• Last Updates : 10:58 AM

वेनेजुएला : मदुरो ने कोलंबिया के साथ कूटनीतिक. राजनीतिक संबंध समाप्त किए (लीड-1)

काराकास, 24 फरवरी (आईएएनएस)। वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मदुरो ने पड़ोसी देश कोलंबिया के साथ कूटनीतिक और राजनीतिक संबंध समाप्त करने की घोषणा की है। मदुरो ने कोलंबिया द्वारा देश के दक्षिणपंथी विपक्ष और सैन्य दलबदलुओं को समर्थन दिए जाने की प्रतिक्रियास्वरूप यह कदम उठाया है।

एफे के अनुसार मदुरो ने शनिवार को काराकास में अपने समर्थकों से एक रैली में कहा, मेरे सब्र का बांध टूट चुका है। मैं अब यह और बर्दाश्त नहीं कर सकता कि कोलंबिया वेनेजुएला के खिलाफ आक्रामकता में अपना समर्थन दे रहा है।

उन्होंने इस घोषणा के साथ ही कोलंबिया दूतावास के कर्मचारियों को 24 घंटे के भीतर वेनेजुएला छोड़कर चले जाने का आदेश दिया है।

मदुरो ने अमेरिका समेत अन्य देशों द्वारा भेजी जा रही मानवीय सहायता सामग्री के भंडारण में कोलंबिया द्वारा दी जा रही मदद के संदर्भ में कहा कि यह अब स्पष्ट हो चुका है कि मिस्टर इवान डक्यूए की सरकार उनके खिलाफ प्रहार करने के लिए किस प्रकार कोलंबिया के क्षेत्र का इस्तेमाल कर रही है।

मदुरो ने कहा, इससे पहले कोलंबिया का कोई भी राष्ट्रपति इतना नीचे नहीं गिरा या किसी भी कोलंबियाई राष्ट्रपति ने वेनेजुएला के खिलाफ इस प्रकार का कृत्य नहीं किया जैसा मिस्टर इवान डक्युए ने किया है। यह कुछ ऐसा है - जैसे कि वह वेनेजुएला पर पत्थर फेंक रहे हैं। उनका चेहरा एक नन्हें फरिश्ते जैसा है, लेकिन मैं उनके गाल पकड़कर कहना चाहूंगा कि इवान डक्यूए, तुम एक शैतान हो।

वेनेजुएला की जरूरतों को पूरा करने के लिए अन्य देशों से भेजी जा रही मानवीय सहायता सामग्री का कोलंबिया के सीमावर्ती शहर कुकुाटा में भंडारण किया जा रहा है। वेनेजुएला करीब पांच सालों से खाद्य पदार्थो और दवाइयों की गंभीर रूप से कमी झेल रहा है।

--आईएएनएस

10:58 AM

वेनेजुएला ने कोलंबिया के साथ संबंध समाप्त किए

काराकास, 24 फरवरी (आईएएनएस)। वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मदुरो ने पड़ोसी देश कोलंबिया के साथ कूटनीतिक और राजनीतिक संबंध समाप्त करने की घोषणा की है। मदुरो ने कोलंबिया द्वारा देश के दक्षिणपंथी विपक्ष और सैन्य दलबदलुओं को समर्थन दिए जाने की प्रतिक्रियास्वरूप यह कदम उठाया है।

सिन्हुआ के अनुसार मदुरो ने शनिवार को काराकास में एक सरकार समर्थक रैली में कहा, मैंने कोलंबिया की फासीवादी सरकार के साथ हर प्रकार के राजनीतिक और कूटनीतिक संबंध तोड़ने का फैसला किया है।

उन्होंने इस घोषणा के साथ ही कोलंबिया दूतावास के कर्मचारियों को 24 घंटे के भीतर वेनेजुएला छोड़कर चले जाने का आदेश दिया है।

--आईएएनएस

10:17 AM

अमेरिका-चीन व्यापार वार्ता सप्ताह के आखिर तक

वाशिंगटन, 23 फरवरी (आईएएनएस)। अमेरिका और चीन के बीच व्यापारिक मसलों को लेकर चल रही वार्ता में शामिल दोनों देशों के प्रतिनिधि शुक्रवार को वार्ता को सप्ताह के आखिर तक बढ़ाने पर सहमत हुए।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, व्हाइट हाउस में वार्ता को बढ़ाने की घोषणा की गई जहां अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीन के प्रतिनिधिमंडल के नेता उप प्रधानमंत्री लियू ही का स्वागत किया।

समाचार एजेंसी एके की रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिका के शीर्ष वार्ताकारों, व्यापार प्रतिनिधि रॉबर्ट लाइटजर, वित्त मंत्री स्टीवन मनुचिन और वाणिज्य मंत्री विलबर रॉस ओवल ऑफिस में हुई बैठक में मौजूद थे।

ट्रंप ने कहा कि मुद्रा के तिकड़म के मसले पर दोनों पक्षों में अंतिम सहमति बन गई है, हालांकि उन्होंने इस संबंध में कोई विशेष जानकारी नहीं दी।

चीनी वस्तुओं पर अमेरिका में आयात शुल्क 10 फीसदी से बढ़ाकर 25 फीसदी करने के लिए ट्रंप द्वारा तय समयसीमा एक मार्च से पहले वार्ताकार सहमति बनाने में जुटे हैं।

दोनों देशों के बीच व्यापारिक मसलों पर सहमति नहीं बनने पर अमेरिका ने एक मार्च से चीन से आयातित 200 अरब डॉलर मूल्य की वस्तुओं पर आयात शुल्क बढ़ाकर 25 फीसदी कर सकता है।

--आईएएनएस

10:59 PM

अमेरिका स्थित पाकिस्तानी, चीनी वाणिज्यिक दूतावासों के बाहर प्रदर्शन

न्यूयार्क, 23 फरवरी (आईएएनएस)। कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के विरोध में भारतवंशी अमेरिकी समुदाय के लोगों ने न्यूयार्क और शिकागो स्थित पाकिस्तानी और चीनी वाणिज्यिक दूतावासों के बाहर प्रदर्शन किया।

पुलवामा में 14 फरवरी को आतंकी हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 40 जवान शहीद हो गए थे।

न्यूयार्क में शुक्रवार को पुलिस ने वाणिज्यिक दूतावास की ओर बढ़ रहे 400 प्रदर्शनकारियों को रोक लिया।

प्रदर्शनकारी दो घंटे तक वंदे मातरम और गॉड ब्लेस अमेरिका का नारा लगाते रहे। वे आतंकवाद को समर्थन देने के लिए पाकिस्तान की आलोचना करते हुए भी नारे लगा रहे थे।

एक प्रतिनिधिमंडल पुलवामा आतंकी हमले के मुजरिमों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए एक ज्ञापन के साथ वाणिज्यिक दूतावास पहुंचा।

अमेरिका में भारतीय जनता पार्टी की हितैषी शाखा ओवरसीज फ्रेंड्स ऑफ बीजेपी-यूएसए (ओएफबीजेपी) के अध्यक्ष कृष्ण रेड्डी अनुगुला ने बताया कि दूतावास के राजनयिकों ने ज्ञापन लेने से मना कर दिया। ज्ञापन में पाकिस्तानी सेना अदालत द्वारा जासूसी के अभियुक्त करार दिए गए कुलभूषण यादव की रिहाई की भी मांग की गई थी।

उधर, गुरुवार को समुदाय के सदस्यों ने शिकागो में चीन के वाणिज्यिक दूतावास के बाहर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने आतंकी गुट जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर पर संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंध का बचाव करने के लिए चीन का विरोध किया।

--आईएएनएस

10:14 PM

जेईएम मुख्यालय का नियंत्रण लेने वाली खबर मनगढ़ंत : पाकिस्तानी मंत्री

इस्लामाबाद, 23 फरवरी (आईएएनएस)। पाकिस्तान के सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने शनिवार को उन भारतीय मीडिया रिपोर्ट को मनगढ़ंत करार दिया, जिनमें जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) के मुख्यालय का प्रशासनिक नियंत्रण पाकिस्तान सरकार द्वारा अपने हाथ में लिए जाने की बात कही जा रही है।

मंत्री ने दावा किया कि वह केंद्र एक मदरसा है, जहां छात्र शिक्षा ग्रहण करते हैं और सरकार के कदम का कश्मीर आत्मघाती हमले से कोई लेना-देना नहीं है।

पाकिस्तान के गृह मंत्रालय की शुक्रवार को घोषणा के बाद चौधरी की यह टिप्पणी आई है। मंत्रालय ने कहा था कि पंजाब प्रांत की सरकार ने बहावलपुर क्षेत्र में एक मस्जिद व मदरसा परिसर का प्रशासनिक नियंत्रण ले लिया है। इस परिसर को मसूद अजहर का जेईएम मुख्यालय माना जाता रहा है।

आतंकी समूह ने दावा किया है कि 14 फरवरी को पुलवामा आतंकी हमला उसी ने किया था। इसके बाद नई दिल्ली और इस्लामाबाद के बीच तनाव बढ़ गया है। इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे।

पाकिस्तान के गृह मंत्रालय ने कहा था, पंजाब सरकार ने बहावलपुर में मदरसातुल साबिर और जामा-ए-मस्जिद सुभानल्लाह वाले एक परिसर का नियंत्रण ले लिया है, जो कथित रूप से जेईएम का मुख्यालय है। सरकार ने उसके मामलों के प्रबंधन के लिए एक प्रशासक भी नियुक्त किया है।

लेकिन, चौधरी ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो संदेश में कहा कि पंजाब की प्रांतीय सरकार ने नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल (एनएससी) बैठक के दौरान और नेशनल एक्शन प्लान (एनएपी) के हिस्से के रूप में बहावलपुर में मदरसातुल साबिर और जामा-ए-मस्जिद सुभानल्लाह का प्रशासनिक नियंत्रण लिया है।

उन्होंने कहा, कल (शुक्रवार) एनएससी बैठक के दौरान यह तय किया गया कि एनएपी को पूर्ण रूप से लागू किया जाएगा। इस संबंध में कल कुछ कदम उठाए गए थे और आज (शनिवार) पंजाब सरकार ने बहावलपुर में एक मदरसे का प्रशासनिक नियंत्रण ले लिया।

चौधरी ने कहा, यह वह मदरसा है, जिस पर भारत प्रोपागेंडा चल रहा है और आरोप लगा रहा है कि यह जेईएम का मुख्यालय है। कल (रविवार) पंजाब सरकार मीडिया कर्मियों को मदरसे की यात्रा कराएगी और सभी को दिखाएगी कि यह कैसे काम करता है व सभी को सच्चाई दिखाएगी।

जियो न्यूज ने चौधरी के हवाले से कहा, मदरसे में करीब 700 छात्र पढ़ते हैं। इस कदम (प्रशासनिक नियंत्रण लेने) का कश्मीर में हमले से कोई लेना-देना नहीं है।

उन्होंने कहा, एनएपी हमारा अपना सुरक्षा दस्तावेज है, जिसपर सभी राजनीतिक दलों की सहमति है और हम इसे लागू कर रहे हैं।

--आईएएनएस

06:13 PM

अमेरिकी बाजार में प्रवेश करना चाहता है ओप्पो : रिपोर्ट

सैन फ्रांसिस्को, 23 फरवरी (आईएएनएस)। चीनी स्मार्टफोन निर्माता कंपनी ओप्पो बिल्कुल वैसे ही अब अमेरिकी बाजार में प्रवेश करना चाहता है, जैसे प्रीमियम स्मार्टफोन निर्माता कंपनी वनप्लस ने पिछले साल अक्टूबर में किया था।

ओप्पो के अंतर्राष्ट्रीय व्यापार के प्रमुख एलेन बू ने सीएनईटी को शुक्रवार को दिए साक्षात्कार में कहा, एक और चीनी फोन निर्माता कंपनी अमेरिकी बाजार में प्रवेश करना चाहती है, लेकिन इसका एक पैर पहले से ही विस्तृत बाजार में है।

उन्होंने समय तो नहीं बताया लेकिन कहा कि वे तब तक इंतजार करना चाहते हैं जब तक ओप्पो यूरोप नहीं फैल जाता।

ओप्पो लोकप्रिय स्टार्टअप वनप्लस की सहयोगी कंपनी है, लेकिन इसे एशिया के बाहर जगह बनाने के लिए संघर्ष करना पड़ा है। यह कंपनी चीन की हैंडसेट बनाने वाली सबसे बड़ी कंपनियों में से है।

ओप्पो बीबीके इलेक्ट्रोनिक्स के अंतर्गत आने वाली तीन कंपनियों में से एक है। अन्य दो कंपनियां वनप्लस और वीवो हैं।

हालांकि एशिया के बाहर सिर्फ वनप्लस का प्रदर्शन ठीक रहा है।

वनप्लस 6टी को लांच करते ही वनप्लस ने मोबाइल सर्विसेज ऑपरेटर टी-मोबाइल के साथ साझेदारी करते हुए अमेरिकी बाजार में प्रवेश कर लिया था।

टी-मोबाइल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जॉन लेगेयर ने कहा था, वनप्लस 6टी और टी-मोबाइल का एलटीई नेटवर्क एक-दूसरे के लिए बने थे। ग्राहकों ने हमसे वनप्लस को अमेरिका में लाने में मदद करने के लिए कहा था। हमने सुना और कर दिया।

--आईएएनएस

04:03 PM

वेनेजुएला : सरकार ने कोलंबिया से लगती सीमा पूरी तरह बंद की

काराकास, 23 फरवरी (आईएएनएस)। वेनेजुएला की संप्रभुता को कोलंबिया द्वारा कथित रूप से खतरा पहुंचाने के आरोपों के बीच वेनेजुएला सरकार ने कोलंबिया से लगती अपनी सीमा पूरी तरह बंद कर दी है। विपक्ष की योजना यहीं से अंतर्राष्ट्रीय सहयोग को काराकास लाने की थी।

समाचार एजेंसी एफे के अनुसार, राष्ट्रपति निकोलस मादुरो द्वारा अरुबा, बोनाएर और कुराकाओ से संपर्क खत्म करने के आदेश के बाद यह कदम शुक्रवार रात उठाया गया और वहां पहुंची सहायता का प्रवेश रोकने के लिए ब्राजील से लगती सीमा को बंद कर दिया।

उपराष्ट्रपति डेल्सी रोड्रिगेज ने ट्वीट किया, सरकार जनता को बताती है कि, वेनेजुएला की शांति और संप्रभुता के खिलाफ कोलंबिया द्वारा गंभीर और अवैध खतरे उत्पन्न करने की कोशिश करने के बाद सरकार ने सिमोन बोलीवर, सांटेंडर और यूनियम ब्रिजेज को अस्थाई तौर पर पूरी तरह बंद करने का निर्णय लिया है।

उन्होंने कहा कि इवान ड्यूक की कोलंबियाई सरकार अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के आदेश पर वेनेजुएला की शांति और संप्रभुता से जीने के अधिकार के खिलाफ काम कर रही है।

उन्होंने कहा कि सीमा पर चल रही हिंसक घटनाओं पर नियंत्रण पाते ही सीमा को खोल दिया जाएगा। काराकास के अनुसार, सीमा पर हिंसा बोगोटा करवा रहा है।

--आईएएनएस

03:54 PM

ट्रंप की सीमा दीवार कुछ महीने दूर : पेंटागन

वाशिंगटन, 23 फरवरी (आईएएनएस)। पेंटागन ने कहा है कि अगर सबकुछ योजना के मुताबिक चला तो सीमा दीवार का निर्माण कार्य शुरू होने में कुछ महीने लगेंगे। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सीमा दीवार की मांग की थी।

सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक, ट्रंप ने हाल ही में दक्षिणी सीमा पर राष्ट्रीय आपातकाल घोषित किया था। यह कदम उनके प्रशासन को दीवार में खंडों के निर्माण हेतु सैन्य निर्माण फंड में तीन अरब डॉलर से ज्यादा की राशि आवंटित करने की इजाजत देगा।

वरिष्ठ रक्षा अधिकारियों ने शुक्रवार को कहा कि पेंटागन फिलहाल डिपार्टमेंट ऑफ होमलैंड स्कियोरिटी (डीएचएस) द्वारा सीमा दीवार निर्माण के लिए समर्थन मुहैया कराने के अनुरोध का इंतजार कर रहा है।

रक्षा मंत्री को यह निर्धारित करने के लिए कानून की आवश्यकता होती है कि सीमा दीवार निर्माण के लिए किसी भी सैन्य निर्माण फंड का उपयोग सशस्त्र बलों का समर्थन करने के लिए किया जाए। अधिकारियों ने कहा कि ²ढ़ संकल्प करने का कोई वास्तविक मापदंड नहीं है।

एक वरिष्ठ रक्षा अधिकारी ने शुक्रवार को कहा, उस मूल्यांकन के लिए कोई औपचारिक मानदंड नहीं है। उन्होंने कहा कि कार्यवाहक रक्षा मंत्री पैट शानाहान कानून के मुताबिक बहुत ही सोच समझकर फैसला लेंगे लेकिन कानून स्पष्ट मानदंड को वर्जित नहीं करता है।

अधिकारी ने कहा कि मूल्यांकन अवधि अकेले कुछ सप्ताह का वक्त ले सकती है।

--आईएएनएस

03:51 PM

ट्विटर के सह-संस्थापक इवान विलियम्स निदेशक मंडल से हटे

सैन फ्रांसिस्को, 23 फरवरी (आईएएनएस)। ट्विटर के सह-संस्थापक इवान विलियम्स ने शुक्रवार को कहा कि वह इस महीने के अंत में माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर को छोड़ देंगे।

ट्विटर के सीईओ के रूप में सेवाएं दे चुके विलियम्स ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा, मैं बहुत खुशनसीब हूं कि मैंने 12 वर्षो तक (जब से बोर्ड अस्तित्व में है) ट्विटर बोर्ड में सेवाएं दीं। यह बहुत ही मजेदार, शिक्षात्मक और कभी-कभार चुनौतीपूर्ण रहा।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक, करीब चार हजार ट्विटर कर्मचारियों की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा, जो लोग हर दिन कड़ी मेहनत कर रहे हैं, मैं उस टीम के साथ जुड़ा रहूंगा क्योंकि मैं अन्य परियोजनाओं पर अपना वक्त केंद्रित कर रहा हूं।

--आईएएनएस

02:56 PM

भारत, पाकिस्तान बहुत खतरनाक हालात का सामना कर रहे : ट्रंप

वाशिंगटन, 23 फरवरी (आईएएनएस)। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा में आत्मघाती हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच हालात काफी खतरनाक हो गए हैं। उन्होंने संकेत दिया कि वाशिंगटन दोनों पड़ोसियों के बीच बढ़े तनाव को कम करने का प्रयास में लगा हुआ है।

पुलवामा आत्मघाती हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 40 जवान शहीद हुए थे।

ट्रंप ने शुक्रवार को ओवल कार्यालय में संवाददाताओं को बताया, इस वक्त भारत और पाकिस्तान के बीच बहुत ही बुरे हालात हैं। यह एक बहुत ही खतरनाक स्थिति है। हम इसे (शत्रुता) समाप्त होते हुए देखना चाहेंगे। बहुत से लोग मारे गए हैं। हम इसे रुकते हुए देखना चाहते हैं। हम इसमें (प्रक्रिया) सक्रिय रूप से शामिल हैं।

ट्रंप ने कहा, भारत कुछ शक्तिशाली कदम उठाने की ओर देख रहा है। भारत ने इस हमले में करीब 50 लोग खो दिए। मैं इसे समझ सकता हूं।

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार दोनों देशों के अधिकारियों के साथ बातचीत कर रही है।

उन्होंने कहा, हम बात कर रहे हैं। बहुत से लोगों से बात हो रही है। यह एक बहुत ही संवेदनशील संतुलन होने जा रहा है। जो भी हुआ उसके कारण भारत और पाकिस्तान के बीच बहुत सी समस्याएं हैं।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने इससे पहले कहा था कि पुलवामा हमले ने अमेरिका और भारत के बीच आतंकवाद-रोधी सहयोग व समन्वय को मजबूत करने के हमारे संकल्प को मजबूत किया है।

इस्लामाबाद ने हालांकि आत्मघाती हमले में अपनी किसी भी संलिप्तता को नकार दिया है और भारत से कार्रवाई योग्य जानकारी मांगी है, जिसे नई दिल्ली ने कमजोर बहाना करार दिया है।

शुक्रवार को संवाददाता सम्मेलन के दौरान एक सवाल के जवाब में ट्रंप ने कहा कि अमेरिका ने पाकिस्तान को दी जानी वाली सैन्य सहायता रद्द कर दी है क्योंकि पाकिस्तान को जिस तरीके से उसकी मदद करनी चाहिए थी, वह नहीं कर रहा है।

--आईएएनएस

02:10 PM
 जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग पर एकतरफा यातायात की अनुमति

जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग पर एकतरफा यातायात की अनुमति

जम्मू, 24 फरवरी (आईएएनएस)। जम्मू से श्रीनगर राजमार्ग पर रविवार को एकतरफा यातायात की अनुमति होगी। इस दौरान वाहन केवल जम्मू से श्रीनगर जाएंगे।

यातायात विभाग के एक अधिकारी ने कहा, सभी फंसे हुए वाहन जिसमें ज्यादातर ट्रक हैं, को शनिवार रात को रवाना कर दिया गया था।

रामबन से रामसू तक का रास्ता प्रशासन के लिए एक चुनौती बन गया है क्योंकि इलाके में भूस्खलन से राजमार्ग की लगातार नाकेबंदी हुई है।

पेट्रोलियम उत्पादों की कमी के कारण संभागीय प्रशासन ने एक बार फिर कश्मीर घाटी में पेट्रोल और डीजल की बिक्री सीमित करने का आदेश दिया है।

--आईएएनएस

08:44 AM
Stock Exchange
Live Cricket Score

Create Account



Log In Your Account