• Last Updates : 09:33 PM
Last Updated At :- 16-01-2018 05:17 PM

पतंजलि ऑनलाइन, अमेजन इंडिया, फ्लिपकार्ट, 1एमजी से करार (लीड-1)

नई दिल्ली, 16 जनवरी (आईएएनएस)। देश के एफएमसीजी (तेज खपत उपभोक्ता वस्तु) के कारोबार में अपने पदचिन्ह का विस्तार करते हुए बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि ने मंगलवार को अपना ई-कॉमर्स प्लेटफार्म लांच किया, जिसका टैगलाइन हरिद्वार टू हर द्वार रखा गया है।

साथ ही पतंजलि ने अपने उत्पादों की ऑनलाइन बिक्री के लिए प्रमुख ई-रिटेलरों और एग्रीगेटरों के साथ भागीदारी की घोषणा की है, जिसमें अमेजन इंडिया, फ्लिपकार्ट, बिग बास्केट, ग्रोफर्स, 1एमजी, नेटमेड्स, शॉपक्लूज और पेटीएम मॉल शामिल हैं।

ई-कॉमर्स प्लेटफार्म डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू डॉट पतंजलिआयुर्वेद डॉट नेट को लांच करते हुए रामदेव ने कहा कि ऑनलाइन बिक्री से अच्छा लाभ मिला है, जिससे कंपनी की बिक्री दिसंबर में 10 करोड़ रुपये का आंकड़ा पार कर गई है।

रामदेव ने लांचिंग के मौके पर कहा, हम पतंजलि उत्पादों का प्रतिदिन 10 लाख से अधिक लोगों तक डिलिवरी करने में सफल रहे हैं।

कंपनी ने अनुमान लगाया है कि उसके कुल कारोबार में ऑनलाइन बिक्री का योगदान 15 फीसदी होगा।

वाणिज्य मंत्री सुरेश प्रभु ने कंपनी को बधाई देते हुए ट्वीट किया, बधाई हो योगी श्री रामदेव, आचार्य बालकृष्ण, विजयशेखर (पेटीएम के संस्थापक) को अल्प समय में शीर्ष एफएमसीजी के रूप में उभरने के लिए बधाई। हम विश्व स्तर पर आयुर्वेद के निर्यात को बढ़ावा देंगे।

पतंजलि आयुर्वेद के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी पी. पी. आचार्य बालकृष्ण ने बताया कि विभिन्न ई-कॉमर्स कंपनियों के साथ सहयोग की नई व्यवस्था कायम की गई है। कंपनी ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचेगी, जिसमें युवा शामिल हैं, जो ऑनलाइन खरीदारी करना पसंद करते हैं।

रामदेव ने कहा कि कंपनी की सालाना उत्पादन क्षमता 50,000 करोड़ रुपये मूल्य की है।

उन्होंने कहा, हरिद्वार और तेजपुर में बड़ी इकाइयों का परिचालन जारी है, इसके अलावा नोएडा, नागपुर और इंदौर में भी इकाइयां शुरू होने जा रही हैं, जिनका काम तेजी से जारी है।

रामदेव ने कहा कि निर्यात की मांग पूरी करने के लिए कंपनी ने सौ फीसदी निर्यातोन्मुख इकाइयों की स्थापना की है, जो मिहान सेज (विशेष आर्थिक क्षेत्र) और नागपुर (महाराष्ट्र) में हैं।

कंपनी के मुताबिक, पतंजलि के स्वदेशी उत्पादों का संयुक्त अरब अमीरात, अमेरिका, कनाडा, यूरोप, दक्षिण अमेरिका, अफ्रीकी देशों को निर्यात किया जाता है।

इस भागीदारी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए अमेजन इंडिया के उपाध्यक्ष (श्रेणी प्रबंधन) मनीष तिवारी ने कहा, हम एक शानदार ऑनलाइन शॉपिंग अनुभव के साथ ग्राहकों को अनूठे उत्पाद मुहैया कराने के उद्देश्य से भारत में विकसित ब्रांडों के साथ मिलकर काम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

फ्लिपकार्ट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी कल्याण कृष्णमूर्ति ने कहा, अगले 3-4 सालों के लिए हमारे लिए एफएमसीजी और ग्रासरी मुख्य प्राथमिकता के क्षेत्र हैं। हरिद्वार से हर द्वार तक फ्लिपकार्ट के दृष्टिकोण का प्रतिनिधित्व करता है, जो कि शीर्ष गुणवत्ता के उत्पाद ग्राहकों को सर्वोत्तम मूल्य पर उपलब्ध कराना है। इसलिए इस भागीदारी से ग्राहकों को काफी फायदा होगा।

इस करार पर टिप्पणी करते हुए 1एमजी के संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रशांत टंडन ने कहा, हमारा उद्देश्य ग्राहकों को स्वस्थ और बेहतर जीवन के लिए बेहतरीन सूचनाएं, उत्पाद और सेवाएं मुहैया कराना है। देश के सबसे बड़े ई-हेल्थकेयर प्लेटफॉर्म होने के नाते हमारा विश्वास है कि पतंजलि के साथ रणनीतिक साझेदारी गुणवत्तापूर्ण आयुर्वेदिक उत्पादों और सही सूचना के प्रति ग्राहकों में जागरूकता पैदा करेगी।

उन्होंने आगे कहा, आयुर्वेद की क्षमता को जबरदस्त बढ़ावा देने वाली पतंजलि की बाजार में मजबूत स्थिति से आयुर्वेद लोगों की जीवनशैली और स्वास्थ्य का हिस्सा बन रहा है। पतंजलि परिवार में डिजिटल पार्टनर के रूप में शामिल होकर हमें बेहद खुशी हो रही है और इस क्षेत्र में साथ-साथ आगे बढ़ने की उम्मीद करते हैं।

 रिलायंस निप्पन लाइफ एस्सेट देगी 5 फीसदी अंतरिम लाभांश

रिलायंस निप्पन लाइफ एस्सेट देगी 5 फीसदी अंतरिम लाभांश

मुंबई, 16 जनवरी (आईएएनएस)। रिलायंस निप्पन लाइफ एस्सेट मैनेजमेंट लि. ने मंगलवार को बताया कि चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में कंपनी को 130 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है और कंपनी ने शेयरधारकों को पांच रुपये प्रति शेयर लाभांश जारी करने घोषणा की है।

यहां जारी बयान में रिलांयस म्यूचुअल फंड की संपत्ति का प्रबंधन करने वाली कंपनी ने कहा है कि 31 दिसंबर, 2017 को समाप्त तिमाही में कंपनी ने 130 करोड़ रुपये का मुनाफा दर्ज किया है, जो सालाना आधार पर 25 फीसदी की बढ़ोतरी है।

समीक्षाधीन अवधि में कंपनी का राजस्व 470 करोड़ रुपये रहा, जोकि साल-दर-साल आधार पर 31 फीसदी की बढ़ोतरी है।

कंपनी के निदेशक मंडल ने पांच रुपये प्रति शेयर लाभांश जारी करने की घोषणा की है।

कंपनी के कार्यकारी निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी संदीप सिक्का के हवाले से बयान में कहा गया है, हम लाभप्रद विकास की तरफ ध्यान जारी रखेंगे और भारत आ रहे खुदरा निवेशकों और विदेशी निवेशकों से पूंजी बाजार में सबसे अधिक हिस्सा प्राप्त करेंगे।

2017 के 31 दिसंबर तक कंपनी के प्रबंधन में 3,87,871 करोड़ रुपये की परिसंपत्तियां थीं।

--आईएएनएस

09:33 PM
Stock Exchange
Live Cricket Score

Create Account



Log In Your Account