• Last Updates : 10:46 PM
Last Updated At :- 16-12-2018 09:08 PM

माइक्रोसॉफ्ट का सर्फेस गो प्री-ऑर्डर के लिए फ्लिपकार्ट पर उपलब्ध

नई दिल्ली, 15 दिसंबर (आईएएनएस)। एप्पल आईपैड प्रो और सैमसंग गैलेक्सी टैब एस4 से टक्कर लेने के मकसद से माइक्रोसॉफ्ट ने शनिवार को भारत में सबसे छोटा और किफायती सर्फेस गो उपकरण पेश किया, जिसकी शुरुआती कीमत 38,599 रुपये रखी गई है।

कंपनी ने एक बयान में कहा, वजन में मात्र 1.15 पाउंड का और 8.3 मिमी पतला, यह 10.इंच का टू इन वन डिवाइस फ्लिपकार्ट के साथ प्री-ऑर्डर के लिए उपलब्ध है।

4जीबी रैम व 64 जीबी इंटरनल स्टोरेज वाले सर्फेस गो की कीमत 38,599 रुपये जबकि 8जीबी रैम व 128जीबी वाले संस्करण की कीमत 50,999 रुपये रखी गई है।

सर्फेस गो टाइप कवर (ब्लैक) के लिए अतिरिक्त 8,699 रुपये और सिग्नेचर टाइप कवर (रंगीन) के लिए 11,799 रुपये चुकाने होंगे।

माइक्रोसॉफ्ट ने इस साल की शुरुआत में सर्फेस गो को वैश्विक स्तर पर लॉन्च किया था।

एक कार्यकुशल 2इन1 उपकरण, जो दबाव की संवेदनशीलता के 4,096 के स्तर के साथ सर्फेस पेन1 से लिखना सक्षम बनाता है।

7वें जनरेशन इंटेल पेंटियम गोल्ड प्रोसेसर 4415वाई द्वारा संचालित, सर्फेस गो गोरिल्ला ग्लास से सुरक्षित है और इसमें नौ घंटे तक चलने वाली बैटरी है।

सर्फेस गो में ग्राहकों की जरूरत के अनुसार पोर्ट्स भी दिये गए हैं, जिसमें चार्जिग और डॉकिंग करने के लिए सर्फेसकनेक्टय डेटा, वीडियो और चार्जिग के लिए यूएसबी- सी 3.1, एक हेडफोन जैक और स्टोरेज को बढ़ाने के लिए एक माइक्रोएसडी कार्ड रीडर शामिल है।

जिन उपयोगकर्ताओं को वीडियो कॉल के माध्यम से कनेक्टिविटी की आवश्यकता होती है, उनके लिए सर्फेस गो में 5 मेगापिक्सल एचडी कैमरा और रीयर ऑटो फोकस 8.0.मेगापिक्सल एचडी कैमरा है। जिसके साथ-साथ दो माइक्रोफोन भी दिए गए हैं।

 स्टरलाइट संयंत्र खोलने के आदेश के खिलाफ अपील करेगी तमिलनाडु सरकार

स्टरलाइट संयंत्र खोलने के आदेश के खिलाफ अपील करेगी तमिलनाडु सरकार

चेन्नई, 15 दिसम्बर (आईएएनएस)। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के. पलनीस्वामी ने शनिवार को कहा कि राज्य सरकार, राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण (एनजीटी) के तूतीकोरिन स्थित वेदांता समूह के स्टरलाइट कॉपर प्लांट को फिर से खोलने के आदेश के खिलाफ अपील करेगी।

यहां से 360 किलोमीटर दूर सलेम में संवाददाताओं से बातचीत में पलनीस्वामी ने कहा कि राज्य सरकार ने स्टरलाइट संयंत्र को बंद करने का आदेश दिया था।

पलनीस्वामी ने कहा, राज्य सरकार एनजीटी के आदेश के खिलाफ अपील करेगी।

तमिलनाडु के पर्यावरण एवं प्रदूषण नियंत्रण मंत्री के.सी. करुप्पन्नन ने भी समान विचार व्यक्त किए हैं।

करुप्पन्नन ने संवाददाताओं से कहा कि मुख्यमंत्री के. पलनीस्वामी ढृढ़ता से स्टरलाइट तांबा संयंत्र को बंद करने के पक्ष में हैं। उन्होंने कहा, राज्य सरकार सर्वोच्च न्यायालय में एनजीटी के आदेश को चुनौती देगी।

इसबीच पीएमके के संस्थापक एस. रामदास ने कहा कि एनजीटी का फैसला अपेक्षित है और इसमें कुछ भी चौंकाने वाला नहीं है।

रामदास ने कहा कि तांबा संयंत्र को फिर से खोलने का आदेश दिखाता है कि कॉर्पोरेट प्रभुत्व जीत गया है।

रामदास के मुताबिक, राज्य सरकार की संयंत्र को बंद करने में कोई रुचि नहीं है, बल्कि संयंत्र को बंद करने का आदेश इस साल 22 मई को पुलिस गोलीबारी में 13 लोगों की मौत के बाद हालात को काबू करने के लिए दिया गया था।

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) के तमिलनाडु राज्य सचिव आर. मुथरासन ने कहा कि एनजीटी का आदेश हैरान और निराश कर देने वाला है।

--आईएएनएस

09:08 PM
Stock Exchange
Live Cricket Score

Create Account



Log In Your Account