• Last Updates : 02:31 PM

हर्षवर्धन ने एईएस प्रभावित मुज्जफरपुर का दौरा किया, मृतकों की संख्या बढ़कर 81

पटना, 16 जून (आईएएनएस)। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने रविवार को बिहार के मुजफ्फरपुर जिले का दौरा किया, जहां पिछले एक पखवाड़े में एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) के कारण 81 बच्चों की मौत हो चुकी है।

स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि रविवार को सात बच्चों की मौत हो गई, जिसके बाद एईएस के कारण मरने वाले बच्चों की कुल संख्या 81 हो गई है। शनिवार रात तक 73 बच्चों की मौत हो गई थी।

हालांकि, बीमारी के कारण अनाधिकारिक रूप से 100 से अधिक की मौत होने की बात कही जा रही है क्योंकि कुछ बच्चों की मौत अस्पताल में भर्ती होने से पहले हो गई थी।

केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे और बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे के साथ हर्षवर्धन ने राज्य के स्वामित्व वाले श्रीकृष्णा मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (एसकेएमसीएच) का दौरा किया।

एक जिला स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा, मंत्री स्थिति का जायजा लेने के लिए डॉक्टरों और स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ एक समीक्षा बैठक कर रहे हैं।

इस बीच शहर में एसकेएमसीएच और निजी केजरीवाल अस्पताल में एईएस के लक्षणों के साथ नए मामलों का सामने आना जारी है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, शनिवार को बेगूसराय जिले में दो और पूर्वी चंपारण जिले में तीन बच्चों की मौत हो गई।

--आईएएनएस

01:03 PM

बिहार में लू से 24 घंटे में 45 की मौत

पटना, 16 जून (आईएएनएस)। बिहार में लू के कारण पिछले 24 घंटों में कम से कम 45 लोगों की मौत हो गई और 100 से अधिक अस्पताल में भर्ती हैं। औरंगाबाद, गया और नवादा जिलों में लू लगने के कारण ये मौतें हुई हैं।

गया और पटना का शनिवार को तापमान 45 डिग्री सेल्सियस से ऊपर दर्ज किया गया।

औरंगाबाद के सिविल सर्जन डॉ. सुरेंद्र प्रसाद सिंह ने शनिवार देर रात तक लू के कारण 27 लोगों की मौत होने की पुष्टि की। उन्होंने कहा, विभिन्न अस्पतालों में दर्जनों लोगों का इलाज चल रहा है।

गया के जिलाधिकारी अभिषेक सिंह ने 14 लोगों की मौत होने की पुष्टि की, जबकि एक अन्य जिला अधिकारी ने नवादा में पांच लोगों की मौत की पुष्टि की है। दोनों जिलों में लू प्रभावित 60 से अधिक लोगों का इलाज किया जा रहा है।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इन मौतों पर दुख व्यक्त किया है और पीड़ितों के परिजनों को 4 लाख रुपया का मुआवजा देने की घोषणा की है।

सरकार ने मृतकों की बढ़ती संख्या के मद्देनजर लू को लेकर चेतावनी भी जारी की है और लोगों को दिन के समय बाहर जाने पर अपना ध्यान रखने की सलाह दी है।

--आईएएनएस

11:13 AM

पाकिस्तान में मानसिक रूप से बीमार दोषी को 18 जून को दी जाएगी फांसी

इस्लामाबाद, 16 जून (आईएएनएस)। पाकिस्तान की एक अदालत ने मानसिक रूप से बीमार एक दोषी को 18 जून को फांसी देने का आदेश दिया है।

एक मानवाधिकार कानून कंपनी ने यह जानकारी दी है।

डॉन न्यूज के अनुसार, शनिवार को जारी एक बयान में जस्टिस प्रोजेक्ट पाकिस्तान (जेपीपी) ने सरकार से 36 वर्षीय गुलाम अब्बास की फांसी पर रोक लगाने और मामले पर पुनर्विचार करने का आग्रह किया है।

2004 में एक पड़ोसी को चाकू मारने के आरोप में अब्बास को 31 मई 2006 को जिला एवं सत्र अदालत ने मौत की सजा सुनाई थी।

मौत की सजा पाने वाला अब्बास 13 साल से अधिक समय जेल में बिता चुका है।

अब्बास के लिए एक नई दया याचिका दायर की गई थी जिसमें राष्ट्रपति आरिफ अल्वी से उसकी फांसी की सजा पर रोक लगाने का अनुरोध किया गया था।

जेपीपी ने शनिवार को एक बयान में कहा, अब्बास की फांसी पर जरूर रोक लगाई जानी चाहिए और व्यापक जांच के लिए उसे मानसिक स्वास्थ्य केंद्र में भेजा जाना चाहिए।

इस बीच, मनोचिकित्सक मलिक हुसैन मुब्बशर, जिन्हें सुप्रीम कोर्ट ने मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ के रूप में इस मामले में सहायता करने के लिए नियुक्त किया है, उन्होंने कहा, मेडिकल परीक्षण के रिकॉर्ड से पता चला है कि जेल प्रशासन ने इलाज के लिए उसे तेज एंटी-साइकोटिक दवाईयां दी हैं।

मुब्बशर ने कहा कि अब्बास की मानसिक बीमारी अनुवांशिक है क्योंकि उसका पारिवारिक इतिहास मानसिक बीमारी का रहा है।

--आईएएनएस

11:02 AM

डॉक्टर हड़ताल खत्म करें, एस्मा नहीं लगेगा : ममता (लीड-1)

कोलकाता, 15 जून (आईएएनएस)। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शनिवार को एक बार फिर राज्य सरकार द्वारा संचालित अस्पतालों के जूनियर डॉक्टरों से हड़ताल समाप्त करने की अपील की और आश्वासन दिया कि सरकार उनके खिलाफ एस्मा (आवश्यक सेवा प्रतिरक्षण अधिनियम) लागू नहीं करेगी।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार समस्या का शांतिपूर्ण समाधान खोजने की दिशा में काम कर रही है और अस्पतालों में डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए सभी जरूरी उपाय करने की मांग पर विचार के लिए तैयार है।

ममता ने राज्य सचिवालय नवान्न में कहा, मैं मेडिकल बिरादरी से जुड़े सभी लोगों से पहले ही अपील कर चुकी हूं कि वे मरीजों की परेशानी को ध्यान में रखते हुए गतिरोध को खत्म करें। मैं जूनियर डॉक्टरों से फिर अपील करती हूं कि वे आंदोलन खत्म करें। हम बातचीत के लिए हमेशा तैयार हैं।

उन्होंने कहा, कल (शुक्रवार) को मैंने जूनियर डॉक्टरों से बातचीत के लिए लगभग पांच घंटे इंतजार किया, लेकिन वे नहीं पहुंचे। उन्होंने सीनियर डॉक्टरों से कहा कि आज आएंगे। इसलिए मैंने प्रशासकों की अपनी टीम ेके साथ उनका इंतजार करती रही, लेकिन वे आज भी नहीं आए। मैं सभी से काम पर लौटने की अपील करती हूं।

यह उदाहरण देते हुए कि दिल्ली, गुजरात और तमिलनाडु जैसे कई राज्यों में डॉक्टरों के आंदोलन को खत्म कराने के लिए एस्मा लागू किया गया था, ममता ने कहा कि उनकी सरकार ऐसा कोई प्रशासनिक कदम नहीं उठाएगी। और हड़ताली डॉक्टरों के खिलाफ कोई प्रशासनिक कार्रवाई नहीं की जाएगी।

--आईएएनएस

10:53 PM

डॉक्टरों पर हमला करने वालों पर कार्रवाई हो : हर्षवर्धन(लीड-1)

नई दिल्ली, 15 जून (आईएएनएस)। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने यहां शनिवार को कहा कि डॉक्टरों पर हमला करने वालों के खिलाफ निश्चित ही कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए।

केंद्रीय मंत्री ने कानून प्रवर्तन एजेंसियों से यह सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि डॉक्टर और क्लीनिक प्रतिष्ठान बिना हिंसा के भय के अपना कार्य कर सकें।

मुख्यमंत्रियों को लिखे पत्र में हर्षवर्धन ने 2017 में अंतर-मंत्रालयी समिति की अनुशंसा का हवाला दिया, जिसके अंतर्गत राज्य सरकार को डॉक्टरों और स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने वाले पेशेवरों को सुरक्षा मुहैया कराने के लिए कानून बनाने की सलाह दी गई है।

उन्होंने इसके साथ ही मुख्यमंत्रियों को इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) द्वारा मुहैया कराए गए चिकित्सा सेवा कर्मी और चिकित्सा सेवा संस्थान संरक्षण (हिंसा और क्षति या संपत्ति नुकसान से रोकथाम) अधिनियम, 2017 के मसौदे भी भेजे।

मंत्री ने अपने पत्र में कहा है, अगर राज्य में पहले से ही इस संबंध में कानून मौजूद है, तो इस संबंध में कड़ाई के साथ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी)/दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) को लागू किया जाना चाहिए।

देश के कई भागों में डॉक्टरों के विरुद्ध हिंसा की हालिया घटनाओं पर चिंता व्यक्त करते हुए हर्षवर्धन ने कहा कि इस वजह से डॉक्टरों की हड़ताल से स्वास्थ्य सुविधा सेवाओं पर काफी असर पड़ा है।

मंत्री ने कहा, डॉक्टर हमारे समाज के महत्वपूर्ण स्तंभ हैं और प्राय: दबाव व मुश्किल परिस्थतियों में काम करते हैं। दुनिया में हमारे डॉक्टरों का स्थान शीर्ष पर है और वे तनावपूर्ण माहौल में लंबे समय तक काम करते हैं। यह राज्य का कर्तव्य है कि वह उन्हें सुरक्षा मुहैया कराए।

--आईएएनएस

09:30 PM

गाजियाबाद के डॉक्टर सोमवार को दिनभर की हड़ताल पर रहेंगे

गाजियाबाद, 15 जून (आईएएनएस)। गाजियाबाद के डॉक्टर पश्चिम बंगाल में अपने सहयोगियों के साथ एकजुटता जताने के लिए सोमवार को एक दिवसीय हड़ताल करेंगे। शनिवार को इसकी घोषणा की गई।

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) की स्थानीय इकाई के प्रमुख डी.पी. सिंह ने यहां आयोतिज एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि उन्होंने सोमवार सुबह छह बजे से मंगलवार सुबह छह बजे तक एक दिन की हड़ताल करने का फैसला किया है।

उन्होंने कहा कि सांकेतिक हड़ताल में निजी और सार्वजनिक क्षेत्र के चिकित्सक शामिल होंगे।

अगर बंगाल के डॉक्टरों को सुरक्षा मुहैया नहीं कराई जाती है तो यह हड़ताल अनिश्चितकालीन हो सकती है।

--आईएएनएस

07:35 PM

बंगाल के डाक्टरों से हड़ताल समाप्त करने ममता ने फिर अपील की

कोलकाता, 15 जून (आईएएनएस)। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शनिवार को एक बार फिर राज्य सरकार द्वारा संचालित अस्पतालों के हड़ताली डॉक्टरों से हड़ताल समाप्त करने और चिकित्सा सेवा सामान्य करने की अपील की।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए सभी जरूरी उपाय करने के लिए तैयार है और हड़ताली डॉक्टरों के खिलाफ कोई प्रशासनिक कार्रवाई नहीं की जाएगी।

--आईएएनएस

07:32 PM

हुआवेई ने फोल्डेबल मेट एक्स की डिलिवरी सितंबर तक टाली

बीजिंग, 15 जून (आईएएनएस)। चीनी स्मार्टफोन निर्माता हुआवेई ने अपने फोल्डेबल मेट एक्स की बाजार में डिलिवरी को जून से बढ़ाकर सितंबर तक कर दिया है। मेट एक्स को इस साल फरवरी में लांच किया गया था।

द वर्ज की रिपोर्ट में शुक्रवार को कहा गया कि चीनी प्रौद्योगिकी दिग्गज ने कहा कि वह इसे बाजार में भेजने से पहले सतर्क दृष्टिकोण अपना रहा है, क्योंकि सैमसंग का फोल्डेबल डिवाइस की लांचिंग डिवाइस में आ रही खराबियों के कारण असफल रही है।

हुआवेई के डिवाइस ने मॉडल नंबर टीएएच-एएनओओ के तहत विस्तृत परीक्षण के बाद चीन का 3सी सर्टिफिकेशन मार्क हासिल कर दिया है। यह एक अनिवार्य उत्पाद सर्टिफिकेशन प्रणाली है, जिसका लक्ष्य उपभोक्ताओं की सुरक्षा सुनिश्चित करना है।

इसमें एचडब्ल्यू-200200सीपीई चार्जर के साथ एक नया पॉवर एडैपटर शामिल किए जाने की संभावना है, जिसका अधिकतम आउटपुट 65 वॉट होगा। यह स्मार्टफोन जब अनफोल्ड होगा, तो उसका स्क्रीन 8 इंच का होगा। जबकि, गैलेक्स फोल्ड का डिस्प्ले 7.3 इंच का है, जो फोल्ड करने पर 6.6 इंच और 4.6 इंच का हो जाता है।

हुआवेई का डिवाइस 1.8 गीगाहट्र्ज ऑक्टा-कोर हुआवेई हाईसिलिकॉन किरिन 980 प्रोसेसर से संचालित है, जिसमें 2 कोर को 2.6 गीगाहट्र्ज पर क्लॉक किया गया है, जबकि 2 कोर को 1.92 गीगाहट्र्ज पर क्लॉक किया गया है। इसके साथ 8 जीबी का रैम दिया जाएगा।

यह फोन एंड्रायड 9.0 पर आधारित हैं और इसमें 4,500 एमएच की बैटरी लगी है, जिसमें प्रोपराइटरी फास्ट चार्जिग फीचर दिया गया है।

--आईएएनएस

07:09 PM

डॉक्टरों पर हमला करने वालों पर कार्रवाई हो : हर्षवर्धन

नई दिल्ली, 15 जून (आईएएनएस)। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने यहां शनिवार को कहा कि डॉक्टरों पर हमला करने वाले लोगों के खिलाफ निश्चिय ही कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए।

केंद्रीय मंत्री ने कानून प्रवर्तन एजेंसियों से यह सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि डॉक्टर और क्लीनिक प्रतिष्ठान बिना हिंसा के भय के अपना कार्य कर सकें।

मुख्यमंत्रियों को लिखे पत्र में, हर्षवर्धन ने 2017 में अंतर-मंत्रीय समिति की अनुशंसा का हवाला दिया जिसके अंतर्गत राज्य सरकार को डॉक्टरों और स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने वाले पेशेवरों को सुरक्षा मुहैया कराने के लिए कानून बनाने की सलाह दी गई है।

उन्होंने इसके साथ ही मुख्यमंत्रियों को इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) द्वारा मुहैया कराए गए चिकित्सा सेवा व्यक्तियों और चिकित्सा सेवा संस्थानों (हिंसा और क्षति या संपत्ति के नुकसान से रोकथाम) के मसौदे भेजे।

मंत्री ने अपने पत्र में कहा, अगर राज्य में पहले से ही इस संबंध में कानून मौजूद है, तो इस संबंध में कड़ाई के साथ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी)/दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) को लागू किया जाना चाहिए।

देश के कई भागों में डॉक्टरों के विरुद्ध हिंसा की हालिया घटनाओं पर चिंता व्यक्त करते हुए हर्षवर्धन ने कहा कि इस वजह से डॉक्टरों की हड़ताल से स्वास्थ्य सुविधा सेवाओं पर काफी असर पड़ा है।

--आईएएनएस

06:29 PM

बिहार के मुजफ्फरपुर में इंसेफेलाइटिस से और 12 मरे, अब तक 69 बच्चों की मौत

पटना, 15 जून (आईएएनएस)। बिहार में शनिवार को 12 और बच्चों की मौत के बाद एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) से मरने वालों की संख्या 69 हो गई है।

राज्य स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव संजय कुमार ने सरकारी दौरा कर इस बात की पुष्टि की कि जून माह में अब तक एईएस से मरने वालों की संख्या 69 हो गई है।

इससे पहले बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने शुक्रवार को आंकड़ा 57 बताया था, लेकिन पिछले 24 घंटों में 12 और बच्चों की मौत हो गई है। सभी का इलाज पटना से 75 किलोमीटर दूर मुजफ्फरपुर के अस्पताल में चल रहा था।

अनाधिकारिक तौर पर हालांकि अब तक 80 से अधिक बच्चों की मौत होने की खबर है। कुछ बच्चों की मौत अस्पताल में भर्ती होने से पहले उनके गांव में ही हो गई थी।

खबरों के मुताबिक, एईएस से बेगूसराय जिले में दो बच्चों की मौत हो गई और तीन की मौत शनिवार को पूर्वी चंपारण जिले में हुई।

--आईएएनएस

06:04 PM
 मोदी ने कृषि में संरचनात्मक सुधारों के लिए उच्चस्तरीय समिति घोषित की

मोदी ने कृषि में संरचनात्मक सुधारों के लिए उच्चस्तरीय समिति घोषित की

नई दिल्ली, 15 जून (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कृषि में संरचनात्मक सुधारों की सिफारिश के लिए एक उच्चस्तरीय समिति की घोषणा की, जिसमें मुख्यमंत्रियों को शामिल किया जाएगा। साथ ही उन्होंने राज्यों से 2024 तक भारत को 50 खरब डॉलर (5,000 अरब डॉलर) की अर्थव्यवस्था बनाने में योगदान देने का आग्रह किया।

नीति आयोग की शासी परिषद की 5वीं बैठक में अपनी समापन टिप्पणी में उन्होंने एक भारत, श्रेष्ठ भारत अंब्रेला के तहत विभिन्न राज्यों के निवासियों के बीच आपसी संपर्क बढ़ाने का आह्वान किया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि वैश्विक परिस्थितियां वर्तमान में भारत को एक अनूठा अवसर प्रदान करती हैं, क्योंकि देश खुद को ईज ऑफ डुइंग बिजनेस जैसे वैश्विक बेंचमार्क पर स्थापित कर रहा है।

उन्होंने कहा, हमें 2024 तक भारत को 50 खरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का प्रयास जल्द से जल्द शुरू करना चाहिए। इस उद्देश्य के लिए, राज्यों को अपनी अर्थव्यवस्था को 2 से 2.5 गुना बढ़ाने का लक्ष्य रखना चाहिए। इसके परिणामस्वरूप आम आदमी की क्रय शक्ति बढ़ जाएगी।

मोदी ने मुख्यमंत्रियों से अपने राज्य की निर्यात क्षमता का अध्ययन करने और निर्यात संवर्धन पर काम करने का आह्वान किया।

कृषि में संरचनात्मक सुधारों पर समिति के बारे में प्रधानमंत्री ने कहा कि इसमें कुछ मुख्यमंत्रियों को भी शामिल किया जाएगा और इस विषय पर समग्र दृष्टिकोण लिया जाएगा।

केंद्र में बनाए गए दो नए मंत्रालयों और एक नए विभाग के निर्माण का उल्लेख करते हुए, उन्होंने कहा कि गृह मंत्रालय में द्वीप विकास विभाग, लगभग 1,300 द्वीपों के विकास पर काम करेगा जो भारत का हिस्सा हैं।

उन्होंने तटवर्ती राज्यों से आग्रह किया कि वे समुद्र तट से सटे द्वीपों के संबंध में एक पहल करें।

प्रधानमंत्री ने कहा कि खनन क्षेत्र रोजगार के महत्वपूर्ण अवसर प्रदान कर सकता है, लेकिन उन्होंने याद दिलाया कि कई राज्यों में खदानों के परिचालन में अड़चनें अभी भी बनी हुई हैं।

उन्होंने कहा, नीति आयोग इन मुद्दों पर काम कर रहा है।

उन्होंने राज्यों को समय-समय पर आकांक्षी जिलों की प्रगति की समीक्षा करने का भी आह्वान किया और कहा कि आकांक्षी जिलों में शासन के एक नए मॉडल को स्थापित करने की आवश्यकता है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार राज्यों के साथ साझेदारी करने और भारत के विकास के लिए मिलकर काम करने की इच्छुक है।

उन्होंने कहा कि भारत को अपनी पानी की समस्याओं को हल करने के लिए प्राथमिकता देने और सही कदम उठाने की आवश्यकता है।

प्रधानमंत्री ने गंगा नदी बेसिन प्राधिकरण के लिए एक परिणाम आधारित दृष्टिकोण का आह्वान किया।

--आईएएनएस

10:35 PM
Stock Exchange
Live Cricket Score

Create Account



Log In Your Account