• Last Updates : 04:02 PM
Last Updated At :- 23-09-2018 06:44 PM

पेट्रोल के दाम में वृद्धि जारी

नई दिल्ली, 22 सितम्बर (आईएएनएस)। पेट्रोल के दाम में शनिवार को लगातार तीसरे दिन वृद्धि जारी रही, जबकि डीजल की कीमत स्थिर रही।

दिल्ली में पेट्रोल के दाम में 12 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी दर्ज की गई, जबकि मुंबई में 11 पैसे प्रति लीटर का इजाफा हुआ।

दिल्ली और मुंबई में शनिवार को पेट्रोल की कीमतें क्रमश: 82.44 रुपये प्रति लीटर और 89.80 रुपये प्रति लीटर थीं। कोलकाता और चेन्नई में पेट्रोल क्रमश: 84.27 रुपये और 85.69 रुपये प्रति लीटर बिका।

दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में डीजल की कीमतें क्रमश: 73.87 रुपये, 75.72 रुपये, 78.42 रुपये और 78.10 रुपये प्रति लीटर रहीं। डीजल की कीमतों में लगातार तीसरे दिन स्थिरता बनी रही।

भारत में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कमी या वृद्धि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में तेजी या मंदी से प्रेरित होती है। विगत कुछ दिनों से अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल में तेजी का रुख बना रहा है।

इस सप्ताह के अंतिम कारोबारी दिन शुक्रवार को अंतर्राष्ट्रीय वायदा बाजार आईसीई पर ब्रेंट क्रूड के नवंबर सौदे में 80.12 डॉलर प्रति बैरल तक का उछाल देखा गया, जबकि सौदा 78.68 डॉलर प्रति बैरल पर बंद हुआ। वहीं नायमैक्स पर अमेरिकी लाइट क्रूड डब्ल्यूटीआई 71.78 डॉलर प्रति बैरल से फिसलने के बाद 0.57 फीसदी की बढ़त के साथ 70.72 डॉलर प्रति बैरल पर बंद हुआ।

भारतीय वायदा बाजार मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज पर कच्चे तेल का अक्टूबर डिलीवरी वायदा शुक्रवार को 5,195 रुपये प्रति बैरल तक उछला और कारोबार के अंत में 71 रुपये की बढ़त के साथ 5,134 रुपये प्रति बैरल पर बंद हुआ।

 इन्फोसिस डिजाइन करेगी जीएसटी रिटर्न का नया फॉर्म

इन्फोसिस डिजाइन करेगी जीएसटी रिटर्न का नया फॉर्म

बेंगलुरु, 22 सितम्बर (आईएएनएस)। वस्तु एवं सेवा कर नेटवर्क (जीएसटीएन) के तकनीकी मामलों की समीक्षा के लिए गठित मंत्री समूह के प्रमुख सुशील कुमार मोदी ने शनिवार को कहा कि जीएसटी ने अपने सॉफ्टवेयर वेंडर (प्रदाता) इन्फोसिस को व्यापारियों द्वारा रिटर्न दाखिल करने के लिए नया फॉर्म डिजाइन करने का निर्देश दिया है।

नेटवर्क की कार्यप्रणाली की समीक्षा के लिए हुई मंत्रिसमूह की 10वीं बैठक के बाद सुशील कुमार मोदी ने यहां संवाददाताओं को बताया, हमने जीएसटी परिषद के सुझाव के अनुसार नेटवर्क पर व्यापारियों द्वारा रिटर्न दाखिल करने को सरल बनाने के लिए इन्फोसिस को नया फॉर्म डिजाइन करने का निर्देश दिया है।

बिहार के उपमुख्यमंत्री और मंत्रिसमूह के प्रमुख मोदी ने कहा, हमने अगले चार से छह महीने में नया सरलीकृत जीएसटी फार्म लागू करने की योजना बनाई है जिससे डीलर या व्यापारी को नेटवर्क के माध्यम से अप्रत्यक्ष कर का भुगतान करने में लाभ मिलेगा।

मंत्रिसमूह ने छोटे करदाताओं के लिए यूनीफॉर्म अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर विकसित करने के लिए देशभर से 18 कंपनियों को चिन्हित किया।

मोदी ने कहा, जीएसटी रिटर्न दाखिल करने में समानता सुनिश्चित करने के लिए सभी छोटे व्यापारियों को नया सॉफ्टवेयर प्रदान किया जाएगा।

जीएसटी परिषद ने जैसाकि फैसला लिया है कि ई-कॉमर्स कंपनियां एक अक्टूबर से प्रभावी स्रोत पर कर कटौती (टीडीएस) और स्रोत पर संग्रहित कर (टीसीएस) का भुगतान करेंगी।

केंद्र सरकार ने 13 सितंबर को केंद्रीय जीएसटी (सीजीएसटी) अधिनियम की धारा 52 के तहत टीडीएस और टीसीएस के प्रावधानों को लागू करने के लिए एक अक्टूबर की तारीख अधिसूचित की थी।

ई-कॉमर्स कंपनियों को 2.5 लाख रुपये से अधिक की अंतर्राज्यीय आपूर्ति पर एक फीसदी तक राज्य जीएसटी और एक फीसदी केंद्रीय जीएसटी के लिए टीडीएस कटौती करनी है।

वहीं, 2.5 लाख रुपये से अधिक की अंतर्राज्यीय आपूर्ति पर दो फीसदी समेकित जीएसटी की कटौती की जाएगी।

--आईएएनएस

10:55 PM
Stock Exchange
Live Cricket Score

Create Account



Log In Your Account