली खबर मनगढ़ंत : पाकिस्तानी मंत्री

इस्लामाबाद, 23 फरवरी (आईएएनएस)। पाकिस्तान के सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने शनिवार को उन भारतीय मीडिया रिपोर्ट को मनगढ़ंत करार दिया, जिनमें जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) के मुख्यालय का प्रशासनिक नियंत्रण पाकिस्तान सरकार द्वारा अपने हाथ में लिए जाने की बात कही जा रही है।

मंत्री ने दावा किया कि वह केंद्र एक मदरसा है, जहां छात्र शिक्षा ग्रहण करते हैं और सरकार के कदम का कश्मीर आत्मघाती हमले से कोई लेना-देना नहीं है।

पाकिस्तान के गृह मंत्रालय की शुक्रवार को घोषणा के बाद चौधरी की यह टिप्पणी आई है। मंत्रालय ने कहा था कि पंजाब प्रांत की सरकार ने बहावलपुर क्षेत्र में एक मस्जिद व मदरसा परिसर का प्रशासनिक नियंत्रण ले लिया है। इस परिसर को मसूद अजहर का जेईएम मुख्यालय माना जाता रहा है।

आतंकी समूह ने दावा किया है कि 14 फरवरी को पुलवामा आतंकी हमला उसी ने किया था। इसके बाद नई दिल्ली और इस्लामाबाद के बीच तनाव बढ़ गया है। इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे।

पाकिस्तान के गृह मंत्रालय ने कहा था, पंजाब सरकार ने बहावलपुर में मदरसातुल साबिर और जामा-ए-मस्जिद सुभानल्लाह वाले एक परिसर का नियंत्रण ले लिया है, जो कथित रूप से जेईएम का मुख्यालय है। सरकार ने उसके मामलों के प्रबंधन के लिए एक प्रशासक भी नियुक्त किया है।

लेकिन, चौधरी ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो संदेश में कहा कि पंजाब की प्रांतीय सरकार ने नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल (एनएससी) बैठक के दौरान और नेशनल एक्शन प्लान (एनएपी) के हिस्से के रूप में बहावलपुर में मदरसातुल साबिर और जामा-ए-मस्जिद सुभानल्लाह का प्रशासनिक नियंत्रण लिया है।

उन्होंने कहा, कल (शुक्रवार) एनएससी बैठक के दौरान यह तय किया गया कि एनएपी को पूर्ण रूप से लागू किया जाएगा। इस संबंध में कल कुछ कदम उठाए गए थे और आज (शनिवार) पंजाब सरकार ने बहावलपुर में एक मदरसे का प्रशासनिक नियंत्रण ले लिया।

चौधरी ने कहा, यह वह मदरसा है, जिस पर भारत प्रोपागेंडा चल रहा है और आरोप लगा रहा है कि यह जेईएम का मुख्यालय है। कल (रविवार) पंजाब सरकार मीडिया कर्मियों को मदरसे की यात्रा कराएगी और सभी को दिखाएगी कि यह कैसे काम करता है व सभी को सच्चाई दिखाएगी।

जियो न्यूज ने चौधरी के हवाले से कहा, मदरसे में करीब 700 छात्र पढ़ते हैं। इस कदम (प्रशासनिक नियंत्रण लेने) का कश्मीर में हमले से कोई लेना-देना नहीं है।

उन्होंने कहा, एनएपी हमारा अपना सुरक्षा दस्तावेज है, जिसपर सभी राजनीतिक दलों की सहमति है और हम इसे लागू कर रहे हैं।

--आईएएनएस

06:13 PM

भारत पहली बार ओआईसी बैठक में शिरकत करेगा

नई दिल्ली, 23 फरवरी (आईएएनएस)। भारत विशिष्ट अतिथि के रूप में पहली बार इस्लामी सहयोग संगठन (ओआईसी) की बैठक में शिरकत करेगा। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को अगले महीने होने वाली इसकी मंत्रिपरिषद बैठक के उद्घाटन सत्र को संबोधित करने के लिए आमंत्रित किया गया है।

सुषमा स्वराज को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के विदेश मंत्री शेख अब्दुल्ला बिन जायद अल नाहयान ने एक-दो मार्च को अबुधाबी में होने वाली विदेश मंत्रियों की परिषद के 46वें सत्र के उद्घाटन सत्र को संबोधित करने के लिए आमंत्रित किया है।

विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि हमें आमंत्रण को स्वीकार करते हुए खुशी है, जो भारत में 18.5 करोड़ मुसलमानों की उपस्थिति व बहुलवादी लोकाचार में उनके योगदान और इस्लामी दुनिया में भारत के योगदान को स्वागत योग्य मान्यता देता है।

बयान में कहा गया, हम इस आमंत्रण को यूएई के प्रबुद्ध नेतृत्व की कामना के रूप में देखते हैं ताकि हम हमारे तेजी से बढ़ते हुए द्विपक्षीय संबंधों से आगे बढ़कर बहुपक्षीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर एक सच्ची बहुआयामी साझेदारी को कायम कर सकें।

बयान में कहा गया कि आमंत्रण यूएई के साथ द्विपक्षीय व्यापक रणनीतिक साझेदारी में एक मील का पत्थर है।

बयान में कहा गया, भारत ओआईसी बैठक के उद्घाटन सत्र में उपस्थित होने का आमंत्रण स्वीकार कर खुश है और हम यूएई के आमंत्रण के लिए उनके नेतृत्व का धन्यवाद करते हैं।

--आईएएनएस

03:40 PM

भारत, पाकिस्तान बहुत खतरनाक हालात का सामना कर रहे : ट्रंप

वाशिंगटन, 23 फरवरी (आईएएनएस)। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा में आत्मघाती हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच हालात काफी खतरनाक हो गए हैं। उन्होंने संकेत दिया कि वाशिंगटन दोनों पड़ोसियों के बीच बढ़े तनाव को कम करने का प्रयास में लगा हुआ है।

पुलवामा आत्मघाती हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 40 जवान शहीद हुए थे।

ट्रंप ने शुक्रवार को ओवल कार्यालय में संवाददाताओं को बताया, इस वक्त भारत और पाकिस्तान के बीच बहुत ही बुरे हालात हैं। यह एक बहुत ही खतरनाक स्थिति है। हम इसे (शत्रुता) समाप्त होते हुए देखना चाहेंगे। बहुत से लोग मारे गए हैं। हम इसे रुकते हुए देखना चाहते हैं। हम इसमें (प्रक्रिया) सक्रिय रूप से शामिल हैं।

ट्रंप ने कहा, भारत कुछ शक्तिशाली कदम उठाने की ओर देख रहा है। भारत ने इस हमले में करीब 50 लोग खो दिए। मैं इसे समझ सकता हूं।

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार दोनों देशों के अधिकारियों के साथ बातचीत कर रही है।

उन्होंने कहा, हम बात कर रहे हैं। बहुत से लोगों से बात हो रही है। यह एक बहुत ही संवेदनशील संतुलन होने जा रहा है। जो भी हुआ उसके कारण भारत और पाकिस्तान के बीच बहुत सी समस्याएं हैं।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने इससे पहले कहा था कि पुलवामा हमले ने अमेरिका और भारत के बीच आतंकवाद-रोधी सहयोग व समन्वय को मजबूत करने के हमारे संकल्प को मजबूत किया है।

इस्लामाबाद ने हालांकि आत्मघाती हमले में अपनी किसी भी संलिप्तता को नकार दिया है और भारत से कार्रवाई योग्य जानकारी मांगी है, जिसे नई दिल्ली ने कमजोर बहाना करार दिया है।

शुक्रवार को संवाददाता सम्मेलन के दौरान एक सवाल के जवाब में ट्रंप ने कहा कि अमेरिका ने पाकिस्तान को दी जानी वाली सैन्य सहायता रद्द कर दी है क्योंकि पाकिस्तान को जिस तरीके से उसकी मदद करनी चाहिए थी, वह नहीं कर रहा है।

--आईएएनएस

02:10 PM

शी से मिले सऊदी के क्राउन प्रिंस, हुआ 10 अरब की रिफाइनरी का सौदा

बीजिंग, 22 फरवरी (आईएएनएस)। सऊदी के प्रिंस क्राउन सलमान बिन ने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से शुक्रवार को मुलकात की।

इस मौके पर सऊदी की तेल कंपनी अरामको ने चीन में 10 अरब डॉलर की लागत से रिफाइनरी व पेट्रोकेमिकल कांप्लेक्स विकसित करने के करार पर हस्ताक्षर किए। इसके अलावा दोनों देशों ने 28 अरब डॉलर मूल्य के अन्य 35 आर्थिक करार पर हस्ताक्षर किए।

नेशनल डेली की रिपोर्ट के अनुसार, अरामको चीन में एक रिफाइनरी विकसित करेगा जिसमें तीन लाख बैरल रोजाना तेल शोधन किया जाएगा। इसके अलावा 15 लाख टन सालाना इथिलीन क्रैकर और 13 लाख टन सालाना पैराक्सीलीन बनाने की इकाई चीनी की नोरिनको कंपनी समूह और पन्जीन सिनसेन के साथ लगाई जाएगी।

नई कंपनी में हुआजिन अरामको पेट्रोकेमिकल में सऊदी की कंपनी की 35 फीसदी हिस्सेदारी होगी, जबकि नोरिको और पन्जीन सिनसेन की हिस्सेदारी क्रमश: 36 फीसदी और 29 फीसदी होगी।

अरामको इस कंपनी को 70 फीसदी कच्चे तेल की आपूर्ति करेगी। कंपनी का संचालन 2024 से शुरू हो सकती है।

क्राउन प्रिंस गुरुवार को बीजिंग पहुंचे थे।

--आईएएनएस

10:59 PM

ट्रंप-किम शिखर वार्ता से पहले उत्तर कोरिया ने खाद्य संकट पर मांगी मदद

संयुक्त राष्ट्र, 22 फरवरी (आईएएनएस)। उत्तर कोरिया ने कहा है कि वह गंभीर खाद्य संकट का सामना कर रहा है। उसने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से इस संकट से निपटने में मदद की गुहार लगाई है।

उत्तर कोरिया ने कहा कि सूखे और बाढ़ की वजह से पैदावार कम होने के कारण वह राशन में कटौती करने को मजबूर है और संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंधों के प्रभाव से स्थिति खराब हो गई है।

उत्तर कोरिया ने यह गुहार अपने नेता किम जोंग-उन और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच 27-28 फरवरी को होने जारी दूसरी शिखर वार्ता से पहले लगाई है। दोनों नेता कोरियाई प्रायद्वीप को परमाणु हथियारों से मुक्त करने पर बातचीत करने वाले हैं।

गार्जियन की शुक्रवार की रिपोर्ट के अनुसार, बिना तारीख के संयुक्त राष्ट्र के नाम दो पृष्ठों के ज्ञापन में प्योंगयांग ने अंतर्राष्ट्रीय संगठनों से खाद्य संकट की स्थिति का समाधान करने की दिशा में शीघ्र कदम उठाने का आह्वान किया है।

उत्तर कोरिया सरकार ने संयुक्त राष्ट्र से कहा कि उसे इस साल चावल, गेहूं, आलू और सोयाबीन समेत 14 लाख टन खाद्य पदार्थ की कमी के संकट से जूझना पड़ रहा है।

संयुक्त राष्ट्र प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने गुरुवार को कहा, सरकार ने देश में मौजूद अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार संगठनों से खाद्य सुरक्षा के प्रभाव का समाधान करने का आग्रह किया है।

संयुक्त राष्ट्र के अनुमान के अनुसार, फसलों के उत्पादन में भारी कमी होने से उत्तर कोरिया में 1.03 करोड़ आबादी को भोजन की जरूरत है, जोकि देश की तकरीबन आधी आबादी है।

--आईएएनएस

07:13 PM

वेनेजुएला : मदुरो ने रूस से आए मेडिकल आपूर्ति का स्वागत किया

काराकास, 22 फरवरी (आईएएनएस)। वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मदुरो ने गुरुवार को संयुक्त राज्य अमेरिका और उसके सहयोगियों से मानवीय सहायता स्वीकार करने के लिए विपक्ष के बढ़ते दबाव के बीच रूस से 7.5 टन मेडिकल आपूर्ति पहुंचने की घोषणा की।

मदुरो ने अस्पताल के निदेशकों के साथ बैठक के दौरान कहा, इन दवाओं की आपूर्ति के लिए मुझे ओपीएस (पैन अमेरिकन हेल्थ ऑर्गनाइजेशन) और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का दिल से आभार जताना चाहिए।

समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक, वामपंथी राष्ट्रपति ने कहा, हमें जिन दवाओं की जरूरत है, वे स्थायी रूप से हर सप्ताह वेनेजुएला में पहुंच रहे हैं।

स्वघोषित कार्यवाहक राष्ट्रपति जुआन गुआइदो के पड़ोसी देश से आने वाली सहायता सामग्री लाने के लिए वेनेजुएला-कोलंबिया सीमा की यात्रा करने के बीच मदुरो ने बात की।

तेल से समृद्ध वेनेजुएला बुनियादी सामानों की कमी के साथ-साथ बेलगाम मुद्रास्फीति से भी जूझ रहा है।

मदुरो ने कहा कि गुरुवार को पहुंचे दवा, उपकरण और अन्य आपूर्ति को काराकास और दक्षिणी राज्य बोलिवर के अस्पतालों में भेजा जाएगा।

--आईएएनएस

04:57 PM

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के पुननिर्माण की जरूरत : विशेषज्ञ

नई दिल्ली, 22 फरवरी (आईएएनएस)। संयुक्त राष्ट्र को हिंसा और जबरन विस्थापन को समाप्त करने के लिए अधिक प्रभावी कदम उठाना चाहिए। यह बात ओ.पी. जिंदल यूनिवर्सिटी में गुरुवार को फ्यूचर ऑफ यूनाइटेड नेशंस विषय पर आयोजित दो दिवसीय सम्मेलन में विशेषज्ञों ने कही।

विशेषज्ञों ने कहा कि इस दिशा में उठाए जाने वाले कदमों में सुरक्षा परिषद का पुनर्गठन और विशेषाधिकार (वीटो पॉवर) प्रदान करने के नियमों में बदलाव शामिल होना चाहिए।

यूनिवर्सिटी द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, संयुक्त राष्ट्र महासभा के पूर्व शेफ डे कैबिनेट विरेंद्र दयाल ने अपने संबोधन में कहा, संयुक्त राष्ट्र को जबरन विस्थापन, भुखमरी, असमानता, व्यापारिक विवाद, बढ़ते ऋण भार और मीडिया स्वतंत्रता को खतरा जैसी अनेक चुनौतियों का समाधान करना चाहिए।

पैनलिस्टों ने संयुक्त राष्ट्र द्वारा शक्ति संतुलन स्थापित करने के लिए उठाए जाने वाले जिन कदमों के सुझाव दिए हैं उनमें सुरक्षा परिषद व वीटो पॉवर का पुनर्गठन, लोकतंत्र को बढ़ावा देना और विकसित देशों द्वारा पर्याप्त धन मुहैया करना और कार्यविधि के नियम शामिल हैं।

गांधीवादी अहिंसा और जापान में मेइजी क्रांति पर एक पैनलिस्ट ने जोर देकर कहा कि भारत और जापान संयुक्त राष्ट्र की कार्यप्रणाली में सद्भाव लाने में अपनी समृद्ध विरासत से लाभ पहुंचा सकते हैं।

तिमोर-लेस्टे (पूर्व तिमोर) मेंसंयुक्त राष्ट्र महासचिव के पूर्व विशेष प्रतिनिधि सुकेहीरो हसेगावा ने कहा, भारत का स्वतंत्रता संघर्ष और गांधीजी का शांति और मानवता के कल्याण के दर्शन का दुनियाभर में प्रसार हुआ है। इसी तरह मेइजी क्रांति ने जापान में शांति और समृद्धि का मार्ग प्रशस्त किया।

उन्होंने कहा, दोनों देश इस समृद्ध ऐतिहासिक विरासत का इस्तेमाल करके संयुक्त राष्ट्र में सद्भाव का कार्य कर सकते हैं।

--आईएएनएस

04:47 PM

वेनेजुएला : गुआइदो सहायता लेने कोलंबियाई सीमा पहुंचे

काराकास, 22 फरवरी (आईएएनएस)। वेनेजुेएला के स्वघोषित कार्यकारी राष्ट्रपति जुआन गुआइदो मानवीय सहायता हासिल करने के लिए कोलंबिया से लगी देश की सीमा पर पहुंच गए।

इस मानवीय सहायता को पदस्थ राष्ट्रपति निकोलस मादुरो ने अमेरिकी सैन्य हस्तक्षेप के बहाने साजिश करने का आरोप लगाते हुए खारिज कर दिया था।

समाचार एजेंसी एफे की रिपोर्ट के अनुसार, गुरुवार को सीमा पर पहुंचे गुआइदो ने कहा कि कोलंबिया और ब्राजील में सीमा के साथ-साथ कुराकाओ के द्वीप पर रुकी मानवीय सहायता शनिवार को देश में लाई जाएगी।

यह सहायता अमेरिका द्वारा तथा लगभग 50 अन्य देशों द्वारा भेजा गया है। 23 जनवरी को गुआइदो की घोषणा के कुछ सप्ताहों के बाद इन देशों ने उन्हें कार्यकारी राष्ट्रपति मान लिया है।

दो दिन पहले मादुरो सरकार ने वेनेजुएला और नीदरलैंड के एक स्वतंत्र भाग कुराकाओ के बीच सभी वायु तथा जलीय यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिया जिसने गुआइदो का समर्थन किया था।

वेनेजुएला के नेता का कहना है कि मानवीय सहयोग की पहल एक चाल है और विपक्ष का लक्ष्य 20 साल पुरानी वाम दल की सरकार को खत्म करने के लिए सैन्य आक्रमण करना है।

मादुरो ने गुरुवार को रूस से 7.5 टन स्वास्थ्य पदार्थो के यहां आने की घोषणा की थी।

उन्होंने कहा, हमें जिन दवाइयों की जरूरत है, वे वेनेजुएला में नियमित तौर पर प्रति सप्ताह आ रही हैं।

--आईएएनएस

04:41 PM
 जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग पर एकतरफा यातायात की अनुमति

जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग पर एकतरफा यातायात की अनुमति

जम्मू, 24 फरवरी (आईएएनएस)। जम्मू से श्रीनगर राजमार्ग पर रविवार को एकतरफा यातायात की अनुमति होगी। इस दौरान वाहन केवल जम्मू से श्रीनगर जाएंगे।

यातायात विभाग के एक अधिकारी ने कहा, सभी फंसे हुए वाहन जिसमें ज्यादातर ट्रक हैं, को शनिवार रात को रवाना कर दिया गया था।

रामबन से रामसू तक का रास्ता प्रशासन के लिए एक चुनौती बन गया है क्योंकि इलाके में भूस्खलन से राजमार्ग की लगातार नाकेबंदी हुई है।

पेट्रोलियम उत्पादों की कमी के कारण संभागीय प्रशासन ने एक बार फिर कश्मीर घाटी में पेट्रोल और डीजल की बिक्री सीमित करने का आदेश दिया है।

--आईएएनएस

08:44 AM
Stock Exchange
Live Cricket Score

Create Account



Log In Your Account