• Last Updates : 09:33 PM

पूर्वोत्तर में कनेक्टिविटी सुधारने पर 10743 करोड़ रुपये का निवेश होगा

गुवाहाटी, 16 जनवरी (आईएएनएस)। सरकार ने मंगलवार को कहा कि पूर्वोत्तर राज्यों में दूरसंचार नेटवर्क सुधारने पर 10,743 करोड़ रुपये का निवेश किया जाएगा। इसके तहत क्षेत्र के राष्ट्रीय राजमार्गो पर भी दूरसंचार नेटवर्क मुहैया कराया जाएगा।

केंद्रीय दूरसंचार मंत्री जयंत सिन्हा ने यह घोषणा गुवाहाटी में भारतनेट और पूर्वोत्तर क्षेत्र की अन्य प्रमुख दूरसंचार परियोजनाओं की समीक्षा के दौरान की।

सिन्हा ने कहा, पूर्वोत्तर राज्यों में विभिन्न परियोजनाओं पर 10,743 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे, ताकि क्षेत्र के विभिन्न गांवों में मोबाइल नेटवर्क कनेक्टिविटी का विस्तार किया जा सके। मुझे उम्मीद है कि इनमें से ज्यादातर परियोजनाएं दिसंबर (2018) तक पूरी हो जाएंगी।

उन्होंने कहा, दूरसंचार आयोग ने हाल की बैठक में पूर्वोत्तर राज्यों में भारतनेट परियोजना को लागू करने ेके लिए एक व्यापक रणनीति को मंजूरी दी है। इसके तहत पूर्वोत्तर के 4,240 ग्राम पंचायतों को दिसंबर तक ब्राडबैंड और सैटेलाइट कनेक्टिविटी प्रदान की जाएगी।

उन्होंने आगे कहा कि व्यापक दूरसंचार विकास परियोजना के तहत पूर्वोत्तर क्षेत्र में 6,673 टॉवर लगाए जाएंगे, जिससे 8,621 गांवों और राष्ट्रीय राजमार्गो को कनेक्टिविटी मिलेगी।

--आईएएनएस

07:41 PM

कैनन इंडिया ने 6 नए प्रिंटर उतारे

नई दिल्ली, 16 जनवरी (आईएएनएस)। साल 2017 में दोहरे अंकों का उल्लेखनीय विकास हासिल करने के बाद कैनन इंडिया ने मंगलवार को भारतीय बाजार में छह नए प्रिंटर लांच किए। ये प्रिंटर पिक्समा जी इंक टैंक सीरीज के तहत उतारे गए हैं।

नए पिक्समा जी सीरीज के तहत 8,195 रुपये से लेकर 17,425 रुपये तक के रेंज में प्रिंटर लांच किए गए हैं, जिसमें जी 1010, जी 2010, जी 2012, जी 3010, जी 3012 और जी 4010 शामिल हैं।

कैनन इंडिया के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी काजुतदा कोबायाशी ने यहां संवाददाताओं से कहा, नई पिक्समा जी सीरीज के प्रिंटर की यह पेशकश उत्कृष्ट गुणवत्ता वाला प्रिंटिंग अनुभव मुहैया कराने की एक और कोशिश है। इसके साथ कम लागत, उच्च प्रदर्शन वाली प्रिंटिंग और मशीन का ज्यादा चलना (टिकना) भी शामिल है।

पिक्समा जी सीरीज के प्रत्येक प्रिंटर में सामने की ओर टैंक बने हुए हैं, जिन्हें जरूरत पड़ने पर भरा जा सकता है।

इससे स्याही की मात्रा पर नजर रखना आसान होता है और जब कभी जरूरत हो, देखा जा सकता है। स्याही की ये बोतलें एक ऐसे टॉप के साथ हैं, जिससे अंदर की स्याही छलकती नहीं है।

प्रिंटर का स्थायित्व भी बेहतर है, इससे ज्यादा प्रिंटिंग की आवश्यकता वाले कारोबारों को प्रिंटर कम समय खराब रहने का लाभ मिलेगा।

कैनन के हाईब्रिड इंक सिस्टम के साथ नए प्रिंटर इस तरह बनाए गए हैं कि उच्च रिजोल्यूशन वाली तस्वीरें बेजोड़ फोटो क्वालिटी में प्रिंट कर सकें, ताकि जीवंत तस्वीरें हासिल हों और लिखे हुए दस्तावेज पढ़ने में बिल्कुल साफ हों।

कोबायाशी ने कहा, हमारी उत्पाद संभावनाओं में लगातार नवीनता और बेहतरी होते रहने के कारण हम पिछले दो दशक के दौरान अपने ग्राहकों का भरोसा जीतने में कामयाब रहे हैं। हमें यह ऐलान करते हुए खुशी हो रही है कि 2017 में हमारा विकास दो अंकों में हुआ है और इस सफलता का श्रेय हमारे प्रमुख हितधारकों के निरंतर समर्थन को है।

नई कैनन पिक्समा जी सीरीज में एकीकृत इंकटैंक लगे हुए हैं। इससे प्रिंटर की चौड़ाई काफी कम हो गई है और उपभोक्ता को स्याही खूब अच्छी तरह दिखाई देती है। स्याही की बोतलें इस तरह डिजाइन की गई हैं कि इनसे स्याही का छलकना, गिरना या लीक करना संभव नहीं है। घर पर आसान उपयोग का आश्वासन देने वाले ये प्रिंटर इस तरह डिजाइन किए गए हैं कि इसमें रख-रखाव का खर्च कम है और कनेक्टिविटी बेहतर की गई है, जिससे उच्च गुणवत्ता वाली बिना बॉर्डर की पूरी प्रिंटिंग संभव है।

कैनन इंडिया के उपाध्यक्ष (कंज्यूमर इमेजिंग एंड इंफॉर्मेशन सेंटर) एड्डी युडागावा ने कहा, जी श्रृंखला के नए प्रिंटर अपनी बेहतर खासियतों के साथ किफायती कीमत पर उच्च उत्पादकता मुहैया कराते हैं और इस तरह यह छात्र, घर और छोटे ऑफिस के लिए एकदम उपयुक्त समाधान है।

कैनन इंडिया के निदेशक (कंज्यूमर सिस्टम प्रोडक्ट्स) सी सुकुमारन ने कहा, हमारी नई जी श्रृंखला कई अन्य खासियतों के साथ डायरेक्ट मोबाइल प्रिंटिंग संभव करती है। इससे आते-जाते प्रिंट करना संभव होता है। ज्यादा प्रिंट की जरूरत वाले कारोबारों की आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए नई पिक्समा जी सीरीज स्याही की चार बोतल के बंडल सेट से 6000 ब्लैक एंड व्हाइट और 7000 कलर प्रिंट देने में सक्षम है। इंक कार्टरिज को बदलने की आवश्यकता के बगैर कारोबार इंक सप्लाई की लागत कम कर सकते हैं साथ ही उपकरण के रख-रखाव में उन्हें कम समय लगाने की आवश्यकता होगी।

--आईएएनएस

05:48 PM

पतंजलि ऑनलाइन, अमेजन इंडिया, फ्लिपकार्ट, 1एमजी से करार (लीड-1)

नई दिल्ली, 16 जनवरी (आईएएनएस)। देश के एफएमसीजी (तेज खपत उपभोक्ता वस्तु) के कारोबार में अपने पदचिन्ह का विस्तार करते हुए बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि ने मंगलवार को अपना ई-कॉमर्स प्लेटफार्म लांच किया, जिसका टैगलाइन हरिद्वार टू हर द्वार रखा गया है।

साथ ही पतंजलि ने अपने उत्पादों की ऑनलाइन बिक्री के लिए प्रमुख ई-रिटेलरों और एग्रीगेटरों के साथ भागीदारी की घोषणा की है, जिसमें अमेजन इंडिया, फ्लिपकार्ट, बिग बास्केट, ग्रोफर्स, 1एमजी, नेटमेड्स, शॉपक्लूज और पेटीएम मॉल शामिल हैं।

ई-कॉमर्स प्लेटफार्म डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू डॉट पतंजलिआयुर्वेद डॉट नेट को लांच करते हुए रामदेव ने कहा कि ऑनलाइन बिक्री से अच्छा लाभ मिला है, जिससे कंपनी की बिक्री दिसंबर में 10 करोड़ रुपये का आंकड़ा पार कर गई है।

रामदेव ने लांचिंग के मौके पर कहा, हम पतंजलि उत्पादों का प्रतिदिन 10 लाख से अधिक लोगों तक डिलिवरी करने में सफल रहे हैं।

कंपनी ने अनुमान लगाया है कि उसके कुल कारोबार में ऑनलाइन बिक्री का योगदान 15 फीसदी होगा।

वाणिज्य मंत्री सुरेश प्रभु ने कंपनी को बधाई देते हुए ट्वीट किया, बधाई हो योगी श्री रामदेव, आचार्य बालकृष्ण, विजयशेखर (पेटीएम के संस्थापक) को अल्प समय में शीर्ष एफएमसीजी के रूप में उभरने के लिए बधाई। हम विश्व स्तर पर आयुर्वेद के निर्यात को बढ़ावा देंगे।

पतंजलि आयुर्वेद के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी पी. पी. आचार्य बालकृष्ण ने बताया कि विभिन्न ई-कॉमर्स कंपनियों के साथ सहयोग की नई व्यवस्था कायम की गई है। कंपनी ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचेगी, जिसमें युवा शामिल हैं, जो ऑनलाइन खरीदारी करना पसंद करते हैं।

रामदेव ने कहा कि कंपनी की सालाना उत्पादन क्षमता 50,000 करोड़ रुपये मूल्य की है।

उन्होंने कहा, हरिद्वार और तेजपुर में बड़ी इकाइयों का परिचालन जारी है, इसके अलावा नोएडा, नागपुर और इंदौर में भी इकाइयां शुरू होने जा रही हैं, जिनका काम तेजी से जारी है।

रामदेव ने कहा कि निर्यात की मांग पूरी करने के लिए कंपनी ने सौ फीसदी निर्यातोन्मुख इकाइयों की स्थापना की है, जो मिहान सेज (विशेष आर्थिक क्षेत्र) और नागपुर (महाराष्ट्र) में हैं।

कंपनी के मुताबिक, पतंजलि के स्वदेशी उत्पादों का संयुक्त अरब अमीरात, अमेरिका, कनाडा, यूरोप, दक्षिण अमेरिका, अफ्रीकी देशों को निर्यात किया जाता है।

इस भागीदारी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए अमेजन इंडिया के उपाध्यक्ष (श्रेणी प्रबंधन) मनीष तिवारी ने कहा, हम एक शानदार ऑनलाइन शॉपिंग अनुभव के साथ ग्राहकों को अनूठे उत्पाद मुहैया कराने के उद्देश्य से भारत में विकसित ब्रांडों के साथ मिलकर काम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

फ्लिपकार्ट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी कल्याण कृष्णमूर्ति ने कहा, अगले 3-4 सालों के लिए हमारे लिए एफएमसीजी और ग्रासरी मुख्य प्राथमिकता के क्षेत्र हैं। हरिद्वार से हर द्वार तक फ्लिपकार्ट के दृष्टिकोण का प्रतिनिधित्व करता है, जो कि शीर्ष गुणवत्ता के उत्पाद ग्राहकों को सर्वोत्तम मूल्य पर उपलब्ध कराना है। इसलिए इस भागीदारी से ग्राहकों को काफी फायदा होगा।

इस करार पर टिप्पणी करते हुए 1एमजी के संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रशांत टंडन ने कहा, हमारा उद्देश्य ग्राहकों को स्वस्थ और बेहतर जीवन के लिए बेहतरीन सूचनाएं, उत्पाद और सेवाएं मुहैया कराना है। देश के सबसे बड़े ई-हेल्थकेयर प्लेटफॉर्म होने के नाते हमारा विश्वास है कि पतंजलि के साथ रणनीतिक साझेदारी गुणवत्तापूर्ण आयुर्वेदिक उत्पादों और सही सूचना के प्रति ग्राहकों में जागरूकता पैदा करेगी।

उन्होंने आगे कहा, आयुर्वेद की क्षमता को जबरदस्त बढ़ावा देने वाली पतंजलि की बाजार में मजबूत स्थिति से आयुर्वेद लोगों की जीवनशैली और स्वास्थ्य का हिस्सा बन रहा है। पतंजलि परिवार में डिजिटल पार्टनर के रूप में शामिल होकर हमें बेहद खुशी हो रही है और इस क्षेत्र में साथ-साथ आगे बढ़ने की उम्मीद करते हैं।

--आईएएनएस

05:17 PM

टीसीएस ने माइक्रोसॉफ्ट अजूरे पर नया डिजिटल ग्राहकी प्लेटफार्म उतारा

नई दिल्ली, 16 जनवरी (आईएएनएस)। टाटा कंसलटेंसी सर्विसिस ने मंगलवार को डिजिटल उद्यमों के लिए माइक्रोसॉफ्ट अजूरे पर एक नया प्लेटफार्म हॉब्स (होस्टेड ओएसएस/बीएसएस) लांच करने की घोषणा की।

कंपनी ने एक बयान में कहा कि टीसीएस का क्लाउड रेडी हॉब्स प्लेटफार्म ग्राहकों को जल्दी से बाजार में अपने जाने तथा जितना उपयोग करें उतने का भुगतान करें के वाणिज्यिक मॉडल का लाभ उठाने में सक्षम करेगा।

टीसीएस के अध्यक्ष (संचार, मीडिया और इंफरेमेशन सर्विसेज (सीएमआई) व्यापार समूह) कमल भडाडा ने बताया, माइक्रोसॉफ्ट अजूरे पर टीसीएस हॉब्स की लांचिंग से संचार सेवा प्रदाताओं (सीएसपीज) और अन्य ग्राहकी आधारित उद्यम तेजी से टीसीएस हॉब्स समाधान पर वैश्विक स्तर पर लाइव हो सकते हैं।

नया प्लेटफार्म माइक्रो सर्विसिस, नेचुरल लैंगुएज प्रोसेसिंग, मशीन लर्निग और बिग डेटा का उपयोग करते हुए ऑटोमेशन, ग्राहक और कर्मचारी अनुभव को बेहतर बनाता है।

वैश्विक स्तर पर, कई सेवा प्रदाता पहले से ही अपने डिजिटल रूपांतरण के लिए टीसीएस हॉब्स प्लेटफार्म का लाभ उठा रहे हैं।

टीसीएस हॉब्स अजूरे पर बिजनेस-प्रोसेस-एज-ए-सर्विस (बीपीएएएस) के साथ ही सॉफ्टवेयर-एज-ए-सर्विस (एसएएएस) मुहैया कराता है।

माइक्रोसॉफ्ट कॉरपोरेशन के महाप्रबंधक (संचार और मीडिया) बॉब डे हेवन ने कहा, ज्यादा से ज्यादा डिजिटल उद्यमों की परिचालन लागत का अनुकूलन करने और ग्राहक अनुभव को बढ़ाने में मदद करने के लिए हम माइक्रोसॉफ्ट अजूरे पर टीसीएस हॉब्स समाधान को लेकर उत्साहित हैं।

--आईएएनएस

04:14 PM

पूरा बंगाल दिसंबर तक जियो के दायरे में : मुकेश अंबानी

कोलकाता, 16 जनवरी (आईएएनएस)। रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष मुकेश अंबानी ने मंगलवार को कहा कि जियो नेटवर्क के दायरे में पश्चिम बंगाल की 100 फीसदी आबादी इस साल दिसंबर में आ जाएगी और उन्होंने राज्य में गैर-जियो व्यापार में अगले तीन सालों में 5,000 करोड़ रुपये से अधिक के निवेश की प्रतिबद्धता जताई।

यहां बंगाल वैश्विक व्यापार सम्मेलन को संबोधित करते हुए अंबानी ने कहा कि कंपनी राज्य में इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण संयंत्र स्थापित करेगी।

उन्होंने कहा, वर्तमान में हमारे जियो नेटवर्क के दायरे में राज्य के 1,000 शहर और 39,000 गांव हैं। जियो बंगाल की 100 फीसदी आबादी तक साल 2018 के दिसंबर में पहुंच जाएगी। राज्य का हरेक 4 जी प्रौद्योगिकी के दायरे में होगा। हम ऑप्टिकल फाइबर के साथ बंगाल को जोड़ने की महत्वाकांक्षी परियोजना पर काम कर रहे हैं।

समूह राज्य के पांच जिलों में डिजिटल सेवाएं लांच करेगी, जो डिजिटल उद्यमिता को बढ़ावा देगी।

उन्होंने राज्य में इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण संयंत्र लगाने का वादा किया।

उन्होंने कहा, हम बंगाल में अगले तीन सालों में गैर-जियो कारोबार में 5,000 करोड़ रुपये निवेश के लिए प्रतिबद्ध हैं।

पश्चिम बंगाल सरकार की आर्थिक गतिविधियों और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की सराहना करते हुए अंबानी ने कहा, दीदी, आपके नेतृत्व में बंगाल सबसे अच्छा बंगाल बन रहा है।

--आईएएनएस

03:52 PM

मोदी ने इजरायली कंपनियों को मेक इन इंडिया के लिए आमंत्रित किया (राउंडअप)

नई दिल्ली, 15 जनवरी (आईएएनएस)। भारत और इजरायल ने सोमवार को आतंकवाद से साथ मिलकर लड़ने का वादा किया, क्योंकि दोनों देश कूटनीतिक संबंधों के रजत वर्ष में अपने संबंधों को व्यापक बनाने की तैयारी कर रहे हैं। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इजरायली कंपनियों को आमंत्रित करते हुए कहा कि वे भारत में रक्षा देश में उदार एफडीआई (प्रत्यक्ष विदेशी निवेश) का फायदा उठाएं और भारत में ज्यादा से ज्यादा निर्माण करें।

दोनों देशों ने मुक्त व्यापार और द्विपक्षीय निवेश संधि की आवश्यकता को रेखांकित किया।

अपने छह दिवसीय भारत दौरे के दूसरे दिन इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के नेतृत्व में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ यहां हुई प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता बाद भारत और इजरायल ने साइबर सुरक्षा, तेल व गैस क्षेत्र समेत नौ समझौतों पर हस्तक्षार किए। साइबर सुरक्षा में सहयोग के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। दूसरा समझौता ज्ञापन तेल एवं गैस क्षेत्र में भारत के पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय और इजरायल के ऊर्जा मंत्रालय के बीच हुआ।

नेतन्याहू ने अपने साझा बयान में मोदी को क्रांतिकारी नेता बताया, जिन्होंने पूरे देश को आगे ले जाने की शुरुआत की है।

मोदी ने प्रतिनिधि स्तर की वार्ता के बाद इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के साथ अपने साझा संबोधन में कहा, हम हमारे लोगों की जिंदगी को छूने वाले क्षेत्रों में सहयोग के मौजूदा स्तंभों को मजबूत करेंगे।

उन्होंने कहा, ये स्तंभ कृषि, विज्ञान, प्रौद्योगिकी और सुरक्षा हैं। हमने कृषि सहयोग में उत्कृष्टता केंद्रों का स्तर बढ़ाने पर विचार साझा किए।

प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्होंने और नेतन्याहू ने हमारे पहले के निर्णय के कार्यान्वयन के लिए हमारी उत्सुकता को साझा किया।

उन्होंने कहा, इसके परिणाम धरातल पर दिखने भी लगे हैं। हमारी आज की चर्चा हमारे संबंधों के विस्तार और साझेदारी बढ़ने का सूचक है।

मोदी ने कहा कि रक्षा क्षेत्र में उन्होंने इजरायली कंपनी को भारत में स्थानीय कंपनियों के साथ ज्यादा निर्माण करने के लिए उदार एफडीआई दौर का फायदा उठाने के लिए आमंत्रित किया है।

उन्होंने कहा, हम तेल व गैस, साइबर सुरक्षा, फिल्म और स्टार्ट-अप जैसे क्षेत्रों में पहली बार निवेश कर रहे हैं।

मोदी ने कहा, हम अपने भौगोलिक क्षेत्रों के बीच लोगों और विचारों के प्रवाह को बढ़ाना चाहते हैं। इसके लिए सरकार से परे जाकर नीति सरलीकरण, बुनियादी ढांचे और संपर्क सूत्र और समर्थन जुटाने की जरूरत है।

बाद में विदेश मंत्रालय के सचिव (आर्थिक संबंध) विजय गोखले ने कहा, दोनों देशों ने कहा कि वे आतंकवाद को किसी भी रूप में बर्दाश्त नहीं करेंगे।

यह पूछे जाने पर कि संयुक्त बयान में कहीं भी पाकिस्तान का नाम क्यों नहीं लिया गया। उन्होंने कहा कि हर बार देश का नाम लेना जरूरी नहीं है। इस मुद्दे पर विचारों में कोई अंतर नहीं था।

नेतन्याहू ने पिछले वर्ष मोदी के ऐतिहासिक इजरायल दौरे के बारे में कहा कि प्रधानमंत्री मोदी इजरायल की यात्रा करने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री थे, जिससे सभी इजरायली और निश्चित ही भारतीय मूल के कई इजरायलियों को खुशी हुई थी।

नेतन्याहू ने कहा, हमें मुंबई में हुई आतंकवादी घटना याद है। हम ऐसी घटनाओं के आगे कभी हार नहीं मानेंगे और जवाब देंगे।

उन्होंने कहा, भारत में यहूदियों को कभी भी भेद-भाव का सामना नहीं करना पड़ा। यह भारत की महान सभ्यता, सहिष्णुता और लोकतंत्र का परिचायक है।

उन्होंने कहा कि तीन चीजें भारत और इजरायल को एक साथ लाती हैं। एक दोनों के पास प्राचीन सभ्यता है, दोनों के पास जोशपूर्ण भविष्य है और दोनों भविष्य के अवसर का उपयोग करना चाहते हैं।

उन्होंने कहा, भारत और इजरायल की दोस्ती से काफी फायदा होगा।

मोदी ने प्रतिनिधि स्तर की वार्ता के बाद इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के साथ अपने साझा संबोधन में कहा, हम हमारे लोगों की जिंदगी को छूने वाले क्षेत्रों में सहयोग के मौजूदा स्तंभों को मजबूत करेंगे।

उन्होंने कहा, ये स्तंभ कृषि, विज्ञान, प्रौद्योगिकी और सुरक्षा हैं। हमने कृषि सहयोग में उत्कृष्टता केंद्रों का स्तर बढ़ाने पर विचार साझा किए।

मोदी ने कहा कि रक्षा क्षेत्र में उन्होंने इजरायली कंपनी को भारत में स्थानीय कंपनियों के साथ ज्यादा निर्माण करने के लिए उदार एफडीआई दौर का फायदा उठाने के लिए आमंत्रित किया है।

हवाई परिवहन समझौते में संशोधन पर भारत और इजरायल के बीच एक प्रोटोकॉल पर भी हस्ताक्षर किए गए। भारत और इजरायल के बीच संयुक्त रूप से फिल्म निर्माण पर भी एक समझौता हुआ।

होम्योपैथिक दवाओं में अनुसंधान के क्षेत्र में सहयोग से संबंधित एक तीसरे समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर आयुष मंत्रालय के केंद्रीय होम्योपैथी अनुसंधान परिषद और इजरायल के शारे जेडक मेडिकल सेंटर के सेंटर फॉर इंटीग्रेटेड कंप्लीमेंटरी मेडिसिन के बीच हुआ।

अंतरिक्ष क्षेत्र में सहयोग के लिए भारतीय अंतरिक्ष विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईएसटी) और टेक्नियन-इजरायल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

भारत में निवेश और इजरायल में निवेश पर एक आशय ज्ञापन पर भी हस्ताक्षर हुआ। इंडियन ऑयल और इजराइल के फिनर्जी लिमिटेड ने धातु-हवा बैटरी के क्षेत्र में सहयोग के लिए एक आशय-पत्र पर हस्ताक्षर किए।

इंडियन ऑयल और इजरायल के येदा रिसर्च एंड डेवलपमेंट कंपनी लिमिटेड के बीच एक अन्य आशय पत्र पर हस्ताक्षर सकेंद्रित सौर तापीय प्रौद्योगिकी में सहयोग के लिए किए गए।

इससे पहले सोमवार को इजरायली प्रधानमंत्री का यहां राष्ट्रपति भवन में पारंपरिक स्वागत किया गया।

130 सदस्यीय व्यापारिक प्रतिनिधिमंडल के साथ नेतन्याहू अपने छह दिवसीय भारत दौरे पर रविवार को पहुंचे। इस दौरान वह आगरा, अहमदाबाद और मुंबई जाएंगे।

किसी इजरायली प्रधानमंत्री का भारत दौरा 15 सालों बाद हो रहा है। इससे पहले 2003 में एरियल शेरॉन भारत दौरे पर आए थे।

--आईएएनएस

10:32 PM

अब गूगल ड्राइव में करें ट्रकॉलर कांटैक्स को बैकअप, रिस्टोर

नई दिल्ली, 15 जनवरी (आईएएनएस)। प्रसिद्ध संचार एप ट्रकॉलर ने सोमवार को एंड्रायड डिवाइसों के लिए ट्रकॉलर बैकअप फीचर लांच किया, जो यूजर्स को अपने कांटैक्ट्स, कॉल हिस्ट्री, ब्लॉक लिस्ट और सेटिंग्स को गूगल ड्राइव में बैकअप और रिस्टोर करने की सुविधा देता है।

कंपनी ने एक बयान में कहा, ट्रकॉलर बैकअप यूजर्स द्वारा सबसे ज्यादा अनुरोध किए जानेवाले फीचर्स में से एक है। जो यूजर्स को नया फोन या सिम कार्ड लेने पर सुरक्षित ढंग से उनके कांटैक्स और सेटिंग्स को गूगल ड्राइव में स्टोर रखता है।

फिलहाल बैकअप फाइल केवल गूगल ड्राइव के यूजर्स के लिए उपलब्ध हैं, लेकिन भविष्य में अन्य बैकअप स्टोरेज तक भी इसका विस्तार किया जाएगा।

यूजर्स बैकअप की फ्रिक्वेंसी को भी बदल सकते हैं, जिसमें डेली, वीकली, मंथली और ऑन डिमांड शामिल है।

इसके साथ एक और फीचर ट्रकॉलर कांटैक्ट्स दिया गया है, जो यूजर्स को उन कांटैक्ट्स को सर्च करने की सुविधा देता है, जिसमें उन्होंने सेव नहीं किया है, लेकिन पहले उनके साथ संवाद हुआ हो।

--आईएएनएस

09:50 PM

टीसीएस, मार्क्‍स एंड स्पेंसर को बदलेगी डिजिटल फस्र्ट में

मुंबई, 15 जनवरी (आईएएनएस)। देश की प्रमुख आईटी कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसिस (टीसीएस) ने सोमवार को कहा कि वह ब्रिटेन की प्रमुख खुदरा कंपनी मार्क्‍स एंड स्पेंसर (एमएंडएस) को डिजिटल फर्स्ट उद्यम में बदलने में मदद करेगी।

कंपनी ने यहां एक बयान में कहा, हमने एसएंडएम के साथ हमारी प्रौद्योगिकी साझेदारी का विस्तार किया है, ताकि प्रतिष्ठित खुदरा विक्रेता एक डिजिटल फर्स्ट उद्यम में बदल सके।

अपने कारोबार में बदलाव की पंचवर्षीय योजना के तहत खुदरा विक्रेता अधिक वाणिज्यिक अवसरों तक पहुंचने के लिए डिजिटल प्रौद्योगिकी का सर्वश्रेष्ठ उपयोग करेगी।

आईटी कंपनी ने एक बयान में कहा, टीसीएस खुदरा ग्राहक अनुभव को परिष्कृत करने के लिए नवाचार और दक्षता लेकर आएगी।

एमएंडएस के मुख्य कार्यकारी स्टीव रोव ने कहा, इस साझेदारी से टीसीएस की क्षमताओं को एमएंडएस में लाने और अपनी क्षमताओं का विस्तार कर हमारे व्यवसाय की वृद्धि को गति देगा।

टीसीएस के मुख्य कार्यकारी राजेश गोपीनाथन ने कहा, हम एमएंडएस को नए ग्राहकों को जोड़ने के लिए डिजिटल फर्स्ट की मानसिकता अपनाने के लिए प्रेरित करेंगे।

--आईएएनएस

08:41 PM

लालू से जेल में मिले तेजस्वी

रांची, 15 जनवरी (आईएएनएस)। बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने सोमवार को अपने पिता लालू प्रसाद से यहां केंद्रीय जेल में मुलाकात की।

लालू को चारा घोटाले में सजा सुनाए जाने के बाद तेजस्वी की उनसे यह पहली मुलाकात है।

तेजस्वी ने राष्ट्रीय जनता दल (राजद) प्रमुख लालू प्रसाद के स्वास्थ्य को लेकर चिंता जताई।

मुलाकात के बाद तेजस्वी ने मीडिया से कहा, मैं लालू जी से सिर्फ पांच मिनट के लिए मिल सका। ज्यादातर समय प्रक्रिया की औपचारिकाएं पूरी करने में बर्बाद हो गया।

उन्होंने कहा, हम उनके स्वास्थ्य को लेकर चिंतित हैं। यही वजह है कि मैं उनसे मिलने आया। उनके दिल का ऑपरेशन हुआ था। मैंने पूछताछ की कि वे समय से दवाइयां ले रहे हैं या नहीं।

राजद नेता ने यह भी कहा कि परिवार पूर्व केंद्रीय मंत्री की जमानत के लिए वकीलों से संपर्क में है।

पूर्व क्रिकेटर तेजस्वी अपने पिता से मिलने के लिए रविवार को रांची पहुंचे थे।

बहुत से राजग समर्थक बिरसा मुंडा जेल के बाहर मौजूद रहे, लेकिन सिर्फ तेजस्वी यादव को लालू प्रसाद से मिलने की इजाजत दी गई।

देवघर कोषागार से धोखाधड़ी से धन निकालने को लेकर चारा घोटाले से जुड़े दूसरे मामले में 23 दिसंबर को लालू प्रसाद को दोषी करार दिया गया गया और छह जनवरी को उन्हें साढ़े तीन साल कारावास की सजा सुनाई गई।

--आईएएनएस

08:03 PM

वीवो ने भारत में ऑनलाइन स्टोर खोला

नई दिल्ली, 15 जनवरी (आईएएनएस)। ऑनलाइन बाजार में अपनी उपस्थिति बढ़ाने के लिए चीनी स्मार्टफोन निर्माता वीवो ने सोमवार को भारत में अपना ई-स्टोर लांच किया, जो देश भर में उत्पादों और सेवाओं की आपूर्ति करेगी।

वीवो इंडिया के मुख्य विपणन अधिकारी केनी जेंग ने एक बयान में कहा, नए ई-स्टोर के साथ, वीवो के स्मार्टफोन की नवीन श्रेणी विशेष लांच ऑफर्स के साथ हमारे देश भर के ग्राहकों के लिए उपलब्ध होगा।

कंपनी ने कहा कि वीवो की नवीन श्रेणी के स्मार्टफोन देश भर के 10,000 डाक सेवा क्षेत्रों में उपलब्ध होगी।

हैंडसेट निर्माता ने यह भी घोषणा की कि लांच कार्निवल के तहत वह स्मार्टफोंस पर 16-18 जनवरी को विशेष छूट देगी।

खरीदारों को इस दौरान चुने हुए स्मार्टफोन्स पर 2,000 रुपये का डिस्काउंट कूपन, 12 महीनों का शून्य लागत ईएमई और वीवो वी7 और वी7प्लस स्मार्टफोन्स पर एक बार स्क्रीन रिप्लेसमेंट ऑफर मिलेगा।

कंपनी इसके अलावा अपना ई-स्टोर एप्लिकेशन लांच करने की योजना बना रही है, जिसमें संवर्धित वास्तविकता (एआर) समर्थित लाइव चैट का विकल्प मिलेगा, ताकि ग्राहकों को खरीद निर्णय में मदद मिले।

--आईएएनएस

07:54 PM
 रिलायंस निप्पन लाइफ एस्सेट देगी 5 फीसदी अंतरिम लाभांश

रिलायंस निप्पन लाइफ एस्सेट देगी 5 फीसदी अंतरिम लाभांश

मुंबई, 16 जनवरी (आईएएनएस)। रिलायंस निप्पन लाइफ एस्सेट मैनेजमेंट लि. ने मंगलवार को बताया कि चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में कंपनी को 130 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है और कंपनी ने शेयरधारकों को पांच रुपये प्रति शेयर लाभांश जारी करने घोषणा की है।

यहां जारी बयान में रिलांयस म्यूचुअल फंड की संपत्ति का प्रबंधन करने वाली कंपनी ने कहा है कि 31 दिसंबर, 2017 को समाप्त तिमाही में कंपनी ने 130 करोड़ रुपये का मुनाफा दर्ज किया है, जो सालाना आधार पर 25 फीसदी की बढ़ोतरी है।

समीक्षाधीन अवधि में कंपनी का राजस्व 470 करोड़ रुपये रहा, जोकि साल-दर-साल आधार पर 31 फीसदी की बढ़ोतरी है।

कंपनी के निदेशक मंडल ने पांच रुपये प्रति शेयर लाभांश जारी करने की घोषणा की है।

कंपनी के कार्यकारी निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी संदीप सिक्का के हवाले से बयान में कहा गया है, हम लाभप्रद विकास की तरफ ध्यान जारी रखेंगे और भारत आ रहे खुदरा निवेशकों और विदेशी निवेशकों से पूंजी बाजार में सबसे अधिक हिस्सा प्राप्त करेंगे।

2017 के 31 दिसंबर तक कंपनी के प्रबंधन में 3,87,871 करोड़ रुपये की परिसंपत्तियां थीं।

--आईएएनएस

09:33 PM
Stock Exchange
Live Cricket Score

Create Account



Log In Your Account