• Last Updates : 02:31 PM

पाकिस्तान में मानसिक रूप से बीमार दोषी को 18 जून को दी जाएगी फांसी

इस्लामाबाद, 16 जून (आईएएनएस)। पाकिस्तान की एक अदालत ने मानसिक रूप से बीमार एक दोषी को 18 जून को फांसी देने का आदेश दिया है।

एक मानवाधिकार कानून कंपनी ने यह जानकारी दी है।

डॉन न्यूज के अनुसार, शनिवार को जारी एक बयान में जस्टिस प्रोजेक्ट पाकिस्तान (जेपीपी) ने सरकार से 36 वर्षीय गुलाम अब्बास की फांसी पर रोक लगाने और मामले पर पुनर्विचार करने का आग्रह किया है।

2004 में एक पड़ोसी को चाकू मारने के आरोप में अब्बास को 31 मई 2006 को जिला एवं सत्र अदालत ने मौत की सजा सुनाई थी।

मौत की सजा पाने वाला अब्बास 13 साल से अधिक समय जेल में बिता चुका है।

अब्बास के लिए एक नई दया याचिका दायर की गई थी जिसमें राष्ट्रपति आरिफ अल्वी से उसकी फांसी की सजा पर रोक लगाने का अनुरोध किया गया था।

जेपीपी ने शनिवार को एक बयान में कहा, अब्बास की फांसी पर जरूर रोक लगाई जानी चाहिए और व्यापक जांच के लिए उसे मानसिक स्वास्थ्य केंद्र में भेजा जाना चाहिए।

इस बीच, मनोचिकित्सक मलिक हुसैन मुब्बशर, जिन्हें सुप्रीम कोर्ट ने मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ के रूप में इस मामले में सहायता करने के लिए नियुक्त किया है, उन्होंने कहा, मेडिकल परीक्षण के रिकॉर्ड से पता चला है कि जेल प्रशासन ने इलाज के लिए उसे तेज एंटी-साइकोटिक दवाईयां दी हैं।

मुब्बशर ने कहा कि अब्बास की मानसिक बीमारी अनुवांशिक है क्योंकि उसका पारिवारिक इतिहास मानसिक बीमारी का रहा है।

--आईएएनएस

11:02 AM

मोगादिशु में विस्फोटों में 10 मरे, कई घायल

मोगादिशु, 16 जून (आईएएनएस)। सोमालिया की राजधानी मोगादिशु में दो कार बम विस्फोटों में कम से कम 10 लोग मारे गए जबकि 26 अन्य घायल हो गए।

सिन्हुआ के मुताबिक, पुलिस आयुक्त बशीर आब्दी मोहम्मद ने शनिवार को पत्रकारों को बताया, सैईदका जंक्शन के पास बम विस्फोट के बाद नौ लोग मारे गए और 25 अन्य घायल हो गए।

पुलिस प्रमुख ने कहा कि केएम4 जंक्शन के पास दूसरा कार बम विस्फोट हुआ और हमलावर की मौत हो गई। उन्होंने कहा कि सुरक्षा बलों ने उसके एक घायल साथी को गिरफ्तार किया है।

यह विस्फोट तब हुआ जब पुलिस ने आतंकवादियों द्वारा संभावित हमलों को रोकने के लिए शहर की मुख्य सड़कों को अवरुद्ध कर राजधानी की सुरक्षा कड़ी कर दी।

अल-कायदा संबद्ध समूह अल-शबाब ने हमले को अंजाम देने का दावा किया है।

--आईएएनएस

09:02 AM

ओमान की खाड़ी में हमलों से समुद्री मार्गो की सुरक्षा बढ़ाई गई

मस्कट, 15 जून (आईएएनएस)। सरकारें और टैंकर कंपनियां प्रमुख समुद्री मार्गो की सुरक्षा बढ़ाने के प्रयास कर रही हैं, क्योंकि अमेरिका और ईरान ने ओमान की खाड़ी में दो टैंकरों पर हुए हमले में एक-दूसरे के ऊपर आरोप लगा है। इस जलमार्ग से दुनिया एक तिहाई समुद्री मार्ग से होनेवाली कच्चे तेल की आपूर्ति होती है।

समाचार एजेंसी एफे न्यूज ने शनिवार को सऊदी अरब के एक वरिष्ठ अधिकारी के हवाले से बताया कि सऊदी अरब ने तेल कुओं और रणनीतिक क्षेत्रों के आसपास की सुरक्षा बढ़ा दी है।

अधिकारी ने बताया कि हमले में होर्मुज के जलडमरूमध्य की कमजोरियों को उजागर किया है, जिससे होकर रोजाना दो से तीन दर्जन जहाज गुजरते हैं। खाड़ी के देश ड्रोन और टारपीडो से होनेवाले हमलों के खिलाफ एक मजबूत सुरक्षा कवच बनाने पर काम कर रहे हैं।

अधिकारी ने कहा, महत्वपूर्ण बात यह है कि भविष्य में इस प्रकार के हमलों से निपटने का तरीका खोजा जाए और सभी को आश्वस्त किया जाए कि यह मार्ग अभी भी सुरक्षित है।

खाड़ी देशों के जानकार अधिकारियों ने बताया कि संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने शिपिंग कंपनियों के साथ मिलकर पर्सिया की खाड़ी में समुद्री मार्ग की सुरक्षा बढ़ाने के प्रयास में जुटी है।

सिंगापुर के एक ब्रोकर के मुताबिक, शिपिंग बीमा की लागत तेजी से बढ़ रही है। मध्य पूर्व से चीन के मार्ग की ओर जानेवाले सुपर टैंकर कार्गो के बीमा की दर में गुरुवार को हुए हमलों के बाद 34 फीसदी का उछाल आया है, जो 24,854 डॉलर रोजाना है।

अमेरिकी अधिकारियों ने कहा कि यह स्पष्ट है कि ईरान की इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड कार्प्स (आईआरजीसी) जापान की कोकुका करेजन और नार्वे की कंपनी के स्वामित्व वाली फ्रंट अलटेयर जहाज पर हमलों की जिम्मेदार है।

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने फॉक्स न्यूज से कहा, ईरान ने यह किया है।

इसके जवाब में ईरान के विदेश मंत्री जावेद जरिफ ने शुक्रवार को ट्विटर पर कहा, यह अमेरिका और उसके सहयोगियों की ही करतूत हो सकती है, क्योंकि हमले के तुरंत बाद अमेरिका बिना परिस्थितिजन्य सबूतों और जांच के ही ईरान पर आरोप लगाने लगा।

--आईएएनएस

07:05 PM

पाकिस्तान गरिमापूर्ण तरीके से चाहता है भारत से वार्ता : कुरैशी

बिश्केक, 15 जून (आईएएनएस)। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि उनका मुल्क समानता के आधार और गरिमापूर्ण तरीके से भारत के साथ वार्ता चाहता है।

पाकिस्तान ने कहा है कि अब नई दिल्ली को यह तय करना है कि वह इस्लामाबाद के साथ मुद्दों को सुलझाना चाहती है या नहीं।

कुरैशी ने यहां 19वें शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के शिखर सम्मेलन के मौके पर शुक्रवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और उनके भारतीय समकक्ष नरेंद्र मोदी के बीच हुए अभिवादन के आदान-प्रदान की पुष्टि करते हुए यह बात कही।

कुरैशी ने किर्गिस्तान की राजधानी में जियो न्यूज से कहा, हां, मुलाकात हुई, दोनों ने एक-दूसरे से हाथ मिलाया।

हालांकि उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि भारत सरकार अभी तक अपनी चुनावी मानसिकता से बाहर नहीं निकल पाई है।

कुरैशी ने कहा, हमें जो कहना था, हमने कहा। भारत सरकार अपनी चुनावी मानसिकता से बाहर नहीं आई है। अपने क्षेत्र में उन्होंने जो वोटबैंक के लिए चरम स्थिति बनाई थी, वे उससे बाहर नहीं आए हैं।

उन्होंने कहा, भारत को फैसला करना है। हम न तो जल्दबाजी में हैं, न ही परेशान हैं। जब भारत खुद को बातचीत के लिए तैयार कर लेगा, वह देखेगा कि हम पहले से तैयार हैं। लेकिन हम समानता के आधार पर, गरिमापूर्ण तरीके से बातचीत करेंगे।

कुरैशी ने कहा, हमें (पाकिस्तान) न तो किसी के पीछे भागने की जरूरत है, न ही जिद दिखाने की। पाकिस्तान का ²ष्टिकोण यथार्थवादी और सुविचारित है।

पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) ने फरवरी में पुलवामा आतंकी हमले की जिम्मेदारी ली थी, जिसके बाद से नई दिल्ली और इस्लामाबाद के बीच तनाव बढ़ गया था। हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 40 जवान मारे गए थे।

खान और कुरैशी ने मोदी को पत्र लिखकर वार्ता फिर से शुरू करने की इच्छा जताई है।

--आईएएनएस

06:48 PM

ट्रंप का कानून उल्लंघन मामले में सहयोगी कॉन्वे को बर्खास्त करने से इनकार

वाशिंगटन, 15 जून (आईएएनएस)। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चुनाव को प्रभावित करने के लिए अपने पदों का उपयोग करने से उच्च सरकारी अधिकारियों पर प्रतिबंध लगाने वाले कानून के कई उल्लंघनों के लिए अपनी सहयोगी केलीएन कॉन्वे को बर्खास्त करने से इनकार कर दिया।

समाचार एजेंसी एफे न्यूज ने शुक्रवार को दिए एक टीवी इंटरव्यू में ट्रंप के हवाले से कहा, नहीं, मैं उन्हें बर्खास्त नहीं करने जा रहा हूं। वह एक जबरदस्त प्रवक्ता है। वह वफादार रही हैं।

राष्ट्रपति की टिप्पणी यह बात सार्वजनिक होने के एक दिन बाद आई है कि ट्रंप को विशेष वकील के कार्यालय (ओएससी) से एक रिपोर्ट मिली है जिसमें कॉन्वे पर कई बार हैच एक्ट का उल्लंघन करने का आरोप लगाया गया है। ओएससी एक स्वतंत्र संगठन है, जो सरकार के भीतर संभावित कानूनी उल्लंघन पर नजर रखता है, इसने

ओएससी ने अपने दस्तावेज में कहा है कि व्हाइट हाउस की एक हाईप्रोफाइल अधिकारी, कॉन्वे ने कई अवसरों पर टेलीविजन साक्षात्कार और सोशल मीडिया पर आधिकारिक तौर पर बोलते हुए डेमोक्रेटिक राष्ट्रपति पद के उम्मीदवारों को नीचा दिखाकर उस कानून का उल्लंघन किया है।

यह स्वीकार करने से दूर कि उनके काउंसलर ने कुछ भी गलत किया है, ट्रंप ने कहा, मुझे ऐसा लगता है जैसे वे उनसे उनकी अभिव्यक्ति की आजादी छीनने की कोशिश कर रहे हैं।

--आईएएनएस

05:17 PM

नेपाल में उत्तर कोरिया की गतिविधियों से अमेरिका चिंतित

काठमांडू, 15 जून (आईएएनएस)। नेपाल में उत्तर कोरियाई लोगों की बढ़ती गतिविधियों के बीच प्योंगयांग के लिए विशेष अमेरिकी दूत मार्क लैम्बर्ट ने हिमालयी देश की सरकार और राजनेताओं से देश में उत्तर कोरियाई लोगों को ज्यादा तवज्जो नहीं देने के लिए कहा है।

द हिमालयन टाइम्स के मुताबिक, नेपाल की तीन दिवसीय यात्रा पर आए लैम्बर्ट ने सांसदों, वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों और सत्तारूढ़ नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (एनसीपी) के सह-अध्यक्ष पुष्प कमल दहल से शुक्रवार को यहां यह अपील की।

उन्होंने नेपाल में उत्तर कोरियाई लोगों की बढ़ती व्यावसायिक गतिविधियों के बारे में चिंता व्यक्त की।

लैम्बर्ट से मुलाकात करने वाले एक सांसद ने बताया, उन्होंने यह भी आशंका व्यक्त की है कि उत्तर कोरियाई लोग साइबर अपराधों के लिए नेपाल का इस्तेमाल अड्डे के रूप में कर रहे होंगे।

इन बैठकों के दौरान लैम्बर्ट का संदेश स्पष्ट था कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने उत्तर कोरिया पर प्रतिबंध लगा रखे हैं और एक सदस्य देश के रूप में नेपाल को इस फैसले का सम्मान करना चाहिए।

उत्तर कोरिया द्वारा संयुक्त राष्ट्र के चार्टर का उल्लंघन करते हुए परमाणु हथियार विकसित करना शुरू करने के बाद संयुक्त राष्ट्र ने उत्तर कोरिया पर कई प्रतिबंध लगाए हैं। ये प्रतिबंध, दूसरों के बीच, संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देशों को उत्तर कोरिया के नागरिकों की मेजबानी करने से रोकते हैं।

अमेरिकी दूतावास प्रवक्ता एंडी डी आरमेंट ने कहा, नेपाल सुरक्षा परिषद का सदस्य है और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा पारित प्रस्तावों का पालन करना नेपाल का दायित्व है। एंडी ने पुष्टि की है कि लैम्बर्ट नेपाल में उत्तर कोरियाई लोगों की बढ़ती गतिविधियों पर चर्चा करने के लिए नेपाल में हैं।

--आईएएनएस

04:11 PM

ट्रंप का जन्मदिन ट्विटर पर जॉनमैक्कैनडे के रूप में मनाया गया

सैन फ्रांसिस्को, 15 जून (आईएएनएस)। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के 73वें जन्मदिन पर उनका मजाक उड़ाते हुए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर हजारों यूजर्स ने 14 जून को हैशटैगजॉनमैक्कैनडे के तौर पर मनाया।

दिवंगत नेता और पूर्व सैनिक मैक्कैन ना सिर्फ ट्रंप की रिपब्लिकन के प्रतिद्वंद्वी थे, बल्कि वे 1987 से अगस्त 2018 में अपने निधन तक एरिजोना के सीनेटर भी रहे।

लोकप्रिय टॉक शो द एलेन डीजेनरस शो के कार्यकारी निर्माता एंडी लेस्नर के ट्विटर पर यह अभियान छेड़ने के बाद प्लेटफॉर्म पर जॉनमैक्कैनडे ट्रेंडिंग करने लगा।

लेस्नर ने ट्वीट किया, आज एक अमेरिकी नायक का सम्मान कर रहा हूं। आज जॉनमैक्कैनडे ट्रेंड कर डोनाल्ड ट्रंप का जन्मदिन मनाएं। मुझे पूरा विश्वास है कि यह डोनाल्ड ट्रंप जैसे देशभक्त के लिए बहुत मायने रखता है। जॉनमैक्केनडे।

ट्विटर यूजर्स काफी तेज लग रहे थे और वे खुशी-खुशी इस अभियान में लेस्नर के साथ जुड़ गए।

मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स फाइटर टोनी पोस्नांस्की ने लेस्नर को रिप्लाई दिया, मैं नहीं जानता कि क्या मैं जॉनमैक्कैनडे ट्रेंड कर सकता हूं लेकिन अगर तुम चाहते हो तो मैं आज आपकी सहायता करने के लिए जॉनमैक्कैनडे पोस्ट करूंगा क्योंकि मुझे लगता है कि जॉनमैक्कैनडे अन्य चीजों से बेहतर है। ओह एंडी, मैं भूल गया.. जॉनमैक्कैनडे।

एक अन्य यूजर ने रिप्लाई किया, डोनाल्ड ट्रंप, आज के बारे में विशेष बात सिर्फ ये है कि आज जॉनमैक्कैनडे है।

अकेले लेस्नर के ट्वीट को 11,000 बार रीट्वीट, 26,000 बार लाइक किया गया और इस पर 23,000 कमेंट आए।

लेकिन यह हैशटैग प्लेटफॉर्म पर शीर्ष पर हो गया।

ट्रंप ने हालांकि इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।

--आईएएनएस

04:11 PM

फेसबुक शुरू करेगी कमेंट रैंकिंग, सार्थक होगी बातचीत

सैन फ्रांसिस्को, 15 जून (आईएएनएस)। सार्वजनिक पोस्ट पर बातचीत को और अधिक सार्थक बनाने के लिए फेसबुक ने एक अपडेट जारी किया है, जिसकेतहत उन लोगों को प्रोमोट किया जाएगा, जिनके कमेंट उपयोगकर्ताओं के लिए सबसे ज्यादा प्रासंगिक होंगे।

फेसबुक अब सार्वजनिक पोस्ट पर उन कमेंट्स को तब अधिक प्रमुखता से दिखाना शुरू करेगा, जब पेज या पोस्ट डालने वाले वास्तविक व्यक्ति के दोस्तों द्वारा किया गया होगा।

फेसबुक के उत्पाद मैनेजर जस्टिन शेन ने शुक्रवार को बयान दिया था, हम अन्य संकेतों पर ध्यान रखना जारी रखेंगे, ताकि हम कम गुणवत्ता वाले कमेंट्स को प्रमुखता से न दिखाएं, भले ही वो कमेंट पोस्ट डालने वाले व्यक्ति या उसके दोस्तों की ही क्यों न हो।

उपयोगकर्ता अपनी पोस्ट पर कमेंट्स को छुपाकर, हटाकर उसे नियंत्रित कर सकते हैं।

जिन लोगों के फेसबुक पर अधिक दोस्त नहीं हैं, उनके कमेंट रैंकिंग खुद ब खुद चालू नहीं होगी, क्योंकि उनके पोस्ट पर पहले से ही कम कमेंट्स हैं। हालांकि कोई भी व्यक्ति अपनी सेटिंग में जाकर कमेंट रैंकिंग को शुरू कर सकता है।

फेसबुक ने कहा, हम चाहते हैं कि लोग सुरक्षित और प्रामाणिक कमेंट देखें। अगर कोई कमेंट हमारे समुदाय का अनादर करता है, तो हम उसे हटा देंगे।

--आईएएनएस

03:51 PM

पाकिस्तान में एचआईवी के 31 टेस्ट पॉजिटिव निकले

इस्लामाबाद, 15 जून (आईएएनएस)। पाकिस्तान के सिंध प्रांत में शनिवार को एचआईवी वायरस के लिए किए गए स्क्रीनिंग कार्यक्रम के दौरान 2,500 में से 31 लोगों को एचआईवी पॉजिटिव पाया गया। स्वास्थ्य अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

जियो न्यूज के मुताबिक, शिकारपुर जिले में नए मामले सिंध में एचआईवी के मामलों में 215 पॉजिटिव मामलों के बाद भी बढ़ रहे हैं, जिनमें 181 बच्चे शामिल रहे जो लरकाना जिले के रतोडेरो में रिपोर्ट किए गए।

जिला स्वास्थ्य अधिकारी शब्बीर शेख ने बताया कि जिन लोगों का टेस्ट पॉजिटिव आया है, उन्हें विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के नियमों के अनुसार उपचार और अन्य सुविधाएं प्रदान की जा रही हैं।

मई में विश्व स्वास्थ्य संगठन के विशेषज्ञों की एक अंतर्राष्ट्रीय टीम एचआईवी के प्रकोप की जांच के लिए पाकिस्तान पहुंची थी।

सिंध स्वास्थ्य विभाग ने एक ही सीरींज के दोबारा इस्तेमाल के लिए झोलाछाप या अयोग्य चिकित्सकों को दोषी ठहराया, जो सामान्य आबादी, विशेषकर बच्चों में फैले एचआईवी के प्रमुख स्रोत में से एक है।

प्रभावित लोगों ने सिंध सरकार से आसान पहुंच के लिए सरकारी अस्पतालों के अलावा निजी मेडिकल स्टोरों पर आसानी से उपलब्ध एचआईवी दवा बनाने का आग्रह किया है।

नागरिकों ने सिंध सरकार से इस बीमारी से निपटने के लिए पर्याप्त कदम उठाने की अपील की है।

आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, 1980 के दशक में महामारी शुरू होने के बाद से दुनिया भर में 7.61 करोड़ लोग एचआईवी से संक्रमित हुए हैं और करीब 3.5 करोड़ की मौत हुई है।

उपचार के बिना, एचआईवी संक्रमित व्यक्ति को एड्स हो जाता है, एक ऐसा सिंड्रोम जो प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर करता है और शरीर अवसरवादी संक्रमणों जैसे तपेदिक और कुछ प्रकार के कैंसर की चपेट में आसानी से आ जाता है।

उपचार दुष्प्रभावों को कम करता है और महंगा है, लेकिन इससे संक्रमित लोग को लंबे समय तक जीवित रह सकते हैं।

--आईएएनएस

02:03 PM

कई नेपाली स्कूलों में मैंडरीन की पढ़ाई हुई अनिवार्य : रिपोर्ट

काठमांडू, 15 जून (आईएएनएस)। भाषा सिखाने वाले शिक्षकों को नि:शुल्क उपलब्ध कराने के चीनी सरकार के प्रस्ताव के मद्देनजर नेपाल के कई स्कूलों के छात्रों के लिए मैंडरीन भाषा सीखना अनिवार्य कर दिया है।

10 प्रसिद्ध निजी स्कूलों के प्रधानाध्यापकों और कर्मियों ने द हिमालयन टाइम्स को बताया कि उनके संस्थान में मैंडरीन सीखना अनिवार्य कर दिया गया है।

एलआरआई स्कूल के संस्थापक और समिति के अध्यक्ष शिवराज पंत के अनुसार, पोखरा, धूलिकेल और देश के अन्य हिस्सों में कई निजी स्कूलों ने भी छात्रों के लिए मैंडरीन अनिवार्य कर दिया है।

स्कूल-स्तरीय शैक्षणिक पाठ्यक्रम डिजाइन करने वाले, पाठ्यक्रम विकास केंद्र में सूचना अधिकारी गणेश प्रसाद भट्टराई ने कहा, स्कूलों को विदेशी भाषा सिखाने की अनुमति है, लेकिन वे उसे छात्रों के लिए अनिवार्य नहीं कर सकते हैं।

उन्होंने आगे कहा, अगर किसी विषय को अनिवार्य बनाना है, तो यह तय करना हमारा काम है, न कि स्कूलों का।

द हिमालयन टाइम्स से बात करने वाले स्कूलों को इस नियम के बारे में जानकारी है, लेकिन मुफ्त में मिल रहे मैंडरीन शिक्षकों को देखते हुए, उन्होंने इस नियम को अनदेखा कर दिया।

यूनाइटेड स्कूल के प्रधानाध्यापक कुलदीप नुपेन ने कहा, चीनी दूतावास द्वारा नि:शुल्क शिक्षकों को उपलब्ध कराने पर सहमति के बाद हमने दो साल पहले ही अनिवार्य विषय के रूप में मंदारिन की शुरुआत कर दी थी।

अन्य कई स्कूलों ने भी इस बात की पुष्टि की कि मैंडरीन शिक्षकों का वेतन काठमांडू के चीनी दुतावास द्वारा दिया जाता है।

--आईएएनएस

01:00 PM
 मोदी ने कृषि में संरचनात्मक सुधारों के लिए उच्चस्तरीय समिति घोषित की

मोदी ने कृषि में संरचनात्मक सुधारों के लिए उच्चस्तरीय समिति घोषित की

नई दिल्ली, 15 जून (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कृषि में संरचनात्मक सुधारों की सिफारिश के लिए एक उच्चस्तरीय समिति की घोषणा की, जिसमें मुख्यमंत्रियों को शामिल किया जाएगा। साथ ही उन्होंने राज्यों से 2024 तक भारत को 50 खरब डॉलर (5,000 अरब डॉलर) की अर्थव्यवस्था बनाने में योगदान देने का आग्रह किया।

नीति आयोग की शासी परिषद की 5वीं बैठक में अपनी समापन टिप्पणी में उन्होंने एक भारत, श्रेष्ठ भारत अंब्रेला के तहत विभिन्न राज्यों के निवासियों के बीच आपसी संपर्क बढ़ाने का आह्वान किया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि वैश्विक परिस्थितियां वर्तमान में भारत को एक अनूठा अवसर प्रदान करती हैं, क्योंकि देश खुद को ईज ऑफ डुइंग बिजनेस जैसे वैश्विक बेंचमार्क पर स्थापित कर रहा है।

उन्होंने कहा, हमें 2024 तक भारत को 50 खरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का प्रयास जल्द से जल्द शुरू करना चाहिए। इस उद्देश्य के लिए, राज्यों को अपनी अर्थव्यवस्था को 2 से 2.5 गुना बढ़ाने का लक्ष्य रखना चाहिए। इसके परिणामस्वरूप आम आदमी की क्रय शक्ति बढ़ जाएगी।

मोदी ने मुख्यमंत्रियों से अपने राज्य की निर्यात क्षमता का अध्ययन करने और निर्यात संवर्धन पर काम करने का आह्वान किया।

कृषि में संरचनात्मक सुधारों पर समिति के बारे में प्रधानमंत्री ने कहा कि इसमें कुछ मुख्यमंत्रियों को भी शामिल किया जाएगा और इस विषय पर समग्र दृष्टिकोण लिया जाएगा।

केंद्र में बनाए गए दो नए मंत्रालयों और एक नए विभाग के निर्माण का उल्लेख करते हुए, उन्होंने कहा कि गृह मंत्रालय में द्वीप विकास विभाग, लगभग 1,300 द्वीपों के विकास पर काम करेगा जो भारत का हिस्सा हैं।

उन्होंने तटवर्ती राज्यों से आग्रह किया कि वे समुद्र तट से सटे द्वीपों के संबंध में एक पहल करें।

प्रधानमंत्री ने कहा कि खनन क्षेत्र रोजगार के महत्वपूर्ण अवसर प्रदान कर सकता है, लेकिन उन्होंने याद दिलाया कि कई राज्यों में खदानों के परिचालन में अड़चनें अभी भी बनी हुई हैं।

उन्होंने कहा, नीति आयोग इन मुद्दों पर काम कर रहा है।

उन्होंने राज्यों को समय-समय पर आकांक्षी जिलों की प्रगति की समीक्षा करने का भी आह्वान किया और कहा कि आकांक्षी जिलों में शासन के एक नए मॉडल को स्थापित करने की आवश्यकता है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार राज्यों के साथ साझेदारी करने और भारत के विकास के लिए मिलकर काम करने की इच्छुक है।

उन्होंने कहा कि भारत को अपनी पानी की समस्याओं को हल करने के लिए प्राथमिकता देने और सही कदम उठाने की आवश्यकता है।

प्रधानमंत्री ने गंगा नदी बेसिन प्राधिकरण के लिए एक परिणाम आधारित दृष्टिकोण का आह्वान किया।

--आईएएनएस

10:35 PM
Stock Exchange
Live Cricket Score

Create Account



Log In Your Account