• Last Updates : 03:35 PM

मिनीषा लांबा ने थिएटर में रखा कदम, निभाए 13 किरदार

नई दिल्ली, 22 सितम्बर (आईएएनएस)। बॉलीवुड में छोटे लेकिन सफल करियर के बाद अभिनेत्री मिनीषा लांबा ने थिएटर की ओर कदम बढ़ाया है। मिनीषा ने मिरर मिरर नामक एकल नाटक किया जिसमें उन्होंने 13 किरदार निभाए।

मिरर मिरर 75 मिनट का नाटक है जो दो जुड़वां बच्चों पर आधारित है।

मिनीषा ने माना कि थिएटर की दुनिया में उनका आना ऐसे समय पर हुआ जब बहुत कुछ हो नहीं रहा था। लेकिन, थिएटर उन्हें काफी मुश्किल लग रहा था।

मिनीषा लांबा (33) ने आईएएनएस से खास बातचीत में कहा, हालांकि, यह भूमिका मेरी गोद में आकर गिरी लेकिन मैं पूरी तरह सोच में पड़ गई कि यह तो थिएटर है। तब निर्देशक सैफ हैदर हसन ने मुझे कहा कि यह अभिनय है और आप एक अभिनेत्री हैं। बस यह माध्यम अलग है।

मिनीषा ने कहा, जब सैफ सर कहानी सुना रहे थे, मुझे यह बहुत पसंद आई लेकिन काम काफी मुश्किल लगा। मैंने उसी समय यह नाटक करने का फैसला किया क्योंकि मुझे लगा कि अगर मैंने घर जाकर सोचा तो शायद मेरा मन बदल जाए।

यह पूछे जाने पर कि इन 13 किरदारों को निभाने के लिए उन्होंने कैसी तैयारी की, मिनीषा ने कहा, यह किरदार मेरे पास आर्गेनिक रूप से आए। बच्चे का किरदार निभाना आसान था क्योंकि बच्चों का व्यवहार सामान्य होता है। हालांकि, एक पुरुष की आवाज निकालना मुश्किल काम था।

इस नाटक का अधिक हिस्सा भाई-बहन की नोकझोंक पर आधारित है लेकिन इसमें यह भी दर्शाया गया है कि कैसे एक महिला के शरीर को सामाजिक व्यवस्था अपने नियंत्रण में रखती है।

मिनीषा ने कहा, मैं ऐसी कई महिलाओं को जानती हूं जो अभी बच्चे नहीं चाहतीं। वह अपने काम पर ध्यान केंद्रित करना चाहती हैं और उन्हें इसके लिए शर्मिदा होने की जरूरत नहीं।

उन्होंने कहा, मुझे नाटक की यह लाइन बहुत पसंद है कि, मुझे उम्मीद है कि कोई इसे स्वीकार करेगा, मुझे यह बच्चा नहीं चाहिए। यह लाइनें शहरों में काम कर रहीं युवा महिलाओं की भावनाओं को प्रतिबिंबित करतीं हैं।

मिनिषा से यह बातचीत हाल में मिरांडा हाउस कालेज में मिरर मिरर के मंचन से इतर हुई।

--आईएएनएस

07:40 PM

वेनेजुएला के खिलाफ सख्त कदम उठाए जाएंगे : पोम्पियो

वाशिंगटन, 22 सितंबर (आईएएनएस)। अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने चेताते हुए कहा कि ट्रंप प्रशासन आगामी दिनों में वेनेजुएला सरकार के खिलाफ सख्त कदम उठाएगा।

पोम्पियो ने फॉक्स न्यूज को दिए साक्षात्कार में कहा, मुझे लगता है कि आगामी दिनों में वेनेजुएला पर दबाव बनाने के लिए कई सख्त कदम उठाए जाएंगे।

पोम्पियो ने कहा, हम यह सुनिश्चित करने चाहते हैं कि वेनेजुएला के लोगों को अपना पक्ष रखने का मौका मिले।

यह बयान संयुक्त राष्ट्र महासभा की अगले सप्ताह न्यूयॉर्क में होने जा रही बैठक से पहले आया है।

--आईएएनएस

10:09 AM

संशय भरे आधुनिक युग में हिंदू आदर्श धर्म : थरूर (लीड-1)

न्यूयॉर्क, 21 सितंबर (आईएएनएस)। कांग्रेस सांसद व लेखक शशि थरूर के अनुसार, हिंदू एक अनोखा धर्म है और यह संशय के मौजूदा दौर के लिए अनुकूल है। थरूर ने धर्म के राजनीतिकरण की बखिया भी उधेड़ी।

न्यूयॉर्क में जयपुर साहित्य महोत्सव के एक संस्करण में के बातचीत सत्र के दौरान गुरुवार को थरूर ने कहा, हिंदूधर्म इस तथ्य पर निर्भर करता है कि कई सारी बातें ऐसी हैं जिनके बारे में हम नहीं जानते हैं।

मौजूदा दौर में इसके अनुकूल होने को लेकर उन्होंने कहा, पहली बात यह अनोखा तथ्य है कि अनिश्चितता व संशय के युग में आपके पास एक विलक्षण प्रकार का धर्म है जिसमें संशय का विशेष लाभ है।

सृजन के संबंध में उन्होंने कहा, ऋग्वेद वस्तुत: बताता है कि ब्रह्मांड की उत्पत्ति कहां से हुई, किसने आकाश और धरती सबको बनाया, शायद स्वर्ग में वह जानता हो या नहीं भी जानता हो।

उन्होंने कहा, वह धर्म जो सर्वज्ञानी सृजनकर्ता पर सवाल करता हो वह मेरे विचार से आधुनिक और उत्तर आधुनिक चैतन्य के लिए अनोखा धर्म है।

उन्होंने कहा, उससे भी बढ़कर आपके पास असाधारण दर्शनग्रहण है और चूंकि कोई नहीं जानता कि भगवान किस तरह दिखते हैं इसलिए हिंदूधर्म में हर कोई भगवान की कल्पना करने को लेकर स्वतंत्र है।

कांग्रस सांसद और व्हाइ आई एम हिंदू के लेखक ने उन लोगों का मसला उठाया जो स्त्री-द्वेष और भेदभाव आधारित धर्म की निंदा करते हैं।

मनु की आचार संहिता के बारे में उन्होंने कहा, इस बात के बहुत कम साक्ष्य हैं। क्या उसका पालन किया गया और इसके अनेक सूत्र विद्यमान हैं।

उन्होंने उपहास करते हुए कहा, इन सूत्रों में मुझे नहीं लगता कि हर हिंदू कामसूत्र की भी सलाह मानते हैं।

थरूर ने कहा, प्रत्येक स्त्री विरोधी या जातीयता कथन (हिंदू धर्मग्रंथ में) के लिए मैं आपको समान रूप से पवित्र ग्रंथ दे सकता हूं, जिसमें जातीयता के विरुद्ध उपदेश दिया गया है।

--आईएएनएस

08:50 PM

सर्जिकल स्ट्राइक दिवस मनाने से देश का मान बढ़ेगा : जावडेकर

नई दिल्ली, 21 सितम्बर (आईएएनएस)। केंद्रीय मानव संसाधन विकास (एचआरडी) मंत्री प्रकाश जावेडकर ने शुक्रवार को कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल द्वारा सर्जिकल स्ट्राइक डे मनाने को जुमला बताने की आलोचना की। उन्होंने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक दिवस मनाने से देश का मान बढ़ेगा।

प्रकाश जावडेकर ने कहा, इसका एकमात्र उद्देश्य सेना का मान बढ़ाना है। इसमें कोई राजनीति नहीं है। मैं कांग्रेस के इस आरोप की निंदा करता हूं कि हम सर्जिकल स्ट्राइक का राजनीतिकरण कर रहे हैं। नहीं, हम ऐसा नहीं कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, हम छात्रों को बता रहे हैं कि रक्षा बल किस प्रकार हमारे देश की रक्षा करते हैं। किस प्रकार उन्होंने (सैनिकों ने) 29 सितम्बर 2016 को सर्जिकल स्ट्राइक की और किस प्रकार वे जरूरत पड़ने पर नागरिक कार्य को अंजाम देते हैं।

जावडेकर ने संवाददाताओं से कहा, इसका उद्देश्य रक्षा बलों की देशभक्ति से अवगत कराकर छात्रों को प्रेरित करना है। इसमें उत्सव मनाने की कोई बाध्यता नहीं है।

कांग्रेस नेता और पूर्व एचआरडी मंत्री कपिल सिब्बल ने इससे पहले 29 सितम्बर को सर्जिकल डे के रूप में मनाने को लेकर तंज कसा था। 29 सितंबर 2016 को भारतीय सेना ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के भीतर घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया था।

सिब्बल ने शुक्रवार को ट्वीट के जरिए कहा, यूजीसी (विश्वविद्यालय अनुदान आयोग) ने सभी विश्वविद्यालयों के कुलपतियों को 29 सितंबर को सर्जिकल डे मनाने का निर्देश दिया है। क्या इसका मकसद शिक्षा देना है या भाजपा के राजनीतिक प्रयोजनों को पूरा करना है? क्या यूजीसी आठ नवंबर को गरीबों को उनकी आजीविका से वंचित करने के लिए सर्जिकल स्ट्राइक डे मनाएगा? यह एक और जुमला है।

सर्जिकल स्ट्राइक डे मनाने के फैसले की घोषणा गुरुवार को की गई जब यूजीसी ने सभी विश्वविद्यालयों के कुलपतियों को पत्र लिखकर उन्हें अपने संस्थानों में नेशनल कैडेट कोर परेड का आयोजन कर इस दिवस को मनाने का निर्देश दिया। इस अवसर पर छात्रों को पत्र और कार्ड के माध्यम से सेना को समर्थन देने का संकल्प लेने को कहा गया है।

--आईएएनएस

06:23 PM

मणिपुर विश्वविद्यालय के 80 छात्र गिरफ्तार

इंफाल, 21 सितम्बर (आईएएनएस)। मणिपुर विश्वविद्यालय के कुलपति कार्यालय से शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने शुक्रवार तड़के (आधी रात के कुछ बाद) छात्रों के छात्रावास में घुसकर विश्वविद्यालय के छह प्रोफेसरों और 80 छात्रों को गिरफ्तार कर लिया। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

पुलिस महानिरीक्षक एस.कैलुन और क्ले खोंगसाई के अनुसार, प्रभारी कुलपति के.युगींद्रो की शिकायत पर पुलिस आधी रात के बाद छात्रावास परिसर में गई। युगींद्रो ने कहा था कि उन्हें गुरुवार को प्रभार ग्रहण करने से रोका गया।

पुलिस की कार्रवाई के खिलाफ छात्रों ने जोरदार प्रदर्शन किया। झड़प के बाद पुलिस को भीड़ को तितर बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागने पड़े।

एक प्रोफेसर अमर युनान ने कहा कि कुछ छात्रों को चोटें आईं और उनका खून बह रहा था।

मणिपुर विश्वविद्यालय में बीते तीन महीनों से अशांति बनी हुई है। यहां छात्रों व शिक्षकों ने कुलपति ए.पी. पांडे को हटाने की मांग की थी।

विश्वविद्यालय को 85 दिनों तक बंद रखा गया था। यहां सितम्बर में स्थिति सामान्य तब हुई, जब एक तथ्यान्वेषी समिति को पांडे के विरुद्ध आरोपों को जांचने के लिए गठित किया गया। पांडे पर वित्तीय व प्रशासनिक अनियमितता में संलिप्त होने का आरोप है।

इन आरोपों से इनकार करने वाले पांडे को 17 सितम्बर को निलंबित कर दिया गया।

प्रभारी कुलपति युगींद्रो ने शुक्रवार को अपना प्रभार संभाला। कुछ शिक्षकों और छात्रों ने गुरुवार को उन्हें जबरदस्ती इस्तीफा देने पर मजबूर कर दिया था।

मणिपुर में अगले पांच दिनों के लिए इंटरनेट सेवा पर पाबंदी लगा दी गई है।

--आईएएनएस

04:08 PM

मैन बुकर प्राइज की 6 लोगों की सूची में चार महिलाएं शामिल

लंदन, 20 सितम्बर (आईएएनएस)। उपन्यास के लिए मैन बुकर प्राइज-2018 की गुरुवार को घोषित छह लेखकों की सूची में चार महिलाएं शामिल हैं। बुकर प्राइज के लिए घोषित इस सूची में एन्ना बर्न्‍स, एसी एड्यूग्यान, डेजी जॉनसन, रचेल कुशनर, रिचर्ड पावर्स और रॉबिन रॉबर्स्टन को शामिल किया गया है।

प्राइज के प्रायोजक मैन ग्रुप के दफ्तर में एक प्रेसवार्ता के दौरान जजों के प्रमुख क्वामी एंथोनी अप्पिया ने इस सूची की घोषणा की।

उन्होंने कहा, अंतिम सूची में शामिल हमारे सभी छह लेखकों की रचना शैली अद्भुत हैं। इनमें से हरेक में भाषा प्रमुख हैं। अन्य मामलों में भी इनकी विविधता और विषयों की बहुतायत और देश-काल की चर्चा उल्लेखनीय हैं।

सूची में चार महिलाएं और दो पुरुषों को शामिल किया गया है।

मैन बुकर प्राइज के लिए अंग्रेजी में लिखने वाले किसी भी देश के लेखक को शामिल किया जाता है जिनकी रचना यूके और आयरलैंड में प्रकाशित हुई हों। बुकर प्राइज-2018 के विजेता की घोषणा 16 अक्टूबर को लंदन के गिल्डहॉल में की जाएगी।

--आईएएनएस

10:41 PM

अंग्रेजी से दुश्मनी की जरूरत नहीं : भागवत

नई दिल्ली, 19 सितम्बर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत ने बुधवार को यहां कहा कि लोगों को स्थानीय भाषा को महत्व देने के लिए अंग्रेजी भाषा से दुश्मनी करने की कोई जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि अंग्रेजी की श्रेष्ठता का विचार सिर्फ उनके दिमाग में है।

यहां विज्ञान भवन में भविष्य का भारत : आरएसएस का एक दृष्टिकोण सम्मेलन के अंतिम दिन एक प्रश्न के जवाब में भागवत ने कहा, दैनिक कार्यो में अंग्रेजी का वर्चस्व नहीं है, इसका वर्चस्व हमारे दिमाग में है। हमें अपनी मातृभाषा का सम्मान करना शुरू करना होगा।

उन्होंने कहा, सभी को अपनी भाषा में प्रवीणता लानी चाहिए। हमें किसी भाषा से दुश्मनी करने की जरूरत नहीं है।

आरएसएस प्रमुख ने कहा कि लोगों को अंग्रेजी भाषा को त्यागने की जरूरत नहीं है, बल्कि दिमाग में जो इसका पागलपन भरा है, उसे मिटाने की जरूरत है।

उन्होंने कहा, अंग्रेजी को हटाने की कोई जरूरत नहीं है, इसे वहीं रहने दो जहां वह अभी है। हमें अंग्रेजी का पागल हटाने की जरूरत है, जो हमारे दिमाग में है। एक अंतर्राष्ट्रीय भाषा के रूप में इसकी प्रतिष्ठा को बहुत बढ़ा-चढ़ा कर पेश किया गया है.. यहां तक कि अमेरिकी भी अंग्रेजी बोलते हैं, लेकिन वे अंग्रेजी भाषा के अपने ब्रांड पर जोर देते हैं। फ्रांस के लोग फ्रेंच बोलते हैं। अगर आप इजरायल जाएं तो आपको हिब्रू सीखनी पड़ेगी। रूस जाने से पहले आपको रूसी भाषा सीखनी पड़ेगी।

उन्होंने लोगों को कम से कम एक भारतीय भाषा सीखने की सलाह दी तथा हिंदी को राष्ट्रीय भाषा बनाने के लिए कानून लाने की बात को खारिज कर दिया।

भागवत ने कहा, अन्य भाषाओं पर एक भाषा लागू करना कड़वाहट पैदा करता है.. लेकिन जल्द ही एक मात्र राष्ट्रीय भाषा होगी और सभी प्रशासनिक कार्य उसी भाषा में होंगे।

राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर उन्होंने कहा कि यह व्यापक रूप से भारतीय परंपरा और आधुनिक शिक्षा पद्धतियों के उपयोगी तत्वों पर आधारित होनी चाहिए।

उन्होंने शिक्षा की वर्तमान स्थिति पर खेद व्यक्त किया और महज डिग्री लेने की अपेक्षा व्यावसायिक शिक्षा में निपुणता पर जोर दिया।

उन्होंने यह भी माना कि देश में अनुसंधान का स्तर कम है।

--आईएएनएस

10:30 PM

सुदर्शन पटनायक ओडिशा ललित कला अकादमी के अध्यक्ष नियुक्त

भुवनेश्वर, 19 सितम्बर (आईएएनएस)। मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने ओडिशा ललित कला अकादमी के अध्यक्ष पद पर पद्मश्री सुदर्शन पटनायक की बुधवार को नियुक्त की।

ओडिशा ललित कला अकादमी राज्य में पेंटिंग, शिल्पकला, वास्तुकला एवं अन्य अप्लाईड आर्ट की सर्वोच्च संस्था है।

--आईएएनएस

09:50 PM
Showing : 8
 इन्फोसिस डिजाइन करेगी जीएसटी रिटर्न का नया फॉर्म

इन्फोसिस डिजाइन करेगी जीएसटी रिटर्न का नया फॉर्म

बेंगलुरु, 22 सितम्बर (आईएएनएस)। वस्तु एवं सेवा कर नेटवर्क (जीएसटीएन) के तकनीकी मामलों की समीक्षा के लिए गठित मंत्री समूह के प्रमुख सुशील कुमार मोदी ने शनिवार को कहा कि जीएसटी ने अपने सॉफ्टवेयर वेंडर (प्रदाता) इन्फोसिस को व्यापारियों द्वारा रिटर्न दाखिल करने के लिए नया फॉर्म डिजाइन करने का निर्देश दिया है।

नेटवर्क की कार्यप्रणाली की समीक्षा के लिए हुई मंत्रिसमूह की 10वीं बैठक के बाद सुशील कुमार मोदी ने यहां संवाददाताओं को बताया, हमने जीएसटी परिषद के सुझाव के अनुसार नेटवर्क पर व्यापारियों द्वारा रिटर्न दाखिल करने को सरल बनाने के लिए इन्फोसिस को नया फॉर्म डिजाइन करने का निर्देश दिया है।

बिहार के उपमुख्यमंत्री और मंत्रिसमूह के प्रमुख मोदी ने कहा, हमने अगले चार से छह महीने में नया सरलीकृत जीएसटी फार्म लागू करने की योजना बनाई है जिससे डीलर या व्यापारी को नेटवर्क के माध्यम से अप्रत्यक्ष कर का भुगतान करने में लाभ मिलेगा।

मंत्रिसमूह ने छोटे करदाताओं के लिए यूनीफॉर्म अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर विकसित करने के लिए देशभर से 18 कंपनियों को चिन्हित किया।

मोदी ने कहा, जीएसटी रिटर्न दाखिल करने में समानता सुनिश्चित करने के लिए सभी छोटे व्यापारियों को नया सॉफ्टवेयर प्रदान किया जाएगा।

जीएसटी परिषद ने जैसाकि फैसला लिया है कि ई-कॉमर्स कंपनियां एक अक्टूबर से प्रभावी स्रोत पर कर कटौती (टीडीएस) और स्रोत पर संग्रहित कर (टीसीएस) का भुगतान करेंगी।

केंद्र सरकार ने 13 सितंबर को केंद्रीय जीएसटी (सीजीएसटी) अधिनियम की धारा 52 के तहत टीडीएस और टीसीएस के प्रावधानों को लागू करने के लिए एक अक्टूबर की तारीख अधिसूचित की थी।

ई-कॉमर्स कंपनियों को 2.5 लाख रुपये से अधिक की अंतर्राज्यीय आपूर्ति पर एक फीसदी तक राज्य जीएसटी और एक फीसदी केंद्रीय जीएसटी के लिए टीडीएस कटौती करनी है।

वहीं, 2.5 लाख रुपये से अधिक की अंतर्राज्यीय आपूर्ति पर दो फीसदी समेकित जीएसटी की कटौती की जाएगी।

--आईएएनएस

10:55 PM
Stock Exchange
Live Cricket Score

Create Account



Log In Your Account