• Last Updates : 07:18 PM

विश्वविद्यालयों में रिक्तियां भरने जरूरी कदम उठा रहे : जावड़ेकर

नई दिल्ली, 18 जून (आईएएनएस)। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने सोमवार को यहां कहा कि सरकार देश भर के विश्वविद्यालयों में शिक्षकों की रिक्तियों को भरने के लिए भर्ती के तरीके को उलटने के लिए सर्वोच्च न्यायालय में याचिका दायर करने सहित सभी महत्वपूर्ण कदम उठा रही है।

पिछले चार वर्षों में अपने मंत्रालय द्वारा अर्जित उपलब्धियों पर आयोजित एक कार्यक्रम में जावड़ेकर ने कहा, हम दिल्ली विश्वविद्यालय में शिक्षकों की भर्ती के लिए आवश्यक सभी कदम उठा रहे हैं। आज (रविवार) भी मैंने दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलपति से मुलाकात कर प्रधानाचार्य के पद को तेजी से भरने पर चर्चा की है।

मंत्री ने यह भी कहा कि मंत्रालय ने सर्वोच्च न्यायालय में एक विशेष अवकाश याचिका (एसएलपी) दायर की है, जिसमें कहा गया है कि क्या भर्ती विश्वविद्यालय वार की जानी चाहिए या फिर विभाग वार।

जावड़ेकर ने कहा, हमने सर्वोच्च न्यायालय के समक्ष एक एसएलपी दायर की है, जिसपर दो जुलाई को सुनाई है, ताकि इलाहाबाद उच्च न्यायालय के आदेश को पलटा जा सके। उच्च न्यायालय ने अपने आदेश में विभाग वार भर्ती निर्धारित की थी। हम मानते हैं कि अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवारों के लिए एकमात्र तरीका विश्वविद्यालय वार भर्ती है।

भर्ती के तरीके के सवाल पर विश्वविद्यालय के शिक्षक विभाजित हैं। इनमें से कुछ का मानना है कि भर्तियां विभाग में कुल रिक्तियों के आधार पर होनी चाहिए, जबकि अन्य शिक्षक विश्वविद्यालय में कुल रिक्तियों के आधार पर इसे भरने की वकालत कर रहे हैं।

--आईएएनएस

09:57 PM

तमिल सहित 20 भाषाओं में आयोजित होगी शिक्षक पात्रता परीक्षा : जावड़ेकर

नई दिल्ली, 18 जून (आईएएनएस)। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने सोमवार को कहा कि केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सी-टेट) तमिल सहित 20 भाषाओं में आयोजित होगी।

प्रकाश जावड़ेकर ने एक ट्वीट में कहा, सी-टेट परीक्षा जैसे पहले आयोजित होती थी, उसी प्रकार सभी भारतीय भाषाओं में आयोजित होगी। मैंने पहले ही सीबीएसई को सभी 20 भाषाओं में परीक्षा का आयोजन करने का निर्देश दिया है।

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, सी-टेट परीक्षा अंग्रेजी, हिंदी, असमी, बांग्ला, गारो, गुजराती, कन्नड़, खासी, मलयालम, मणिपुरी, मराठी, मिजो, नेपाली, उड़िया, पंजाबी, संस्कृत, तमिल, तेलुगू, तिब्बती और उर्दू में आयोजित होगी।

द्रमुक नेता कनिमोझी ने ट्विटर पर ही कई अन्य भाषाओं समेत तमिल को इस परीक्षा के आयोजन से हटाने के सीबीएसई के फैसले की निंदा की।

उन्होंने कहा, सी-टेट से तमिल सहित 16 अन्य क्षेत्रीय भाषाओं को हटाने का फैसला निंदनीय और संघीय व्यवस्था की बुनियाद पर हमला है। तमिल मातृभाषा वाले सीबीएसई के विद्यार्थियों को शिक्षक के बिना बड़ी असुविधा होगी।

उन्होंने कहा, विद्यार्थियों को मातृभाषा के बदले हिंदी और संस्कृत पढ़ने को बाध्य किया जा रहा है। इससे देशभर में एक और भाषाई संघर्ष पैदा होगा। यह भाजपा की हिंदी-हिंदू-हिंदुस्तान बनाने की दूसरी कोशिश है।

सी-टेट में पास करने वाले शिक्षक ही केंद्र सरकार के स्कूलों (केंद्रीय विद्यालय, नवोदय विद्यालय, केंद्रीय तिब्बती स्कूल व अन्य) और केंद्रशासित प्रदेशों की सरकार द्वारा संचालित स्कूलों में नियुक्ति के लिए योग्य होते हैं।

--आईएएनएस

08:08 PM

राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2018 के अंत तक : जावड़ेकर

नई दिल्ली, 18 जून (आईएएनएस)। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने सोमवार को कहा कि बहुप्रतीक्षित राष्ट्रीय शिक्षा नीति का जीरो ड्राफ्ट तैयार है और 2018 के अंत तक इसे लागू किया जाएगा।

मंत्रालय के पिछले चार वर्षो की उपलब्धियों के बारे में मीडिया को संबोधित करते हुए जावड़ेकर ने कहा, इस नीति पर मसौदा तैयार है। हम इसे अंतिम रूप दे रहे हैं।

जब एक पत्रकार ने जावड़ेकर से पूछा कि क्या यह नीति 2018 के अंत तक लागू हो जाएगी तो उन्होंने कहा, बिल्कुल।

मंत्री ने कहा कि शैक्षणिक प्रणाली को मजबूत करने के लिए पिछले चार वर्षों में 33 नई पहलें की गई हैं।

उन्होंने कहा, मंत्रालय द्वारा क्रांतिकारी परिवर्तन किए गए हैं, क्योंकि यह सबको सस्ती और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है।

जावड़ेकर ने इन आरोपों को भी खारिज कर दिया कि सरकार आईआईएम और अन्य प्रतिष्ठित संस्थानों की स्वायत्तता को कम करने के लिए काम कर रही है।

उन्होंने कहा, इसके बजाय, हम उन्हें मजबूत करना चाहते हैं, क्योंकि हम उन्हें स्वायत्तता देने के लिए प्रतिबद्ध हैं। उनकी स्वायत्तता को कोई खतरा नहीं है। सवाल कानून में बदलाव लाने का है।

जावड़ेकर ने कहा कि मध्यान्ह भोजन योजना को और अधिक फंड देकर मजबूत किया जा रहा है। उन्होंने दावा किया कि चार वर्षो में शिक्षा के लिए बजट 67,000 करोड़ रुपये से बढ़कर 1,10,000 करोड़ रुपये किया गया है।

--आईएएनएस

04:19 PM

अमिश त्रिपाठी की किताब का विमोचन टला

नई दिल्ली, 18 जून (आईएएनएस)। लेखक अमिश त्रिपाठी ने अपनी आगामी किताब सुहेलदेव एंड द बैटल ऑफ बहराइच के लॉन्च को स्थगित कर दिया है।

इस किताब के प्री-ऑर्डर शुरू हो गए थे और यह किताब 16 जुलाई को रिलीज होने जा रही थी।

किताब की कहानी राजा सुखदेव के इर्द-गिर्द घूमती है, जो उत्तर प्रदेश के श्रावस्ती के राजा थे।

लेखक ने सोमवार सुबह ट्वीट कर कहा, यह बताना चाहते हैं कि स्थितियां नियंत्रण से परे हैं। सुहेलदेव एंड द बैटल ऑफ बहराइच कोी रिलीज टल गई है।

उन्होंने कहा, अगर आपके पास प्री बुकिंग प्रतियां हैं तो आपको जल्द ही रिटेलर से संदेश आ जाएगा कि किस तरह आपका पैसा रिफंड किया जाए।

--आईएएनएस

03:05 PM
Showing : 4
 गूगल ने मैप्स से उबर राइड बुक करने का फीचर हटाया

गूगल ने मैप्स से उबर राइड बुक करने का फीचर हटाया

सैन फ्रांसिस्को, 19 जून (आईएएनएस)। बताया जा रहा है कि गूगल ने अपने गूगल मैप के अंदर से उबर राइड बुक करने की सुविधा खत्म कर दी है और इसका कोई कारण नहीं बताया है।

इस फीचर को गूगल मैप में पिछले साल जनवरी में जोड़ा गया था, इसके माध्यम से यूजर्स गंतव्य की इंट्री कर उबर का किराया पता लगकार सीधे मैप एप से ही राउड बुक कर सकते थे और उन्हें मैप बंद कर उबर एप को खोलने या उबर एप को इंस्टाल रखने की जरूरत नहीं होती थी।

एंड्रायड पुलिस की सोमवार देर रात की रिपोर्ट में कहा गया कि गूगल मैप्स हेल्प पेज पर गूगल ने केवल इतना कहा है, अब आप उबर राइड्स सीधे गूगल मैप्स से बुक नहीं कर सकते हैं।

गूगल मैप्स के इस कदम से अब यूजर्स को उबर राउड बुक करने के लिए उबर एप को इंस्टाल करना पड़ेगा, जिसकी आक्रामक लोकेशन ट्रैकिंग को लेकर आलोचना होती रही है।

--आईएएनएस

07:10 PM
Stock Exchange
Live Cricket Score

Create Account



Log In Your Account