• Last Updates : 04:29 PM

हैदराबाद में कड़ी सुरक्षा के बीच गणेश विसर्जन जारी

हैदराबाद, 23 सितम्बर (आईएएनएस)। हैदराबाद में रविवार को कड़ी सुरक्षा के बीच गणेश विसर्जन जारी है।

11 दिवसीय उत्सव की समाप्ति के बाद हैदराबाद के विभिन्न इलाकों से गणेश की सैंकड़ों प्रतिमाओं को जलाशयों में विसर्जित करने के लिए लोगों को ले जाते हुए देखा जा रहा है।

हजारों लोग शोभा यात्रा में हिस्सा ले रहे हैं और बालापुर से हुसैनगर तक विसर्जन जुलूस के रूप में लोगों को सड़कों पर देखा जा रहा है।

कड़ी पुलिस सुरक्षा के साथ भगवान गणेश की अलग-अलग आकार की प्रतिमाओं को उद्घोश के साथ विसर्जित करने के लिए ले जाया जा रहा है।

पूरे दिन चलने वाले विसर्जन कार्यक्रम में 15 लाख से अधिक लोगों के भाग लेने की उम्मीद है।

अधिकारियों के अनुसार, 14,000 प्रतिमाओं को पंडालों में स्थापित किया गया था और इतनी ही संख्या में गैर पंजीकृत प्रतिमाएं भी सार्वजनिक स्थानों पर स्थापित की गईं थीं।

हुसैन नगर में सर्वाधिक गणेश प्रतिमाएं स्थापित की गई थीं।

बालापुर में मुख्य समारोह पारंपरिक लड्डू की नीलामी के साथ शुरू हुआ। एक स्थानीय निवासी श्रीनिवास गुप्ता ने 16 लाख रुपये में यह लड्डू खरीदा।

पुलिस महानिदेशक महेंद्र रेड्डी और अन्य शीर्ष अधिकारियों ने हैदराबाद और तेलंगाना के बड़े कस्बों में विसर्जन कार्यक्रम पर बराबर नजर बना रखी है।

पुलिस प्रमुख ने कहा कि वे जुलूसों के शांतिपूर्ण और सुचारु रूप से संपन्न कराने के लिए प्रभावी निगरानी हेतु तकनीक का उपयोग कर रहे हैं।

केवल हैदराबाद में 2.5 लाख सर्विलांस कैमरे बालापुर से हुसैननगर के बीच निगरानी के लिए लगाए गए हैं।

लगातार दूसरे साल सबसे ऊंची गणेश प्रतिमा की भी विसर्जन यात्रा शुरू हो गई है। 57 फुट ऊंची गणेश प्रतिमा को खैराटाबाद में स्थापित किया गया था, जिसे ट्रेलर ट्रक से विसर्जन करने के लिए ले जाया जा रहा है।

ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (डीएचएमसी) ने पिछले दो दिनों से 10,000 स्वच्छता कर्मियों की तैनाती कर रखी है।

डीएचएमसी के आयुक्त एम. दाना किशोर के अनुसार, विसर्जन से जुड़े सभी मार्गो के साथ प्रति तीन किलोमीटर के दायरे में एक त्वरित कार्रवाई दल की तैनाती की गई है।

राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) की दो टीमों, 38 दमकलकर्मियों, 12 नौका, 10 तैराकों को भी आपात स्थिति के लिए तैनात किया गया है।

--आईएएनएस

04:03 PM

संशय भरे आधुनिक युग में हिंदू आदर्श धर्म : थरूर (लीड-1)

न्यूयॉर्क, 21 सितंबर (आईएएनएस)। कांग्रेस सांसद व लेखक शशि थरूर के अनुसार, हिंदू एक अनोखा धर्म है और यह संशय के मौजूदा दौर के लिए अनुकूल है। थरूर ने धर्म के राजनीतिकरण की बखिया भी उधेड़ी।

न्यूयॉर्क में जयपुर साहित्य महोत्सव के एक संस्करण में के बातचीत सत्र के दौरान गुरुवार को थरूर ने कहा, हिंदूधर्म इस तथ्य पर निर्भर करता है कि कई सारी बातें ऐसी हैं जिनके बारे में हम नहीं जानते हैं।

मौजूदा दौर में इसके अनुकूल होने को लेकर उन्होंने कहा, पहली बात यह अनोखा तथ्य है कि अनिश्चितता व संशय के युग में आपके पास एक विलक्षण प्रकार का धर्म है जिसमें संशय का विशेष लाभ है।

सृजन के संबंध में उन्होंने कहा, ऋग्वेद वस्तुत: बताता है कि ब्रह्मांड की उत्पत्ति कहां से हुई, किसने आकाश और धरती सबको बनाया, शायद स्वर्ग में वह जानता हो या नहीं भी जानता हो।

उन्होंने कहा, वह धर्म जो सर्वज्ञानी सृजनकर्ता पर सवाल करता हो वह मेरे विचार से आधुनिक और उत्तर आधुनिक चैतन्य के लिए अनोखा धर्म है।

उन्होंने कहा, उससे भी बढ़कर आपके पास असाधारण दर्शनग्रहण है और चूंकि कोई नहीं जानता कि भगवान किस तरह दिखते हैं इसलिए हिंदूधर्म में हर कोई भगवान की कल्पना करने को लेकर स्वतंत्र है।

कांग्रस सांसद और व्हाइ आई एम हिंदू के लेखक ने उन लोगों का मसला उठाया जो स्त्री-द्वेष और भेदभाव आधारित धर्म की निंदा करते हैं।

मनु की आचार संहिता के बारे में उन्होंने कहा, इस बात के बहुत कम साक्ष्य हैं। क्या उसका पालन किया गया और इसके अनेक सूत्र विद्यमान हैं।

उन्होंने उपहास करते हुए कहा, इन सूत्रों में मुझे नहीं लगता कि हर हिंदू कामसूत्र की भी सलाह मानते हैं।

थरूर ने कहा, प्रत्येक स्त्री विरोधी या जातीयता कथन (हिंदू धर्मग्रंथ में) के लिए मैं आपको समान रूप से पवित्र ग्रंथ दे सकता हूं, जिसमें जातीयता के विरुद्ध उपदेश दिया गया है।

--आईएएनएस

08:50 PM

नन दुष्कर्म मामला : बिशप से लगातार तीसरे दिन भी पूछताछ

त्रिपुनीथुरा (केरल), 21 सितंबर (आईएएनएस)।केरल पुलिस ने नन के साथ दुष्कर्म के मामले में गुरुवार को लगातार तीसरे दिन आरोपी बिशप फ्रैंको मुलक्कल से पूछताछ की।

इस बीच बिशप की गिरफ्तारी की मांग बढ़ती जा रही है।

केरल की एक नन ने मुलक्कल पर 2014 से 2016 के बीच लगातार दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। कोच्चि में पिछले 13 दिनों से नन मुलक्कल की गिरफ्तारी के लिए विरोध प्रदर्शन कर रही हैं।

जालंधर में रोमन कैथोलिक डिओसिस के बिशप से बुधवार और गुरुवार को भी अपराध शाखा के कार्यालय में पूछताछ हुई थी।

पुलिसबलों की भारी तैनाती के बीच बिशप मुलक्कल अपने वकील और कुछ पादरियों के साथ सुबह लगभग 10.45 बजे अपराध शाखा के ऑफिस पहुंचे थे।

मुख्यमंत्री पिनराई विजयन इलाज के लिए अमेरिका जा रहे हैं इसलिए उद्योग मंत्री ई.पी. जयराजन उनके स्थान पर पदभार संभाल रहे हैं। उन्होंने मीडिया से कहा कि जांच सही दिशा में आगे बढ़ रही है।

उन्होंने कहा, राज्य सरकार हमेशा ही पीड़िता के साथ रही है और जिसने भी गलत किया है, उसे इसका अंजाम भुगतना होगा।

पुलिस की जाच टीम का नेतृत्व कर रहे कोट्टायम पुलिस प्रमुख हरिशंकर ने शुक्रवार को मीडिया से कहा कि वह फिलहाल गिरफ्तारी को लेकर कुछ भी बताने की स्थिति में नहीं हैं।

हरिशंकर ने कहा, पूछताछ के बाद ही इस पर फैसला होगा। यह पूरी तरह से जांच अधिकारी का विशेषाधिकार है और किसी से भी अनुमति लेने की आवश्यकता नहीं है। हमने पहले ही कानूनी विशेषज्ञों से परामर्श लिया है।

उन्होंने पुलिस महानिरीक्षक विजय साखरे से भी मुलाकात की।

बीते दो दिनों से पुलिस उपाधीक्षक के. सुभाष जांच अधिकारी हैं। उन्होंने ही पहली बार जालंधर में बिशप से पूछताछ की थी।

केरल उच्च न्यायालय बिशप की अग्रिम जमानत याचिका पर 25 सितंबर को सुनवाई करेगा।

--आईएएनएस

12:34 PM

श्रीनगर में मुहर्रम जुलूस के मद्देनजर प्रतिबंध

श्रीनगर, 21 सितंबर (आईएएनएस)। जम्मू एवं कश्मीर प्रशासन ने श्रीनगर के कुछ हिस्सों में 10वें मुहर्रम जुलूस को रोकने के लिए शुक्रवार को प्रतिबंध लागू कर रखा है।

प्रतिबंध शहर के पुराने इलाकों रैनवाड़ी, नौहट्टा, खानयार, एम.आर.गंज और सफा कदल में लगाए गए हैं, जबकि कोठीबाग क्षेत्र में आंशिक रूप से प्रतिबंध लगाए गए हैं।

साल 1989 से प्रशासन ने सुरक्षा कारणों से मुहर्रम के 8वें और 10वें जुलूस को निकालने की अनुमति नहीं दी है।

शिया मुस्लिम पैगंबर मोहम्मद के नाती इमाम हुसैन की शहादत की याद में मुहर्रम महीने के 10वें दिन जुलूस निकालते हैं।

--आईएएनएस

10:16 AM

मैन बुकर प्राइज की 6 लोगों की सूची में चार महिलाएं शामिल

लंदन, 20 सितम्बर (आईएएनएस)। उपन्यास के लिए मैन बुकर प्राइज-2018 की गुरुवार को घोषित छह लेखकों की सूची में चार महिलाएं शामिल हैं। बुकर प्राइज के लिए घोषित इस सूची में एन्ना बर्न्‍स, एसी एड्यूग्यान, डेजी जॉनसन, रचेल कुशनर, रिचर्ड पावर्स और रॉबिन रॉबर्स्टन को शामिल किया गया है।

प्राइज के प्रायोजक मैन ग्रुप के दफ्तर में एक प्रेसवार्ता के दौरान जजों के प्रमुख क्वामी एंथोनी अप्पिया ने इस सूची की घोषणा की।

उन्होंने कहा, अंतिम सूची में शामिल हमारे सभी छह लेखकों की रचना शैली अद्भुत हैं। इनमें से हरेक में भाषा प्रमुख हैं। अन्य मामलों में भी इनकी विविधता और विषयों की बहुतायत और देश-काल की चर्चा उल्लेखनीय हैं।

सूची में चार महिलाएं और दो पुरुषों को शामिल किया गया है।

मैन बुकर प्राइज के लिए अंग्रेजी में लिखने वाले किसी भी देश के लेखक को शामिल किया जाता है जिनकी रचना यूके और आयरलैंड में प्रकाशित हुई हों। बुकर प्राइज-2018 के विजेता की घोषणा 16 अक्टूबर को लंदन के गिल्डहॉल में की जाएगी।

--आईएएनएस

10:41 PM

अलीबाबा का रोबोट होटलों में खाना परोसेगा

हांगझो (चीन), 20 सितम्बर (आईएएनएस)। चीन की ई-टेलर दिग्गज अलीबाबा ने गुरुवार को एक रोबोट पर से परदा हटाया, जो जल्द ही चीन के होटलों में मेहमानों को खाना परोसेगा।

कंपनी ने यहां अपने सालाना क्लाउड कंप्यूटिंग कांफ्रेंस 2018 में कहा, रोबोटिक्स उद्योग दुनिया में क्रांति ला रही है और अलीबाबा कृत्रिम बुद्धिमत्ता (एआई) लैब उद्योग के नए मानक गढ़ते हुए आतिथ्य उद्योग के लिए सर्विस रोबोट लांच करेगा, जो अक्टूबर से उपलब्ध होंगे।

इस रोबोट का निर्माण अलीबाबा की एआई उत्पाद विकास इकाई अलीबाबा एआई लैब्स ने किया है।

अलीबाबा एआई लैब के महाप्रबंधक लियुआन चेन ने कहा, यह रोबोट ग्राहकों की जरूरत पूरा करने में लगने वाले समय को कम करेगा। यह स्मार्ट होटल के विकास का अगला कदम है।

होटल में ठहरने वाले मेहमान बोल कर इस रोबोट को बोलकर, टच कर या इशारे से कमांड दे सकेंगे। इसका जवाब रोबो एलीजीनी के माध्यम से देगी। अलीबाबा के स्मार्ट स्पीकर टीमाल जीनी में लगे सॉफ्टवेयर का नाम एलीजीनी है।

--आईएएनएस

08:09 PM

तीन तलाक पर अध्यादेश अलोकतांत्रिक : माकपा

नई दिल्ली, 20 सितम्बर (आईएएनएस)। केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा तीन तलाक पर पारित किए गए अध्यादेश को अलोकतांत्रिक बताते हुए मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने गुरुवार को कहा कि इस अध्यादेश को पारित करना संसद को दरकिनार करने के समान है जहां यह बिल अभी भी लंबित है।

माकपा ने एक बयान में कहा, केंद्र सरकार द्वारा लाया गया यह अध्यादेश मुस्लिम महिलाओं के कल्याण के लिए नहीं बल्कि राजनीतिक उद्देश्य को पूरा करने से प्रेरित है।

बयान के अनुसार, विधेयक राज्यसभा में लंबित है और अभी इस पर न केवल पूर्ण चर्चा बाकी है बल्कि इस पर प्रवर समिति का निष्कर्ष भी आना बाकी है। यह अध्यादेश संसद को दरकिनार कर उठाया गया अलोकतांत्रिक कदम है।

माकपा ने कहा कि तलाक-ए-बिद्दत या तत्काल तीन तलाक को सर्वोच्च न्यायालय ने पहले ही गैरकानूनी घोषित कर दिया था, लेकिन नरेंद्र मोदी सरकार ने एक एक सामान्य सिविल मामले को जेल की सजा का प्रावधान शामिल कर उसे आपराधिक मामला बना दिया है।

माकपा ने कहा, यह व्यर्थ का कदम है जो प्रभावित मुस्लिम महिलाओं के संरक्षण में कोई मदद नहीं करेगा। विधेयक में कई अन्य खामियां हैं जिनमें संशोधन किया जाना जरूरी है। अध्यादेश सत्तारूढ़ दल (भाजपा) के राजनीतिक उद्देश्यों को पूरा करने के लिए बनाया गया है। इस संबंध में संसद को एक संशोधित कानून लाना चाहिए।

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को तीन तलाक को एक आपराधिक कृत्य के दायरे में लाने वाले अध्यादेश को मंजूरी दे दी। यह अध्यादेश अब राष्ट्रपति के पास मंजूरी के लिए भेजा जाएगा।

सरकार इस विधेयक को लोकसभा में पारित करा चुकी है लेकिन राज्यसभा में यह पास नहीं हो सका है। सरकार का कहना है कि अध्यादेश की जरूरत इसलिए पड़ी क्योंकि सर्वोच्च न्यायालय द्वारा इसे असंवैधानिक घोषित करने के बावजूद तीन तलाक का दिया जाना लगातार जारी है।

--आईएएनएस

06:30 PM

गोवा : पर्रिकर की सेहत खातिर भाजपा दफ्तर में कुरान खवानी

पणजी, 20 सितंबर (आईएएनएस)। गोवा में विभिन्न मस्जिदों के दस मौलानाओं ने बीमार चल रहे मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के जल्द स्वस्थ होने की कामना के साथ भाजपा कार्यालय में कुरान खवानी की।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अल्पसंख्यक मोर्चा के अध्यक्ष शेख जिना ने आईएएनएस को बताया, हमने पूरे गोवा के मौलाना को कुरान खवानी करने के लिए बुलाया था। उन्होंने भाजपा के दक्षिणी गोवा स्थित मुख्यालय में हमारे मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के जल्द ठीक होने की आयत-ए-दुआ पढ़ी।

पर्रिकर का दिल्ली में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में पैंक्रियाटिक कैंसर का इलाज चल रहा है।

शेख ने कहा कि पर्रिकर ने गोवा में अल्पसंख्यक मुस्लिम समुदाय की समस्याओं का हल किया था, जिसमें गोवा को हज यात्रा के लिए एम्बार्केशन पॉइंट बनाना वगैरह शामिल है।

फरवरी में पर्रिकर के कैंसर से पीड़ित होने के बाद से राज्य की राजधानी पणजी के कई मंदिरों और गिरिजाघरों में भी सार्वजनिक प्रार्थनाओं का आयोजन किया गया है।

वहीं, भाजपा और उनके गठबंधन घटक बीमार चल रहे पर्रिकर के स्थान पर मुख्यमंत्री पद के विकल्प पर विचार कर रहे हैं।

--आईएएनएस

03:41 PM

नन दुष्कर्म मामला : बिशप के साथ दूसरे दिन भी पूछताछ जारी

त्रिपुनीथुरा (केरल), 20 सितंबर (आईएएनएस)। केरल पुलिस ने नन के साथ दुष्कर्म के मामले में गुरुवार को लगातार दूसरे दिन आरोपी बिशप फ्रैंको मुलक्कल से पूछताछ की।

जालंधर में रोमन कैथोलिक डिओसिस के बिशप से बुधवार को अपराध शाखा के कार्यालय में लगभग सात घंटे तक पूछताछ हुई थी। उन्हें गुरुवार को दोबारा पूछताछ के लिए बुलाया गया था।

बिशप मुलक्कल अपने वकील और कुछ पादरियों के साथ गुरुवार सुबह लगभग 11 बजे अपराध शाखा के ऑफिस पहुंचे थे। बिशप की गिरफ्तारी की मांग बढ़ती जा रही है और कोच्चि में पिछले 13 दिनों से नन विरोध प्रदर्शन कर रही हैं।

बिशप ने कोच्चि के एक आलीशान होटल में रात बिताई थी।

वहीं, बुधवार की ही तरह पूछताछ से पहले पुलिस महानिरीक्षक विजय साखरे, कोट्टयम के पुलिस अधीक्षक हरिशंकर और पुलिस उपाधीक्षक के. सुभाष ने कोच्चि के आईजी कार्यालय में बैठक की।

केरल उच्च न्यायालय 25 सितंबर को बिशप की अग्रिम जमानत याचिका पर सुनवाई करने के लिए राजी हो गया।

केरल की एक नन ने मुलक्कल पर 2014 से 2016 के बीच लगातार दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है।

--आईएएनएस

01:19 PM

अंग्रेजी से दुश्मनी की जरूरत नहीं : भागवत

नई दिल्ली, 19 सितम्बर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत ने बुधवार को यहां कहा कि लोगों को स्थानीय भाषा को महत्व देने के लिए अंग्रेजी भाषा से दुश्मनी करने की कोई जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि अंग्रेजी की श्रेष्ठता का विचार सिर्फ उनके दिमाग में है।

यहां विज्ञान भवन में भविष्य का भारत : आरएसएस का एक दृष्टिकोण सम्मेलन के अंतिम दिन एक प्रश्न के जवाब में भागवत ने कहा, दैनिक कार्यो में अंग्रेजी का वर्चस्व नहीं है, इसका वर्चस्व हमारे दिमाग में है। हमें अपनी मातृभाषा का सम्मान करना शुरू करना होगा।

उन्होंने कहा, सभी को अपनी भाषा में प्रवीणता लानी चाहिए। हमें किसी भाषा से दुश्मनी करने की जरूरत नहीं है।

आरएसएस प्रमुख ने कहा कि लोगों को अंग्रेजी भाषा को त्यागने की जरूरत नहीं है, बल्कि दिमाग में जो इसका पागलपन भरा है, उसे मिटाने की जरूरत है।

उन्होंने कहा, अंग्रेजी को हटाने की कोई जरूरत नहीं है, इसे वहीं रहने दो जहां वह अभी है। हमें अंग्रेजी का पागल हटाने की जरूरत है, जो हमारे दिमाग में है। एक अंतर्राष्ट्रीय भाषा के रूप में इसकी प्रतिष्ठा को बहुत बढ़ा-चढ़ा कर पेश किया गया है.. यहां तक कि अमेरिकी भी अंग्रेजी बोलते हैं, लेकिन वे अंग्रेजी भाषा के अपने ब्रांड पर जोर देते हैं। फ्रांस के लोग फ्रेंच बोलते हैं। अगर आप इजरायल जाएं तो आपको हिब्रू सीखनी पड़ेगी। रूस जाने से पहले आपको रूसी भाषा सीखनी पड़ेगी।

उन्होंने लोगों को कम से कम एक भारतीय भाषा सीखने की सलाह दी तथा हिंदी को राष्ट्रीय भाषा बनाने के लिए कानून लाने की बात को खारिज कर दिया।

भागवत ने कहा, अन्य भाषाओं पर एक भाषा लागू करना कड़वाहट पैदा करता है.. लेकिन जल्द ही एक मात्र राष्ट्रीय भाषा होगी और सभी प्रशासनिक कार्य उसी भाषा में होंगे।

राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर उन्होंने कहा कि यह व्यापक रूप से भारतीय परंपरा और आधुनिक शिक्षा पद्धतियों के उपयोगी तत्वों पर आधारित होनी चाहिए।

उन्होंने शिक्षा की वर्तमान स्थिति पर खेद व्यक्त किया और महज डिग्री लेने की अपेक्षा व्यावसायिक शिक्षा में निपुणता पर जोर दिया।

उन्होंने यह भी माना कि देश में अनुसंधान का स्तर कम है।

--आईएएनएस

10:30 PM
 इन्फोसिस डिजाइन करेगी जीएसटी रिटर्न का नया फॉर्म

इन्फोसिस डिजाइन करेगी जीएसटी रिटर्न का नया फॉर्म

बेंगलुरु, 22 सितम्बर (आईएएनएस)। वस्तु एवं सेवा कर नेटवर्क (जीएसटीएन) के तकनीकी मामलों की समीक्षा के लिए गठित मंत्री समूह के प्रमुख सुशील कुमार मोदी ने शनिवार को कहा कि जीएसटी ने अपने सॉफ्टवेयर वेंडर (प्रदाता) इन्फोसिस को व्यापारियों द्वारा रिटर्न दाखिल करने के लिए नया फॉर्म डिजाइन करने का निर्देश दिया है।

नेटवर्क की कार्यप्रणाली की समीक्षा के लिए हुई मंत्रिसमूह की 10वीं बैठक के बाद सुशील कुमार मोदी ने यहां संवाददाताओं को बताया, हमने जीएसटी परिषद के सुझाव के अनुसार नेटवर्क पर व्यापारियों द्वारा रिटर्न दाखिल करने को सरल बनाने के लिए इन्फोसिस को नया फॉर्म डिजाइन करने का निर्देश दिया है।

बिहार के उपमुख्यमंत्री और मंत्रिसमूह के प्रमुख मोदी ने कहा, हमने अगले चार से छह महीने में नया सरलीकृत जीएसटी फार्म लागू करने की योजना बनाई है जिससे डीलर या व्यापारी को नेटवर्क के माध्यम से अप्रत्यक्ष कर का भुगतान करने में लाभ मिलेगा।

मंत्रिसमूह ने छोटे करदाताओं के लिए यूनीफॉर्म अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर विकसित करने के लिए देशभर से 18 कंपनियों को चिन्हित किया।

मोदी ने कहा, जीएसटी रिटर्न दाखिल करने में समानता सुनिश्चित करने के लिए सभी छोटे व्यापारियों को नया सॉफ्टवेयर प्रदान किया जाएगा।

जीएसटी परिषद ने जैसाकि फैसला लिया है कि ई-कॉमर्स कंपनियां एक अक्टूबर से प्रभावी स्रोत पर कर कटौती (टीडीएस) और स्रोत पर संग्रहित कर (टीसीएस) का भुगतान करेंगी।

केंद्र सरकार ने 13 सितंबर को केंद्रीय जीएसटी (सीजीएसटी) अधिनियम की धारा 52 के तहत टीडीएस और टीसीएस के प्रावधानों को लागू करने के लिए एक अक्टूबर की तारीख अधिसूचित की थी।

ई-कॉमर्स कंपनियों को 2.5 लाख रुपये से अधिक की अंतर्राज्यीय आपूर्ति पर एक फीसदी तक राज्य जीएसटी और एक फीसदी केंद्रीय जीएसटी के लिए टीडीएस कटौती करनी है।

वहीं, 2.5 लाख रुपये से अधिक की अंतर्राज्यीय आपूर्ति पर दो फीसदी समेकित जीएसटी की कटौती की जाएगी।

--आईएएनएस

10:55 PM
Stock Exchange
Live Cricket Score

Create Account



Log In Your Account